मंत्री की महाराणा प्रताप पर विवादित टिप्पणी से मचा बवाल, कांग्रेस MLC की चेतावनी के बाद सोशल मीडिया पर दी सफाई

उत्‍तर प्रदेश के राज्यमंत्री सुरेश पासी.

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार में मंत्री और जगदीशपुर विधानसभा क्षेत्र से विधायक सुरेश पासी (Suresh Passi) विवादों में घिर गए हैं और पूरा विवाद सड़क पर लगे एक बोर्ड के चलते हो रहा है.

  • Share this:
अमेठी. उत्तर प्रदेश के अमेठी जिले में महाराणा प्रताप (Maharana Pratap) पर टिप्पणी का मामला सामने आया है. दरअसल, अमेठी में नेशनल हाईवे पर बने वेलकम गेट पर लिखे गए एक वाक्य को लेकर ये विवाद है. सम्राट महाराणा प्रताप वेलकम गेट पर लिखा गया कि समय इतना बलवान होता है कि राजा को भी घास की रोटी खिला सकता है. वेलकम द्वार में एक तरफ सूबे के राज्यमंत्री सुरेश पासी (Suresh Passi) की फोटी है, तो दूसरी तरफ महाराणा प्रताप की. जबकि इसी वेलकम द्वार को लेकर मंत्री विवादों में घिर गए. विवादित टिप्पणी वाला बोर्ड लगाने पर कांग्रेस एमएलसी ने आपत्ति की, जिसके बाद प्रशासन ने तत्काल बोर्ड को हटवा दिया.

मंत्री ने सोशल मीडिया पर लिखा , 'भाई साहब मिस प्रिंट हो गया है सही हो जाएगा'
उत्तर प्रदेश की योगी सरकार में मंत्री और जगदीशपुर विधानसभा क्षेत्र से विधायक सुरेश पासी विवादों में घिर गए हैं और पूरा विवाद सड़क पर लगे एक बोर्ड के चलते हो रहा है. इसको लेकर क्षेत्र के लोगों में आक्रोश भी है. बुधवार देर शाम से ही सोशल मीडिया पर सड़क पर लगे बोर्ड को शेयर किया जा रहा है. राज्यमंत्री सुरेश पासी ने जगदीशपुर के जाफरगंज बाईपास पर महाराणा प्रताप पर टिप्पणी करने वाला एक बोर्ड लगाया था, जिसके बाद कांग्रेस MLC दीपक सिंह ने अमेठी जिलाधिकारी को पत्र लिखकर पूरे मामले की शिकायत की और अल्टीमेटम दिया. विवाद बढ़ने के बाद प्रशासन ने इस बोर्ड को तत्काल हटा दिया है. हालांकि इस पूरे मामले को लेकर मंत्री सुरेश पासी ने बुधवार को ही सोशल मीडिया पर लिखा कि भाई साहब मिस प्रिंट हो गया है सही हो जाएगा.

कांग्रेस MLC ने जिला प्रशासन को दिया अल्टीमेटम
सड़क पर लगे बोर्ड पर लिखे गए शब्द को लेकर पूरा विवाद था. आपको बता दें कि सम्राट महाराणा प्रताप वेलकम द्वार पर मंत्री सुरेश पासी ने एक बोर्ड लगवाया, जिस पर लिखा था 'समय इतना बलवान होता है कि एक राजा को भी घास की रोटी खिला सकता है. बोर्ड पर लिखी गई इस लाइन पर पूरा विवाद हो रहा है. जिले में क्षत्रिय समाज ने इसे आपत्तिजनक बताते हुए इसे तत्काल हटाने की मांग की, तो कांग्रेस एमएलसी दीपक सिंह ने भी विरोध करते हुए डीएम अमेठी को पत्र लिखकर कार्यवाई की मांग कर डाली.

स्वाभिमान के कारण महाराण प्रताप राणा ने खाई घास की रोटी
दीपक सिंह ने कहा कि 'गंदी विचारधारा वाले' शौर्य, पराक्रम और वीरता की पहचान महाराणा प्रताप ने समय बलवान होने के कारण नहीं बल्कि स्वाभिमान के कारण घास की रोटी खाई थी. मंत्री सुरेश पासी ने जो बोर्ड लगवाया उससे हमारे गौरवशाली इतिहास का अपमान हुआ है. ये बोर्ड उस विचारधारा की गंदी सोच का परिणाम है, जिन्होंने लिखित माफी मांगकर अंग्रेजों की अधीनता स्वीकार कर ली थी. कांग्रेस एमएलसी दीपक सिंह ने अल्टीमेटम दिया और पत्र लिखा कि मंत्री की विचारधारा उन लोगों की है जो अभी तक कांग्रेस के महापुरुषों का अपमान करती थी. अमेठी में कीचड़ से अनाज की बात कहकर अपमानित करती थी. अब उनकी विचारधारा इतना नीचे गिर गई है. महाराणा प्रताप का ऐसा अपमान अब बर्दाश्त नहीं होगा. सिंह ने डीएम को अल्टीमेटम दिया कि अगर तत्काल इस बोर्ड को नहीं हटाया गया तो वह स्वंय जाकर इसे हटा देंगे, जिसके बाद अमेठी प्रशासन ने अब बोर्ड को हटवा दिया गया है.

ये भी पढ़ें

COVID-19 Update: UP में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा पहुंचा 9237, अब तक 245 की मौत


 

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.