लाइव टीवी

अयोध्या: शराबी पिता ने अपनी बेटी पर डीजल डाल कर लगाई आग, हालत नाजुक

News18 Uttar Pradesh
Updated: December 7, 2019, 12:52 PM IST
अयोध्या: शराबी पिता ने अपनी बेटी पर डीजल डाल कर लगाई आग, हालत नाजुक
अयोध्या में हैवान बन चुके पिता ने अपनी ही बेटी डीजल डाल कर जलाया (प्रतीकात्मक फोटो)

शराबी पिता से मां का बचाव करने आगे आई 18 वर्षीय पुत्री नंदनी के ऊपर पिता ने डीजल उड़ेल दिया उसके बाद हैवानियत की हदों को पार करते हुए उसे ही आग के हवाले (Set on fire) कर दिया. पीड़िता 80 प्रतिशत झुलस (burn) गई है और लखनऊ (Lucknow) के ट्रामा सेंटर (Trauma center) में जिन्दगी और मौत के बीच जंग लड़ रही है.....

  • Share this:
अयोध्या. एक सनसनीखेज वारदात में यहां एक शराबी पिता (drunken father) ने अपनी बेटी पर ही डीजल उड़ेल कर उसे आग के हवाले कर दिया. अपनी मां के बचाव में आई 18 वर्षीय किशोरी 80 प्रतिशत जल गई है उसकी हालत नाजुक (critical condition) बनी हुई है. आरोपी पिता फरार है, पुलिस ने उसकी तलाश में टीम गठित कर दी है.

किशोरी लड़ रही जिंदगी की जंग
मामला थाना कैंट के हाशापुर गांव का बताया जा रहा है जहां देर रात नेतराम नाम का शख्श शराब पीकर अपने घर पहुंचा और पत्नी से पैसे मांगने लगा. शराबी पति से अपनी गृहस्थी बचाने के लिए पत्नी कुछ पैसे अपने पास रखती थी. कुछ दिन पूर्व ही पत्नी ने अपनी जमीन भी बेची थी जिसके पैसे भी उसी के पास थे. शुक्रवार की देर रात जब शराब पीकर पति नेतराम वापस लौटा फिर पत्नी से और शराब खरीदने के पैसे मांगने लगा. जब पत्नी ने पैसे नहीं दिए तो घर में रखे डीजल का डिब्बा उठाकर पत्नी पर छिड़कने लगा. लेकिन उसकी बेटी नंदिनी तुरंत अपनी मां को बचाने के लिए ढाल बन गई और सारा का सारा डीजल उसके शरीर पर आ गिरा. हैवान बन चुके कलयुगी पिता ने माचिस जलाकर तीली उसके ऊपर फेंक दी. देखते ही देखते उसकी बेटी आग की लपटों से घिर गई. चीख-पुकार मचने पर पहुंचे पड़ोसियों ने आग बुझाई लेकिन तब तक वो लगभग 80 प्रतिशत झुलस गई. पड़ोसियों ने ही घटना की सूचना पुलिस को दी.

मौके पर पहुंची पुलिस ने झुलसी हुई किशोरी को नाजुक हालत में जिला अस्पताल में भर्ती कराया जहां से उसे लखनऊ ट्रामा सेंटर रेफर कर दिया गया. रिपोर्ट के मुताबिक कलयुगी पिता शराब के नशे में घर पहुंचा और पत्नी से मारपीट की उसके बाद वो पत्नी को डीजल डाल कर आग के हवाले करने जा रहा था लेकिन मां का बचाव करने उसकी 18 वर्षीय पुत्री नंदनी सामने आ गई और पूरा डीजल उसके ऊपर पड़ गया उसके बाद हैवानियत की हदों को पार करते हुए शराबी ने उसे ही आग के हवाले कर दिया. किशोरी को आनन-फानन में जिला अस्पताल ले जाया गया लेकिन उसकी नाजुक हालत को देखते हुए डॉक्टरों ने उसे लखनऊ के ट्रामा सेंटर (Lucknow's Trauma Center) के लिए रेफर कर दिया.

ऐसे में बड़ा सवाल यह उठता है कि बेटियां क्या कहीं भी सुरक्षित नहीं हैं ? घर हो या बाहर आग के हवाले होना उनकी नियति बनती जा रही है. हैदराबाद, उन्नाव और अब अयोध्या में अपने ही पिता के हाथों आग के हवाले हुई किशोरी अब लखनऊ के ट्रामा सेंटर (Lucknow Trauma Center) में जिंदगी और मौत से जंग लड़ रही है. सूचना मिलने पर मौके पर पहुंची पुलिस ने बुरी तरह से झुलसी किशोरी को जिला अस्पताल में भर्ती कराया जहां से उसे नाजुक हालत में लखनऊ ट्रामा सेंटर रेफर कर दिया गया है. लखनऊ ट्रामा सेंटर में उसकी हालत क्रिटिकल बनी हुई है. पुलिस ने पत्नी की तहरीर पर पति नेतराम के खिलाफ थाना कैंट में मुकदमा दर्ज कर लिया है और उसकी गिरफ्तारी के लिए टीम बना दी गई है. सीओ सिटी अरविंद चौरसिया ने बताया कि आरोपी को गिरफ्तार करने का प्रयास किया जा रहा है.

ये भी पढ़ें - उन्नाव मामले पर UP सरकार पर हमलावर प्रियंका, कहा- पीड़ितों को नहीं, यहां अपराधियों को मिलती है सुरक्षा
उन्नाव गैंगरेप पीड़िता की मौत के बाद यूपी विधानसभा के बाहर धरने पर बैठे अखिलेश यादव

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अयोध्या से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 7, 2019, 12:47 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर