अयोध्या जमीन विवाद की कराई जाए निष्पक्ष जांच, तब तक सस्पेंड हों चंपत राय- अविमुक्तेश्वरानंद सरस्वती

अविमुक्तेश्वरानंद सरस्वती ने कहा कि ट्रस्ट के सचिव चंपत राय और ट्रस्टी अनिल मिश्र को जांच से नहीं भागना चाहिए

अविमुक्तेश्वरानंद सरस्वती (Avimukteshwara Nand Saraswati) ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर ट्रस्ट को सीधे तौर पर कठघरे में खड़ा करते हुए कहा कि इस विवाद पर शीघ्र से शीघ्र निष्पक्ष लोगों की जांच कमेटी बनाई जाए और जिन लोगों पर आरोप लगा है जांच की सच्चाई सामने आने तक उनको हर तरह के दायित्व से मुक्त कर दिया जाए

  • Share this:
अयोध्या. अयोध्या में श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट (Sri Ram Janam Bhoomi Trust) द्वारा खरीदी गई जमीन को लेकर हंगामा बरपा तो साधु-संत भी सामने आने लगे हैं. शारदा पीठ के शंकराचार्य जगतगुरु स्वरूपानंद सरस्वती के उत्तराधिकारी और रामालय ट्रस्ट के अध्यक्ष अविमुक्तेश्वरानंद सरस्वती (Avimukteshwara Nand Saraswati) ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर ट्रस्ट को सीधे तौर पर कठघरे में खड़ा किया. उन्होंने कहा कि भगवान राम (Bhagwan Ram) के नाम पर ट्रस्ट बनाया गया है इसलिए उसका उद्देश्य श्रीराम के आदर्शों की स्थापना है. इस विवाद पर शीघ्र से शीघ्र निष्पक्ष लोगों की जांच कमेटी बनाई जाए और जिन लोगों पर आरोप लगा है जांच की सच्चाई सामने आने तक उनको हर तरह के दायित्व से मुक्त कर दिया जाए.

अविमुक्तेश्वरानंद सरस्वती ने कहा कि कोई बंद आंखों वाला भी देखेगा तो दो मिनट पहले कोई चीज दो करोड़ की होती है और आठ मिनट बाद आठ करोड़ की हो जाती है, यह नहीं हो सकता. लेकिन आपने कर के दिखा दिया है और आप कहते हैं एकदम सही है. आपको जांच से भागना नहीं चाहिए. उन्होंने ट्रस्ट के सचिव चंपत राय और ट्रस्टी अनिल मिश्र पर निशाना साधते हुए कहा कि जिन्होंने गवाही दी है जिन्होंने रजिस्ट्री कराई है.



उन्होंने कहा कि जल्द से जल्द निष्पक्ष लोगों की जांच कमेटी बैठे और जब तक जिन लोगों पर आरोप लगा है उनको किसी भी दायित्व से स्थगित रखा जाए. अविमुक्तेश्वरानंद सरस्वती ने कहा कि जिन लोगों पर आरोप लगे हैं उन्हें स्वयं विरक्त हो जाना चाहिए और कहना चाहिए कि मेरे ऊपर आरोपी का निराकरण कर दो उसके बाद फिर मैं कार्य करूंगा. दो लोगों चंपत राय और अनिल मिश्र ने गवाही दी है और रजिस्ट्री कराई है इसलिए इन्हें कार्य से तुरंत सस्पेंड कर देना चाहिए, जब तक कि यह निर्दोष नहीं साबित हो जाते.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.