Corona से लड़ाई में AMU के पूर्व छात्रों ने दिया करोड़ों रुपये का चंदा, पीएम केयर्स फंड से भी मिलेगा पैसा

आज अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (AMU) के पूर्व छात्रों ने मेडिकल कॉलेज को कोरोना से लड़ने के लिए करोड़ों रुपये दान दिए हैं. 
(फाइल फोटो)

आज अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (AMU) के पूर्व छात्रों ने मेडिकल कॉलेज को कोरोना से लड़ने के लिए करोड़ों रुपये दान दिए हैं. (फाइल फोटो)

पीएम केयर्स फंड (PM Cares Fund) से भी मेडिकल कॉलेज को ऑक्सीजन प्लांट (Oxygen Pland) के लिए बजट जारी किया जा रहा है.

  • Share this:

अलीगढ़. अप्रैल और मई में कोरोना (Corona) महामारी ने अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (AMU) को भी नहीं बख्शा था. एएमयू के और उसके जवाहरलाल नेहरू मेडिकल कॉलेज (JN Medical College) के बहुत सारे टीचर कोरोना का शिकार होकर इस दुनिया को छोड़ गए. यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने भी मेडिकल कॉलेज का दौरा किया था. शायद इसी के चलते एएमयू के पूर्व छात्रों ने मेडिकल कॉलेज के लिए दिल खोलकर चंदा दिया है. देश और विदेश में रहने वाले छात्रों ने करोड़ों रुपये का चंदा भेजा है. वहीं सूत्रों की मानें तो पीएम केयर्स फंड (PM Cares Fund) से भी मेडिकल कॉलेज को ऑक्सीजन प्लांट (Oxygen Pland) के लिए बजट जारी किया जा रहा है.

जानिए कितना चंदा भेजा एएमयू के पूर्व छात्रों ने

एएमयू के कुलसचिव अब्दुल हमीद ने बताया कि एएमयू के पूर्व छात्र और शुभचिंतकों ने मेडिकल कॉलेज में आक्सीजन प्लांट लगाने और दूसरे मेडिकल उपकरण खरीदने के लिए एएमयू एलूमनाई फंड एकाउंट में एक करोड़ से ज्यादा की रकम भेजी है. वहीं एएमयू मिस्लीनियस एकाउंट (एफसीआरए) में 73.54 लाख रुपये और एएमयू डोनेशन अकाउंट में 63.67 लाख रुपये दान दिया है.

Youtube Video

कुलसचिव का कहना है कि इस तरह से कोरोना महामारी से लड़ने के लिए 2.39 करोड़ रुपये का कुल दान एएमयू को मिला है. यह मदद एएमयू को और मजबूत करने में काफी मददगार साबित होगी. उन्होंने यह भी बताया कि यह रकम 1 अप्रैल, 2021 से अब तक संबंधित खातों में जमा हुई है.

शराब के ठेकों पर मिथाइल एल्कोहल बेचा तो होगी उम्र कैद, लगेगा 10 लाख का जुर्माना

वहीं कुलसचिव कार्यालय द्वारा जारी नोटिस के अनुसार, एएमयू अलमनई फंड खाते का विवरण https://amu.ac.in/offices/student-section/list-of-donors पर उपलब्ध है. जबिक एएमयू मिसलीनियस अकाउंट (एफसीआरए) और एएमयू डोनेशन अकाउंट में जमा किए गए दान का विवरण https://amu.ac.in/offices/accounts-section-2/useful-download  जेएनएमसी अस्पताल के लिए प्राप्त दान अनुभाग में देखा जा सकता है.



नोटिस में यह भी साफ किया गया है कि एएमयू एक सरकारी अनुदान प्राप्त केंद्रीय विश्वविद्यालय है और जीएफआर-2017 नियमों और विनियमों का पालन करने के लिए बाध्य है. जहां तक निधियों के व्यय का संबंध है, इसके लिए निर्धारित प्रक्रिया का पालन किया जाता है. धन का उपयोग बहुत पारदर्शी तरीके से किया जाता है और दान दाताओं को इस संबंध में पाबंदी के साथ सूचित किया जाता है.


पीएम केयर्स फंड से भी मिल रहा है बजट

सूत्रों की मानें तो मेडिकल कॉलेज में ऑक्सीजन प्लांट के लिए पीएम केयर्स फंड से भी बजट जारी हो रहा है. इस मामले से जुड़ा एक लैटर सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. लैटर में बताया गया है कि यह एएमयू के पीआरओ ऑफिस ने जारी किया है. एएमयू के पीआरओ उमर पीरजादा ने बताया कि यह बात सच है कि इस तरह का एक लैटर जारी हुआ है. लेकिन लैटर में क्या मैटर है यह हम शाम को प्रेस रिलीज जारी कर बताएंगे.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज