अयोध्या: राम मंदिर निर्माण को लेकर साधु-संतों की बैठक, ले सकते हैं बड़ा फैसला

मणिराम दास छावनी में होने वाली इस बैठक की अध्‍यक्षता रामजन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास करेंगे.

News18 Uttar Pradesh
Updated: June 3, 2019, 11:53 AM IST
News18 Uttar Pradesh
Updated: June 3, 2019, 11:53 AM IST
लोकसभा चुनाव के बाद बीजेपी एक बार फिर से प्रचंड बहुमत के साथ केंद्र की सत्‍ता में वापसी की है. इसके साथ ही अयोध्‍या में राम मंदिर निर्माण की कवायद भी तेज हो गई है. अयोध्या में राम मंदिर निर्माण को लेकर संत समाज एक बार फिर मोर्चा खोलने जा रहा है. राम मंदिर निर्माण को लेकर संत समाज सोमवार को बड़ी बैठक करने जा रहा है. मणिराम दास छावनी में होने वाली इस बैठक की अध्‍यक्षता रामजन्मभूमि न्यास अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास करेंगे. कहा जा रहा है कि इस बैठक में संत समाज कोई बड़ा फैसला ले सकता है.

सोमवार को होने वाली इस बैठक में अयोध्या समेत देश के 100 से ज्यादा संत और महंत शामिल होंगे. इसमें विश्‍व हिंदू परिषद के नेता और आरएसएस के पदाधिकारी भी मौजूद रहेंगे. संत समिति के अध्यक्ष महंत कन्हैया दास, रामजन्मभूमि न्यास के वरिष्ठ सदस्य डॉ रामविलास दास वेदांती, रामवल्लभा कुंज के अधिकारी राजकुमार दास, दशरथ महल के बिंदुगद्दाचार्य, रंगमहल के महंत रामशरण दास, लक्ष्मणकिलाधीश महंत मैथिली शरण दास, बड़ा भक्तमाल के महंत अवधेश दास भी इस बैठक में शामिल होंगे.

विहिप के उपाध्यक्ष भी होंगे बैठक में शामिल

विश्व हिंदू परिषद के उपाध्यक्ष चंपत राय, केंद्रीय मंत्री राजेंद्र सिंह भी बैठक में शामिल होंगे. 7 जून से 15 जून तक न्यास अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास के जन्मोत्सव पर राम मंदिर निर्माण पर महत्वपूर्ण चर्चा होगी. वहीं, द्वारका-शारदापीठ एवं ज्योतिषपीठ के शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानन्द सरस्वती ने फिर से मोदी सरकार बनने के बाद उसे पिछला वादा याद दिलाते हुए रविवार को मथुरा में कहा था कि अब इस सरकार को अयोध्या में भव्य एवं दिव्य राम मंदिर की स्थापना करने का वादा जरूर पूरा करना चाहिए.

आपसी सहमति से ही मंदिर का हल

उधर, आज होने वाली बैठक पर अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि ने कहा कि आपसी सहमति से ही मंदिर विवाद का हल निकलेगा हल. उन्होंने कहा कि मंदिर निर्माण की हर सकारात्मक पहल का हम समर्थन करेंगे. साथ ही मंदिर मुद्दे पर आम सहमति और अदालत के फैसले का सम्मान भी करेंगे.

वेदांती ने कहा बीजेपी अपना वादा पूरा करे
Loading...

रामजन्मभूमि न्यास के सदस्य रामविलास वेदांती ने कहा, 'अयोध्या में सिर्फ राम मंदिर ही बनेगा और अब समय आ गया है कि बीजेपी अपना वादा पूरा करे. वेदांती ने कहा कि मध्यस्थता कमेटी के लोगों पर भरोसा नहीं है. उन लोगों का अयोध्या से कोई वास्ता नहीं है. अब बीजेपी कि सरकार दोबारा बनी है और अमित शाह गृह मंत्री बने हैं, जिन्होंने कहा था जब बीजेपी 300 के पार होगी तो मंदिर बनेगा और अब 2020 तक राज्यसभा में भी बीजेपी का बहुमत होगा तो मंदिर पर भी बिल आएगा. जम्मू कश्मीर में भी बीजेपी की सरकार बनेगी तो धारा 370 और 35ए से हटाया जाएगा. राम विलास वेदांती ने कहा आज हमारी बैठक है. बैठक में तय होगा कि आखिर आगे की रणनीति क्या होगी और मंदिर निर्माण के लिए संत क्या करेंगे. और कई मुद्दों पर चर्चा होगी. उन्होंने कहा इकबाल अंसारी जो कह रहे हैं कि ये बैठक सियासी है वह कुछ लोगों के प्रभाव में है, इसीलिए ऐसा बोल रहे हैं. संत अपना काम कर रहे हैं और आगे भी बैठक व सम्मेलन होता रहेगा.

ये भी पढ़ें:

UPSEE 2019: आज शाम 4 बजे जारी होंगे परिणाम, यहां करें चेक

हार के बाद अखिलेश पर 'मुलायम' हुए पिता, बोले- चाचा शिवपाल की कराओ 'घर वापसी'

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अयोध्या से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: June 3, 2019, 10:39 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...