पुलिस भर्ती में दूसरे के नाम पर दौड़ने आए 2 गिरफ्तार, TCS कर्मचारी भी संदेह के घेरे में, 4 के खिलाफ FIR

यूपी पुलिस की भर्ती में दूसरे अभ्यर्थियों के नाम पर परीक्षा देने आए दो शख्स गिरफ्तार

मामले में पकड़े गए दोनों मुन्ना भाई के साथ भर्ती प्रक्रिया संपादित कराने वाली कंपनी समेत 4 के खिलाफ धोखाधड़ी और साजिश की रिपोर्ट दर्ज कराई गई है. पुलिस ने पकड़े गए लोगों का चालान किया है.

  • Share this:
अयोध्या. उत्तर प्रदेश के अयोध्या (Ayodhya) जनपद के पुलिस लाइन ग्राउंड पर चल रही सिपाही भर्ती परीक्षा (Constable Recruitment) की शारीरिक दक्षता परीक्षा में प्राइवेट कंपनी के कर्मी की ओर से 2 अभ्यर्थियों को बिना नाम और नंबर के दौड़ के लिए बुला लिया गया. इस दौरान पुलिस विभाग के कर्मियों को शक हुआ तो दोनों के कागजातों का मिलान कराया गया. मिलान में अभ्यर्थियों के प्रवेश पत्र और फोटो परीक्षा संपन्न कराने वाली संस्था टीसीएस के कागजातों से मेल नहीं खाए. इसके बाद पुलिस ने दोनों को हिरासत में ले लिया. मामले में पकड़े गए दोनों मुन्ना भाई के साथ भर्ती प्रक्रिया संपादित कराने वाली कंपनी समेत 4 के खिलाफ धोखाधड़ी और साजिश की रिपोर्ट दर्ज कराई गई है. पुलिस ने पकड़े गए लोगों का चालान किया है.

पुलिस भर्ती के तहत पुलिस लाइन ग्राउंड पर शारीरिक दक्षता परीक्षा चल रही है. शारीरिक दक्षता परीक्षा में टाइमिंग टेक्नोलॉजी इंडिया प्राइवेट लिमिटेड के कर्मी सूर्य तेजा की ओर से सूची से इतर बिना नाम और नंबर के गोरखपुर जनपद के बांसगांव थाना क्षेत्र से पछपरिया मठिया निवासी प्रिंस कुमार यादव पुत्र इंद्रजीत और इसी जनपद के पीपीगंज थाना क्षेत्र स्थित गोलीगंज निवासी संदीप कुमार यादव पुत्र रामकिशन को दौड़ में शामिल करा दिया. भर्ती बोर्ड के सदस्यों ने शक होने पर कागजातों की पड़ताल कराई तो मामला पकड़ में आया. कागजातों के पड़ताल में पता चला कि अनुक्रमांक 1342210393 पर टीसीएस के कागजात में किसी दूसरे का फोटो लगा है जबकि दौड़ के लिए प्रिंस कुमार यादव शामिल हुआ है. वहीं पकड़ा गया दूसरा अभ्यर्थी संदीप कुमार यादव अनुक्रमांक 2152030905 पर दर्ज नाम अभय नंदन त्रिपाठी के नाम पर शारीरिक दक्षता परीक्षा में शामिल हो रहा था.

मामला पकड़ में आने के बाद शारीरिक परीक्षा दल के सदस्य जनपद के क्राइम ब्रांच में तैनात निरीक्षक राम आसरे यादव ने मामले की सूचना पुलिस भर्ती बोर्ड के अधिकारियों और जनपद के पुलिस अधिकारियों को दी. छानबीन में पाया गया कि इस खेल में कहीं न कहीं पुलिस भर्ती बोर्ड की परीक्षा कराने वाली संस्था टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज के कर्मचारी तथा अन्य लोग संलिप्त हैं. प्रकरण में समस्त कागजातों के साथ निरीक्षक राम आसरे यादव की ओर से लिखित तहरीर नगर कोतवाली पुलिस को दी गई. तहरीर पर पुलिस ने मुकदमा पंजीकृत किया है.

टीसीएस कर्मियों के खिलाफ भी एफआईआर

क्षेत्राधिकारी नगर अरविंद कुमार चौरसिया ने बताया कि पुलिस भर्ती बोर्ड की ओर से शारीरिक परीक्षा दल में शामिल निरीक्षक राम आसरे यादव की शिकायत पर नगर कोतवाली पुलिस ने धोखाधड़ी और साजिश का मुकदमा दर्ज किया है. यह मुकदमा प्रिंस कुमार यादव, संदीप कुमार यादव, अभय नंदन त्रिपाठी, टीसीएस कर्मियों समेत अन्य के खिलाफ पंजीकृत किया गया है. पुलिस ने मौके से पकड़े गए दोनों आरोपियों का चालान किया है. प्रकरण की गहराई से विवेचना के निर्देश दिए गए हैं.

ये भी पढ़ें:

'सपा, बसपा और कांग्रेस खेल रहे उपद्रवियों के तुष्टीकरण का ट्वंटी-20 मैच'

योगी सरकार में ट्रांसफर-पोस्टिंग के नाम पर घूसखोरी का चल रहा खेल: कांग्रेस

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.