Home /News /uttar-pradesh /

अयोध्या मामला: पुनर्विचार याचिका के विरोध में नसीरुद्दीन शाह समेत 100 मुस्लिम हस्तियां

अयोध्या मामला: पुनर्विचार याचिका के विरोध में नसीरुद्दीन शाह समेत 100 मुस्लिम हस्तियां

नसीरूद्दीन शाह

नसीरूद्दीन शाह

इन मुस्लिम हस्तियों ने एकमत होकर कहा कि, रामजन्म भूमि-बाबरी मस्जिद मामले (Ramjanmabhoomi-Babri Masjid case) के कुछ पक्षकारों का पुनर्विचार दायर करने का फैसला विवाद को जिंदा रखेगा जिससे मुस्लिम कौम को नुकसान होगा.

    नई दिल्ली/अयोध्या. अभिनेता नसीरुद्दीन शाह और शबाना आज़मी समेत देशभर की 100 जानी-मानी मुस्लिम शख्सियतों ने अयोध्या पर आए सुप्रीम कोर्ट के फैसले के खिलाफ पुनर्विचार याचिका दायर करने का सोमवार को विरोध किया. इन शख्सियतों ने कहा है कि रामजन्म भूमि-बाबरी मस्जिद मामले के कुछ पक्षकारों का पुनर्विचार दायर करने का फैसला विवाद को जिंदा रखेगा और मुस्लिम कौम को नुकसान पहुंचाएगा.

    इन सबने किया पुनर्विचार याचिका दाखिल करने का विरोध
    पुनर्विचार याचिका दायर करने का विरोध करने वाले बयान पर दस्तखत करने वालों में इस्लामी विद्वान, सामाजिक कार्यकर्ता, वकील, पत्रकार, कारोबारी, शायर, अभिनेता, फिल्मकार, थिएटर कलाकार, संगीतकार और छात्र शामिल हैं.

    अयोध्या विवाद को जीवित रखना भारतीय मुसलमानों को नुकसान पहुंचाएगा
    बयान में बताया गया है कि ‘हम इस तथ्य पर भारतीय मुस्लिम समुदाय, संवैधानिक विशेषज्ञों और धर्मनिरपेक्ष संगठनों की नाखुशी को साझा करते हैं कि देश की सर्वोच्च अदालत ने अपना निर्णय करने के लिए कानून के ऊपर आस्था को रखा है.’ बयान में कहा गया है कि वे इस बात से सहमति रखते हैं कि फैसला न्यायिक रूप से त्रुटिपूर्ण है, लेकिन हमारा मजबूती से मानना है कि अयोध्या विवाद को जीवित रखना भारतीय मुसलमानों को नुकसान पहुंचाएगा और उनकी मदद नहीं करेगा.

    सुप्रीम कोर्ट ने विवादित 2.77 एकड़ भूमि रामलला विराजमान को दे दी
    बयान पर दस्तखत करने वालों में शाह, आज़मी, फिल्म लेखक अंजुम राजबली, पत्रकार जावेद आनंद समेत अन्य शामिल हैं. सुप्रीम कोर्ट ने 9 नवंबर को अयोध्या मामले पर ऐतिहासिक फैसला सुनाते हुए विवादित 2.77 एकड़ भूमि को रामलला विराजमान को दे दी. पांच न्यायाधीशों वाली पीठ ने मस्जिद बनाने के लिए पांच एकड़ जमीन सुन्नी वक्फ बोर्ड को भी देने का आदेश दिया.

    इन दो संस्थाओं ने पुनर्विचार याचिका दायर करने का लिया है निर्णय
    वहीं ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड और जमीयत उलेमा-ए-हिंद (अरशद मदनी गुट) ने शीर्ष अदालत के फैसले के खिलाफ पुनर्विचार याचिका दायर करने का निर्णय किया है.

    ये भी पढ़ें - 

    डिप्‍टी CM बनने के 48 घंटे के बाद अजित पवार को सिंचाई घोटाले में 'क्‍लीनचिट'

    महाराष्ट्र: हयात होटल में बोले शरद पवार- NCP के लिए फैसला नहीं ले सकते अजित

    Tags: Ayodhya Land Dispute, Ayodhya Verdict, Naseeruddin shah, Ram Mandir, Ram Mandir Dispute, Shabana azmi

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर