Ayodhya Ram Mandir: भूमि पूजन से पहले ही रामलला बने अरबपति, लाखों लोग कर रहे दान
Ayodhya News in Hindi

Ayodhya Ram Mandir: भूमि पूजन से पहले ही रामलला बने अरबपति, लाखों लोग कर रहे दान
भूमि पूजन से पहले अयोध्या में दीपोत्सव

Ayodhya Ram Mandir Bhumi Pujan: अयोध्या के भारतीय स्टेट बैंक की स्थानीय शाखा के मुताबिक उम्मीद के मुताबिक 5 अगस्त से पहले ही रामलला के खाते में रामभक्तों की ओर से लगातार आ रहे दान की वजह से अब वे अरबपति हो गए हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 5, 2020, 8:34 AM IST
  • Share this:
अयोध्या. 5 अगस्त को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) के कर कमलों द्वारा होने वाले राम मंदिर (Ram Mandir) भूमि पूजन कार्यक्रम से पहले ही रामलला (Ramlala) अरबपति हो गए है. देश दुनिया के राम भक्त लगतार ट्रस्ट के बैंक अकाउंट में अपनी क्षमता के मुताबिक दान कर रहे हैं. अयोध्या के भारतीय स्टेट बैंक की स्थानीय शाखा के मुताबिक उम्मीद के मुताबिक 5 अगस्त से पहले ही रामलला के खाते में रामभक्तों की ओर से लगातार आ रहे दान की वजह से अब वे अरबपति हो गए हैं. इतना ही नहीं हजारों की संख्या में लोग बैंक से दान करने की प्रक्रिया के बारे में पूछताछ भी कर रहे हैं. दान करने वालों की संख्या लाखों में हैं.

भूमिपूजन के ऐलान से पहले जमा थी 20 करोड़ राशि
फ़रवरी में श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के गठन के बाद मंदिर निर्माण के लिए एसबीआई में खाता खोला गया था. हालांकि, इसके बाद ही देश में कोरोना महामारी की वजह से लॉकडाउन लगा दिया गया. इसके बावजूद रामभक्तों ने इस दौरान साढ़े चार करोड़ रुपए की धनराशी दान स्वरूप जमा करा दी. इस बीच, जब राम मंदिर भूमि पूजन की तारीख तय हुई तो इसमें और इजाफा हुआ. रामलाला के खाते में इस तिथि के ऐलान से पहले 20 करोड़ रुपए जमा थे.


दानदाताओं की संख्या लाखों में


ट्रस्ट के कोषाध्यक्ष महंत गोविंद देव गिरी ने जानकारी देते हुए बताया कि कई लोगों ने करोड़ों में दान दिया है. इनमे रामकथा वाचक संत मुरारी बापू के आह्वान पर उनके अनुयायियों ने चार दिन में 18 करोड़ की धनराशि एकत्र की है. इसमें भारत में निवास कर रहे श्रद्धालुओं ने 11 करोड़ का दान किया है जो कि मंगलवार को रामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के खाते में हस्तान्तरित हो गया. बाकी के 7 करोड़ विदेशी मुद्रा के लिए पंजीकरण के बाद आ जाएंगे. उन्होंने बताया कि एक लाख तक का दान ऑनलाइन सीधे खाते में आ रहा है. एक लाख राशि का दान करने वालों की संख्या बहुत बड़ी है, जबकि इससे नीचे की राशि दान करने वालों की संख्या अनगिनत है.

दानदाताओं में करीब 60 फीसद लोग युवा
बैंक सूत्रों से मिल रही जानकारी के मुताबिक दानदाताओं में 60 फीसदी लोग युवा और कम उम्र वर्ग से हैं, क्योंकि हजारों लोग 1101 रुपये, 501 रुपये, यहां तक कि 101 रुपये तक दान कर रहे हैं. इसके अलावा इसके नीचे की भी धनराशी दान स्वरूप मिल रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज