UP Panchayat Chunav: अमेठी में BDC प्रत्याशी को धमकी पर पहले सुलहनामा फिर FIR, अब मिला गनर

अमेठी में एक बीडीसी प्रत्याशी को जान से मारने की धमकी देने का मामला सामने आया है.

अमेठी में एक बीडीसी प्रत्याशी को जान से मारने की धमकी देने का मामला सामने आया है.

Amethi News: उत्तर प्रदेश के अमेठी में एक बीडीसी प्रत्याशी को पंचायत चुनाव (Panchayat Election) लड़ने पर जान से मारने की धमकी दी गई. मामले में पहले पुलिस ने सुलहनामा करा दिया, वहीं जब मामला आलाधिकारियों तक पहुंचा तो एफआईआर लिखने के साथ ही प्रत्याशी को गनर भी मोहैया कराया गया.

  • Share this:
अमेठी. उत्तर प्रदेश के अमेठी (Amethi) जिले के रामगंज थाना क्षेत्र में 12 मार्च को बीडीसी प्रत्याशी संजय गुप्ता को कथित रूप से फोन पर दी गई. धमकी का ऑडियो सोशल मीडिया पर वायरल (Audio Viral) होने के मामले में पहले तो पुलिस ने दोनों पक्षों के बीच सुलहनामा कराया. फिर उच्चाधिकारियों की दखल पर बीडीसी प्रत्याशी से तहरीर लेकर आरोपी के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कर लिया. अब पीड़ित को दो गनर की सुरक्षा उपलब्ध करा दिया है.

दरअसल 12 मार्च को अमेठी में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में बीडीसी प्रत्याशी का एक ऑडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था. जिसमें एक व्यक्ति फोन पर बीडीसी पद के प्रत्याशी को चुनाव लड़ने पर जान से मारने की धमकी दे रहा था. ऑडियो वायरल होने के बाद पुलिस ने जांच की तो पूरा मामला रामगंज थानाक्षेत्र के त्रिसुंडी गांव का निकला. पुलिस ने दोनों पक्षों को ढूंढ़ निकाला. 13 मार्च को दोनों पक्षों ने गवाहों की मौजूदगी में थाने में लिखित सुलहनामा किया. इसमें बीडीसी प्रत्याशी संजय गुप्ता ने कहा कि वो दूसरे पक्ष के यहां काम करता है और उन्हीं के साथ रहता है. वो लोग आपस में हंसी मजाक में एक-दूसरे से गाली देकर बात करते हैं. सुलहनामा के बाद पुलिस ने प्रकरण समाप्त कर दिया.

Youtube Video


अमेठी में वायरल ऑडियो का उच्चस्तरीय अधिकारी ने लिया संज्ञान
मामले में दोनों पक्षों ने भले ही सुलह-समझौता कर लिया था लेकिन दो दिन बाद ही वायरल ऑडियो जोन स्तरीय पुलिस अधिकारियों के पास पहुंच गया. जहां से पुलिस को मामले में मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई करने का निर्देश दिया गया. 15 मार्च की शाम पुलिस ने संजय गुप्ता की तहरीर पर त्रिसुंडी निवासी रजनीश सिंह उर्फ बंटी के विरुद्ध धारा 504, 506 व 507 के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया.

प्रत्याशी को दो गनर दिए गए हैं: सीओ

पूरे मामले पर क्षेत्राधिकारी अर्पित कपूर ने बताया कि दोनों पक्षों ने आपस मे सुलहनामा कर लिया था लेकिन सुलहनामा से बीडीसी प्रत्याशी संजय गुप्ता संतुष्ट नहीं था. जिससे उसकी तहरीर पर आरोपी के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कर जांच की जा रही है. सुरक्षा के दृष्टिगत संजय गुप्ता को दो गनर दिए गए हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज