• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttar-pradesh
  • »
  • AYODHYA AYODHYA SAINT MAHANT PARAMHANS DAS ANNOUNCED 50 THOUSAND REWARD OVER SHARJEEL USMANI TOUNG UPNS

अयोध्या: AMU के पूर्व छात्र शरजील उस्मानी पर भड़के साधु-संत, जीभ काटने पर रखा 50 हजार का इनाम

AMU के पूर्व छात्र शरजील उस्मानी पर भड़के साधु-संत

बता दें कि शरजील उस्मानी मूल रूप से उत्तर प्रदेश का रहने वाला है, जो अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय का पूर्व छात्र है.

  • Share this:
अयोध्या. धार्मिक भावनाएं भड़काने के आरोप में अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (AMU) के पूर्व छात्र शरजील उस्मानी (Sharjeel Usmani) पर अयोध्या (Ayodhya) के साधु-संत भड़क गए है. अयोध्या के तपस्वी छावनी के महंत परमहंस दास ने शरजील उस्मानी का जीभ काटकर लाने वाले को 50 हजार रुपये के पुरस्कार का ऐलान किया है. भारतीय जनता पार्टी के एक नेता की शिकायत पर दिल्ली पुलिस ने IPC की धारा 505 के तहत शरजील उस्मानी पर केस दर्ज किया है. अयोध्या के तपस्वी छावनी के महंत परमहंस दास ने सरजील उस्मानी के ही तरह बड़ा विवादित बयान देते हुए कहा है कि जिस जीभ से उसने श्री राम कहने वालों के प्रति अपशब्द का प्रयोग किया है उस जीभ को काट कर के जो भी लाएगा उसे पुरस्कार स्वरूप 50 हजार रुपये दिया जाएगा. इसके बावजूद अगर उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई नहीं हुई मेरे पास शास्त्र के साथ शस्त्र भी है और ऐसे अधर्मी का जीवा कलम करने में स्वयं जाऊंगा.

महंत राजू दास हनुमानगढ़ी ने कहा एक आतंकवादी कौम को मानने वाले उस्मानी ने जय श्री राम बोलने वाले श्री राम का नारा लगाने वाले को आतंकवादी कहां है यह दुर्भाग्यपूर्ण है. इसकी हम पुरजोर निंदा करते हैं. राजू दास ने कहा कि मैं माननीय प्रधानमंत्री गृहमंत्री माननीय राष्ट्रपति महोदय से निवेदन करना चाहूंगा कि सनातन धर्म और हिंदू जनमानस के आस्था का प्रतीक श्री राम को मानने वाले उनके अनुयायी आतंकवादी कैसे हो सकते हैं. जय श्री राम का नाम लेना क्या यह आतंकवाद के विचारधारा का प्रतीक है, दुर्भाग्यपूर्ण है. इस चीज का विरोध होना चाहिए और इनके ऊपर सख्त से सख्त कार्रवाई होनी चाहिए और जो व्यक्ति पूरे देश में दंगा भड़काने का काम कर रहा है.

UP Panchayat Chunav: बीजेपी सांसद ने खड़ा किया सवाल, बोले- मुस्लिम को कैसे मिला SC का सर्टिफिकेट!

बता दें कि शरजील उस्मानी मूल रूप से उत्तर प्रदेश का रहने वाला है, जो अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय का पूर्व छात्र है. शरजील उस्मानी साल 2019 में बीजेपी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी की बाबरी से जुड़ी एक तस्वीर पोस्ट करके सुर्खियों में आया था. उस्मानी को उत्तर प्रदेश पुलिस ने 2019 में सीएए-एनआरसी आंदोलन के दौरान एएमयू परिसर के बाहर हुई झड़पों में कथित भूमिका के लिए भी गिरफ्तार किया था.
Published by:naveen lal suri
First published: