अपना शहर चुनें

States

नवरात्र से अयोध्या में युद्ध स्तर पर शुरू होगा राम मंदिर निर्माण, परिसर में टेस्ट पाइलिंग का काम पूरा

राम जन्मभूमि परिसर में भारी और अत्याथुनिक मशीनों से पायलिंग का काम ट्रायल के रूप में तकरीबन पूरा हो गया है (फोटो: News 18)
राम जन्मभूमि परिसर में भारी और अत्याथुनिक मशीनों से पायलिंग का काम ट्रायल के रूप में तकरीबन पूरा हो गया है (फोटो: News 18)

राम जन्मभूमि परिसर में पाइलिंग का काम ट्रायल के तौर पर लगभग पूरा हो चुका है. लगभग 1,200 खंभे ऐसे हैं जिनको पाइलिंग कर के इनके ऊपर मंदिर के स्ट्रक्चर को खड़ा किया जाएगा. इस काम के लिए चार खंभों की पाइलिंग का कार्य राम जन्मभूमि परिसर में चल रहा था जिसकी रिपोर्ट नवरात्र तक आएगी

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 5, 2020, 10:42 PM IST
  • Share this:
अयोध्या. राम भक्तों को जल्द खुशखबरी मिल सकती है. आने वाले नवरात्र (Navratra 2020) में अयोध्या (Ayodhya) में राम मंदिर का युद्ध स्तर पर निर्माण (Ram Temple Construction) शुरू हो सकता है. इसके लिए पाइलिंग का काम ट्रायल के तौर पर लगभग पूरा हो चुका है. लगभग 1,200 खंभे ऐसे हैं जिनको पाइलिंग कर के इनके ऊपर मंदिर के स्ट्रक्चर को खड़ा किया जाएगा. इस काम के लिए चार खंभों की पाइलिंग का कार्य राम जन्मभूमि परिसर में चल रहा था जिसकी रिपोर्ट नवरात्र तक आएगी. आईआईटी रुड़की (IIT Roorkee) के इंजीनियर और कार्यदाई संस्था l&t (लार्सन एंड टूब्रो) के इंजीनियर खंभे की शक्ति का परीक्षण कर रहे हैं जिसकी रिपोर्ट नवरात्र के पहले आ जाएगी.

मंदिर निर्माण के कार्य में किसी भी तरीके की आर्थिक समस्या ना हो इसके लिए राम भक्तों ने भी अपने खजाने खोल दिए हैं. श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के गठन के बाद से अब तक लगभग एक अरब रुपए और रामलला के अकाउंट में हैं. साथ ही दो कुंतल से ज्यादा चांदी भी रामलला को दान के स्वरूप में मिली है. ऐसे में श्रीराम जन्मभूमि के मंदिर निर्माण के लिए जल्द ही विदेशों में मौजूद राम भक्त भी दान कर सकेंगे. इसकी भी योजना पूर्ण रूप से तैयार हो चुकी है.

अत्याधुनिक मशीनों से मंदिर के निर्माण का कार्य चल रहा 



बता दें कि राम मंदिर के निर्माण का कार्य राम जन्मभूमि परिसर में तेज हो चुका है. अत्याधुनिक मशीनों से मंदिर के निर्माण का कार्य चल रहा है. इस मद में राम मंदिर के फैसले आने के बाद से ट्रस्ट के गठन के बाद राम भक्तों ने अपने खजाने खोल दिए हैं. ट्रस्ट के गठन से और अब तक सूत्रों की मानें तो लगभग एक अरब रुपए का दान रामलला के खातों में आ चुका है.
RAM MANDIR 13
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसी साल पांच अगस्त को अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए भूमिपूजन किया था (फाइल फोटो)


श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के कैंप कार्यालय के प्रभारी प्रकाश कुमार गुप्ता ने बताया कि प्रतिदिन रामलला के मंदिर निर्माण के लिए दान आ रहा है. लगभग एक अरब रुपए का दान आ चुका है. राम मंदिर निर्माण में ज्यादा पैसा लगता है. जिस तरीके से लोग दान दे रहे हैं उसी तरीके का मंदिर निर्माण का कार्य शुरू हो चुका है. फिलहाल राम भक्तों से चांदी का दान नहीं लिया जा रहा है क्योंकि दो कुंतल से ज्यादा चांदी का दान पहले ही आ चुका है. फिर भी वैसे राम भक्त जो चांदी दान करने की इच्छा रखते हैं वो इसके बदले नकद दान दे सकते हैं. गुप्ता ने कहा कि राम मंदिर के निर्माण में पैसों की कमी नहीं आएगी. इसकी वजह है कि दानदाता लगातार मंदिर निर्माण के लिए दान कर रहे हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज