Choose Municipal Ward
    CLICK HERE FOR DETAILED RESULTS

    राम मंदिर निर्माण: बेहद हाईटेक है निमंत्रण पत्र, सुरक्षा कोड के साथ ये हैं खूबियां

    हाईटेक है भूमिपूजन के लिए निमंत्रण कार्ड
    हाईटेक है भूमिपूजन के लिए निमंत्रण कार्ड

    Ayodhya Ram Mandir Nirman: आमंत्रण पत्र ही प्रवेश पास है. इस पर सुरक्षा के लिए बार कोड लगाया गया है, जो एक बार ही उपयोग में आएगा. ऐसे में यदि कोई बाहर निकला तो दोबारा प्रवेश नहीं कर पाएगा.

    • News18Hindi
    • Last Updated: August 4, 2020, 12:09 PM IST
    • Share this:
    अयोध्या. राम मंदिर निर्माण (Ram Mandir) के लिए भूमिपूजन (Bhumi Pujan) और कार्य प्रारंभ की शुरुआत होने में महज अब कुछ ही घंटे बाकी हैं. 5 अगस्त को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) द्वारा शिलान्यास के साथ ही निर्माण कार्य आरंभ हो जाएगा. इस ऐतिहासिक क्षण के साक्षी बनने के लिए लाखों भक्त अयोध्या पहुंचना चाहते थे, लेकिन कोरोना महामारी की वजह से ऐसा संभव नहीं हो पा रहा है. श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट ने भूमि पूजन के लिए 175 लोगों को निमंत्रण पत्र भेजा है. इसके अलावा 135 विशिष्ट साधु-संतों के अलावा अन्य अतिथियों को आमंत्रित किया गया है. भूमि पूजन के लिए जो निमंत्रण पत्र तैयार किया गया है वह सुरक्षा कोड के साथ हाईटेक भी है.

    राम जन्‍मभूमि तीर्थ ट्रस्‍ट (Ram Janma Bhoomi Teerth Trust) के महासचिव चंपत राय (Champat Rai) ने बताया कि भूमि पूजन कार्यक्रम में कुल 175 आमंत्रित अतिथि ही शामिल होंगे. 135 विशिष्ट साधु-संतों के अलावा अन्य अतिथियों को आमंत्रित किया गया है. उन्होंने बताया कि आमंत्रण पत्र ही प्रवेश पास है. इस पर सुरक्षा के लिए बार कोड लगाया गया है, जो एक बार ही उपयोग में आएगा. ऐसे में यदि कोई बाहर निकला तो दोबारा प्रवेश नहीं कर पाएगा. आमंत्रित अतिथि कार्यक्रम में मोबाइल-कैमरा आदि नहीं ले जा सकेंगे.

    पीएम के आगमन से 2 घंटे पहले तक ही एंट्री
    आमंत्रित अतिथियों को प्रधानमंत्री के आगमन से दो घंटे पहले तक ही प्रवेश करना होगा. उसके बाद एंट्री बंद हो जाएगी. वैसे तो सभी आमंत्रित अतिथि को मंगलवार शाम तक ही अयोध्या पहुंचना होगा, क्योंकि सुरक्षा के लिहाज से शहर की सभी सीमाएं सील कर दी जाएंगी.
    निमंत्रण पत्र पर PM के साथ इनका भी नाम


    इस निमंत्रण पत्र में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ ही विशिष्ट अतिथि के तौर पर आरएसएस के सर संघचालक मोहन भागवत का भी नाम है. इसके अलावा गरिमामयी उपस्थिति के तौर पर राज्यपाल आनंदीबेन पटेल और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का भी नाम शामिल है. निवेदक के रूप में ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास का नाम लिखा है.
    अगली ख़बर

    फोटो

    टॉप स्टोरीज