SP पिछड़ा वर्ग प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष ने अयोध्या पहुंच भगवान राम को किया प्रणाम, कही ये बात...
Ayodhya News in Hindi

SP पिछड़ा वर्ग प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष ने अयोध्या पहुंच भगवान राम को किया प्रणाम, कही ये बात...
डॉ. राजपाल कश्यप ने कहा कि वो भगवान राम को प्रणाम करते हैं और उनका सम्मान करते हैं

सोमवार को अयोध्या (Ayodhya) आए पिछड़ा वर्ग प्रकोष्ठ के नवनियुक्त प्रदेश अध्यक्ष डॉ. राजपाल कश्यप ने कहा कि वो भगवान राम (Lord Ram) को प्रणाम करते हैं. साथ ही वो भगवान विष्णु के सभी अवतार- कृष्ण हों या फिर परशुराम, सभी को प्रणाम करते हैं

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 31, 2020, 7:13 PM IST
  • Share this:
अयोध्या. भगवान राम (Lord Ram) को काल्पनिक बताने वाले चौधरी लोटन राम निषाद (Chaudhary Lotan Ram Nishad) को समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने समाजवादी पिछड़ा वर्ग प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष पद से हटाकर विधान परिषद सदस्य और लखनऊ विश्वविद्यालय के पूर्व अध्यक्ष डॉ. राजपाल कश्यप को इसकी कमान सौंपी है. सोमवार को राम नगरी अयोध्या (Ayodhya) आए डॉ. राजपाल कश्यप ने कहा कि वर्ष 2022 में होने वाले यूपी विधानसभा चुनाव के कैंपेन को धार देने के लिए वो यहां आए हैं. उन्होंने मीडिया के सवालों पर कहा कि वो भगवान राम को प्रणाम करते हैं. साथ ही वो भगवान विष्णु के सभी अवतार- कृष्ण हों या फिर परशुराम, सभी को प्रणाम करते हैं.

आगामी विधानसभा चुनाव की तैयारियों का जायजा लेते हुए उन्होंने कहा कि बीजेपी की सरकार को हटाने के लिए दलित बैकवर्ड और सवर्णों ने ठान ली है. वर्ष 2022 में साइकिल दौड़ेगी और अखिलेश यादव दोबारा प्रदेश के मुख्यमंत्री बनेंगे. नवनियुक्त समाजवादी पिछड़ा वर्ग प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि प्रदेश में जंगलराज है. डकैती, हत्या, बलात्कार की बाढ़ सी आ गई है. दलित और बैकवर्ड के साथ अन्याय हो रहा है. यही नहीं जिस विशेष जाति को लेकर बीजेपी ने सरकार बनाई थी उसके साथ भी अन्याय हो रहा है. उन्होंने कहा कि वर्ष 2022 में समाजवादी पार्टी सभी जातियों को एक साथ लेकर विधानसभा चुनाव लड़ेगी और बीजेपी की जमानत जब्त करवाएगी.

बता दें कि बीते 18 अगस्त को अयोध्या पहुंचे चौधरी लौटन राम निषाद ने भगवान राम को काल्पनिक और फिल्मी पात्र बताते हुए उनके अस्तित्व पर सवाल खड़े किए थे. हालांकि उन्होंने कहा था कि यह उनका निजी विचार है. संविधान भी यह मानता है कि राम नाम का कोई व्यक्ति नहीं जन्मा. इसके बाद समाजवादी पार्टी ने उनके खिलाफ कार्रवाई की थी. (कृष्णा शुक्ला की रिपोर्ट)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज