लाइव टीवी

BHU में बोले Amit Shah ‘कब तक हम वामपंथियों-इतिहासकारों को गाली और दोष देंगे’  

News18Hindi
Updated: October 17, 2019, 8:29 PM IST
BHU में बोले Amit Shah ‘कब तक हम वामपंथियों-इतिहासकारों को गाली और दोष देंगे’  
क्या हमारे देश के इतिहासकार 200 व्यक्तित्व और 25 साम्राज्य को इतिहास का हिस्सा नहीं बना सकते हैं?

अमित शाह (Amit Shah) गुरुवार को बनारस हिन्दू विश्वविद्वालय (BHU) के समारोह में छात्रों को संबोधित कर रहे थे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 17, 2019, 8:29 PM IST
  • Share this:
वाराणसी. BHU में बोले Amit Shah ‘कब तक हम वामपंथियों-इतिहासकारों को गाली और दोष देंगे’  हमें अंग्रेज, वामपंथी और मुगलकालीन इतिहासकारों को दोष देना बंद कर देना चाहिए. इतिहास लेखन में अपनी मेहनत करने की दिशा को केंद्रित करना होगा. अपने इतिहास के पुनर्लेखन की जिम्मेदारी देश के विद्वानों और जनता की है. क्या हमारे देश के इतिहासकार 200 व्यक्तित्व और 25 साम्राज्य को इतिहास का हिस्सा नहीं बना सकते हैं? हम कब तक दूसरों को कोसते रहेंगे?’ ये कहना है केन्द्रीय गृहमंत्री अमित शाह का.

‘सावरक नहीं होते तो अंग्रेजों के इतिहास को सच मानते’

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने कहा कि 1857 क्रांति को वीर सावरकर ने पहला स्वतंत्रता संग्राम का नाम न दिया होता, तो आज हम उसे विपल्व के नाम से जानते. सावरकर के कारण ही यह क्रांति इतिहास का हिस्सा बन पाई. नहीं तो हम अंग्रेजों द्वारा लिखे गए इतिहास को ही सत्य मानते. उन्होंने कहा कि चंद्रगुप्त विक्रमादित्य को इतिहास में बहुत प्रसिद्धि मिली है, लेकिन सम्राट स्कंदगुप्त के साथ इतिहास में अन्याय हुआ है. उनके पराक्रम की जितनी प्रसंशा होनी चाहिए थी, उतनी शायद नहीं हुई है. इसी कालखंड में देश में शाकुन्तलम, पंचतंत्र जैसे अनेक उत्कृष्ट साहित्यों की रचना हुई थी.

 ‘चंद्रगुप्त और स्कंदगुप्त की परंपरा को आगे बढ़ा रहे’

बीएचयू के समारोह में यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने भी भाग लिया. समारोह को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि चंद्रगुप्त विक्रमादित्य और स्कंदगुप्त की परम्परा को आगे बढ़ाने का कार्य प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह ने किया है. पिछले 2 हजार वर्षों से भारत के इतिहास को तोड़-मरोड़ कर प्रस्तुत किया गया है.

ये भी पढ़ें-

सीएम योगी का दीवाली तोहफा, देश में बनने वाली तोप पर यूपी के इस जिले का लिखा जाएगा नाम
Loading...

पिता केजरीवाल को दोबारा सीएम बनाने का जिम्मा लेने वाली हर्षिता के बारे में क्या ये बात जानते हैं आप

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए वाराणसी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 17, 2019, 5:51 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...