Noida News: ग्रेटर नोएडा में अब नहीं लगेगा कूड़े का ढेर, अथॉरिटी ने बनाया नया प्लान

कूड़ा निस्तारण के लिए ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी ने नया प्लान बनाया है. सांकेतिक फोटो

Noida News: शहर में छोटे-छोटे डम्प यार्ड बनाने की तैयारी भी है. साथ ही सोसाइटी और होटल-रेस्टोरेंट (Hotel-restaurant) को भी प्लांट लगवाने होंगे.

  • Share this:
    नोएडा. ग्रेटर नोएडा (Greater Noida) में रहने वालों के लिए एक बड़ी खबर है. सोसाइटी समेत दूसरी जगहों से कूड़ा उठने के लिए अब इंतजार नहीं करना होगा. हर रोज वक्त से कूड़ा उठाने वाली गाड़ी आएगी. इसके लिए ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी (Greater Noida Authority) ने एक बड़ा प्लान बनाया है. साथ ही बड़े होटल-रेस्टोरेंट, हाउसिंग सोसाइटी, कंपनी या फिर मॉल से निकलने वाले कूड़े के लिए अलग से प्लान तैयार किया गया है. शहर में छोटे-छोटे डम्प यार्ड बनाने की तैयारी भी है. साथ ही सोसाइटी और होटल-रेस्टोरेंट (Hotel-restaurant) को भी प्लांट लगवाने होंगे.

    जानकारों की मानें तो अभी तक ग्रेटर नोएडा से कूड़ा उठाने के लिए एक कंपनी को ठेका दिया गया था, लेकिन अब ग्रेटर नोएडा को चार जोन में बांटा जा रहा है. हर एक जोन से कूड़ा उठाने का जिम्मा एक अलग कंपनी के पास होगा.

    प्रतिदिन समय से कूड़ा उठाने के साथ ही उसे जोन में बने स्टेशन में पहुंचाया जाएगा. यहां पर कूड़े को अलग-अलग किया जाएगा. उसके बाद स्टेशन से कूड़े को फिलिंग साइट पर पहुंचाया जाएगा. यहां पर कूड़े को रिसाइकिल किया जाएगा. यह सारा काम कंपनी ही करेगी.

    ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेसवे पर नहीं लगेगा जाम, ट्रैफिक पुलिस ने बनाया यह खास प्लान

    बड़ी सोसाइटी और होटल-रेस्टोरेंट के लिए नए नियम
    गौरतलब है कि इस साल 4 फरवरी को ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी की एक बैठक हुई थी. बैठक में हाउसिंग सोसाइटी, होटल-रेस्टोरेंट, मैरिज होम, कंपनी या फिर ऐसे मॉल के प्रतिनिध शामिल हुए थे, जिनके यहां से 100 किलो या उससे भी ज़्यादा कूड़ा रोज़ाना निकलता है. इस बैठक में अथॉरिटी ने साफ किया था कि ऐसे लोगों को अपने कूड़े का खुद निस्तारण करना होगा. इसके लिए कूड़ा निस्तारण संयंत्र स्थापित करने होंगे. अगर ऐसी जगहों से कूड़ा पब्लिक प्लेस या शहर में फेंका गया तो जुर्माना लगाने के साथ-साथ कार्रवाई भी की जाएगी.



    खास बात यह है कि अगर आपकी हाउसिंग सोसाइटी, होटल-रेस्टोरेंट, मैरिज होम, कंपनी या फिर मॉल से 100 किलो या उससे भी ज़्यादा कूड़ा रोज़ाना नहीं निकलता है, लेकिन आपकी सोसाइटी या आपका संस्थान 5 हज़ार वर्गमीटर से ज़्यादा में बना हुआ है तो भी यह नियम आप पर लागू होगा. अथॉरिटी के अनुसार स्वच्छ भारत मिशन के तहत शहर को स्वच्छ बनाने के लिए सॉलिड वेस्ट मैनेजमेन्ट अधिनियम-2016 के प्रावधानों को लागू किया जा रहा है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.