लाइव टीवी

अयोध्या दीपोत्सव: जानिए इस बार क्या नया करने जा रही है योगी सरकार

News18 Uttar Pradesh
Updated: October 25, 2019, 4:13 PM IST
अयोध्या दीपोत्सव: जानिए इस बार क्या नया करने जा रही है योगी सरकार
अयोध्या में इस बार दीपोत्सव का आयोजन पिछले साल से भी ज्यादा भव्य रूप में मनाने की तैयारी है.

अयोध्या (Ayodhya) में दीपोत्सव (Deepotsav) की तैयारियां पूरी हो चुकी हैं घाट को सजा दिया गया है. भगवान राम की एक 15 फीट की फाइबर की प्रतिमा लगाई गई है, जिसे कई रंगों में रूप दिया गया है. घाटों को त्रेता युग की तरह चमकाया जा रहा है.

  • Share this:
लखनऊ. अयोध्या (Ayodhya) में लगातार तीसरे साल भव्य दीपोत्सव (Deepotsav) का आयोजन किया जा रहा है. इस बार योगी सरकार सरयू के तट पर 5,51000 दिये जलाकर अपना ही वर्ल्ड रिकॉर्ड तोड़ेगी. इस बार 7 देशों की रामलीला भी लोगों के आकर्षण का केंद्र बन रही है. इस बार भगवान राम के जन्म से लेकर राज्याभिषेक तक के पूरे दृश्य को ग्यारह झांकियों के रूप में तैयार किया गया है, जिसे अयोध्या की सड़कों पर दिखाया जा रहा है. सरकार ने इस पूरे कार्यक्रम इसे राज्य मेला घोषित कर दिया है, जिससे यह आगे भी निर्बाध गति से चलता रहे.  यही नहीं ढाई हजार बच्चे बैठकर भगवान राम के जीवन उनकी धनुष तीर व उनकी चित्र को अंतिम रूप दे रहे हैं. प्रदेश का सांस्कृतिक एवं पाटन विभाग भी इसे दुनिया के पटल पर स्थापित करने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ रहा है.

भगवान राम की 15 फीट की प्रतिमा लगाई गई

दीपोत्सव की तैयारियां पूरी हो चुकी हैं घाट को सजा दिया गया है. भगवान राम की एक 15 फीट की फाइबर की प्रतिमा लगाई गई है, जिसे कई रंगों में रूप दिया गया है. घाटों को त्रेता युग की तरह चमकाया जा रहा है. हालांकि इस जगह पर पिछली बार दूसरी प्रतिमा बनाई गई थी लेकिन इस बार फाइबर की प्रतिमा लगाई गई है जो आकर्षण का केंद्र बनी हुई है. इसमें भगवान राम के तीर को पीले कलर में जगह दी गई है और उन्हें उनके मूर्त रूप में पूरा आकार देने की कोशिश कलाकारों की तरफ से की गई है. इस मूर्ति का उद्घाटन 26 तारीख को खुद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ करेंगे.

ayodhya deepotsav
अयोध्या में राम की पैड़ी पर दीपों को लगाने की तैयारी पूरी हो गई है.


2500 बच्चे राम के जीवन पर कर रहे चित्रकारी

इस दीपोत्सव को दुनिया के मानचित्र पर रखने के लिए सरकार पूरी कोशिश में है. ढाई हजार बच्चे भगवान राम के जीवन पर आधारित चित्रकारी को अंतिम रूप दे रहे हैं, कोई भगवान राम को अपने तरीके से रूप दे रहा है तो कोई उनके औजार यानी धनुष और तीर को बना रहा है. ई रंगोली को अलग-अलग रंगों में सजा रहा है. बच्चों का कहना है कि इस दीपोत्सव शो में भगवान राम के जीवन पर आधारित कार्यक्रम में हमें चित्र बनाने का अवसर मिला जो हमारे लिए सौभाग्य बात है. इतनी बड़ी संख्या में पहली बार छात्र-छात्राओं ने चित्रकारी की है, जिसे प्रदर्शनी के तौर पर भी दीपोत्सव में भी दिखाया जाएगा.

भगवान राम के जन्म से लेकर राज्याभिषेक की झांकियां
Loading...

दीपोत्सव को भगवान राम के रुपों दिखाने के लिए हर कोशिश जारी है. हम जहां मौजूद हैं या अयोध्या का साकेत महाविद्यालय, जहां पर दर्जनों कारीगर भगवान राम के जन्म से लेकर भगवान राम के राज्याभिषेक तक की सभी दृश्य को झांकी के तौर पर बना रहे हैं. आप देख सकते हैं, यह रथ तैयार है. किसी रथ पर दीपावली का स्लोगन है तो किसी पर भगवान राम रावण का संघार करते हुए दिख रहे हैं. कारीगर रथों को अंतिम रूप दे रहे हैं.

ayodhya deepotsav1
राम की पैड़ी पर पहली बार सरयू का पानी प्रवाह में दिखाई दे रहा है.


पहली बार राम की पैड़ी पर सरयू का निर्मल जल छोड़ा गया है

बता दें अयोध्या में पहली बार राम की पैड़ी पर सरयू का निर्मल जल छोड़ा गया है. पंपिंग सेट के माध्यम से या पानी सरयू नदी से उठाकर राम की पैड़ी पर छोड़ा जा रहा है और दूसरे छोर से ये पानी वापस सरयू नदी में मिल जा रहा है. बकायदा 5 सेटों में पानी बाहर आ रहा है, जिसका लोग इसका आनंद ले रहे हैं. ऐसा पहली बार हुआ है, जब यह पानी लगातार बहता रहेगा. इससे पहले यहां पानी स्थिर हो जाता था. सरकार ने इस की माकूल व्यवस्था कर दी है, जिससे यहां पानी हमेशा बहता रहेगा और लोग दीपोत्सव का आनंद तो लेंगे उसके बाद भी यह जल यूं ही प्रवाहित होता रहेगा.

5,51000 दिए जला कर वर्ल्ड रिकॉर्ड 

अयोध्या के राम की पैड़ी पर 551000 दिए जला कर वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया जाएगा, इसके लिए एक लंबा वक्त चाहिए होगा. यही वजह है कि सैकड़ों छात्र-छात्राएं दीपक को व्यवस्थित तौर पर घाट पर सजा रहे हैं. बकायदा एक स्क्वायर बनाया गया है, जिसमें 100 दिए रखे जाएंगे और घाट को दोनों तरफ यदि यह लगाए जा रहे हैं. बड़ी संख्या में छात्र-छात्राएं व वालंटियर यह काम कर रहे हैं.

ayodhya deepotsav2
घाट पर चित्रकला भी की जा र ही है.


अयोध्या का नाम रौशन हो रहा है: इकबाल अंसारी

दीपोत्सव को लेकर मुस्लिम पक्षकार इकबाल अंसारी का साफ तौर पर कहना है कि अयोध्या का नाम दुनिया में स्थापित हो रहा है और दीपोत्सव मनाया जा रहा है. सरकार के इस कार्यक्रम का हम स्वागत करते हैं और पूरी दुनिया के लोग यहां आ रहे हैं. अयोध्या का नाम रौशन हो रहा है, साथ ही विकास भी हो रहा है.

राज्य मेला का दर्जा देने के लिए सरकार का धन्यवाद: महंत राजू दास

हनुमानगढ़ी के महंत राजू दास का साफ तौर पर कहना है कि दीपोत्सव मनाया जा रहा है. सरकार ने इसे राज्य मेला का दर्जा भी दे दिया है. इसके लिए सरकार को धन्यवाद और भगवान राम को हम लोग अपना आदर्श मानते हैं और हम यह भी चाहते हैं कि अगली दिवाली में भगवान राम अपने मंदिर में हो. हम वहां दिए जलाएं. दीपोत्सव को लेकर सरकार कि तारीफ संत करते नजर आ रहे हैं.

जब बात अयोध्या की होती है तो बात मंदिर पर आकर टिक जाती है लेकिन इस वक्त एक ऐसा मौका है जब भगवान राम अयोध्या में आए थे और दीपावली मनी थी. अब सरकार से दीपोत्सव का रूप दे दिया है. भगवान राम को पुष्पक विमान से उतारा जाएगा तो वहीं हेलीकॉप्टर से पुष्पों की वर्षा की जाएगी.

रिपोर्ट: अजीत सिंह

ये भी पढ़ें:

UP उपचुनाव में बसपा के 6 और कांग्रेस के 7 प्रत्याशियों की जमानत जब्त

उल्लुओं की जान पर आई आफत, बली देने के लिए लाखों में खरीद रहे लोग

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अयोध्या से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 25, 2019, 3:57 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...