लाइव टीवी

नरेंद्र मोदी 2014 में जब PM बने तो लगा अब बनेगा राम मंदिर: राम विलास वेदांती

Ajeet Singh | News18 Uttar Pradesh
Updated: October 17, 2019, 6:47 PM IST
नरेंद्र मोदी 2014 में जब PM बने तो लगा अब बनेगा राम मंदिर: राम विलास वेदांती
वेदांती ने अयोध्या केस से जुड़े कई मसलों पर न्यूज़ 18 के साथ एक्सक्लूसिव बातचीत की है.

बीजेपी (BJP) के पूर्व सांसद राम विलास वेदांती (Ram Vilas Vedanti) का कहना है कि 2014 में जब नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) देश के प्रधानमंत्री बने थे तभी उन्हें लग गया था कि राम मंदिर अब बनेगा.

  • Share this:
अयोध्या. बीजेपी (BJP) के पूर्व सांसद राम विलास वेदांती (Ram Vilas Vedanti) का कहना है कि वर्ष 2014 में जब नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) पहली बार देश के प्रधानमंत्री बने तभी उन्हें लग गया था कि राम मंदिर अब बनेगा. उन्होंने मंदिर निर्माण न होने पाने के पीछे कांग्रेस को जिम्मेदार ठहराया है. वेदांती ने अयोध्या केस से जुड़े कई मसलों पर न्यूज़ 18 के साथ एक्सक्लूसिव बातचीत की.

क्या बोले राम विलास वेदांती
राम विलास वेदांती का कहना है कि अयोध्या में बाबर के नाम पर कोई चिन्ह नहीं है, कोई घाट नहीं है, कोई थाना नहीं, कोई चौकी नहीं, कोई गांव नहीं, बाबर के नाम पर अयोध्या में कुछ भी नहीं है. जो भी है वो सब कुछ राम के नाम पर है. रामकोट है उनके नाम पर, रामजन्म भूमि थाना है, राम जन्मभूमि पुलिस चौकी है, रामघाट है, राजघाट है, दशरथ घाट है. लेकिन बाबर के नाम पर अयोध्या में कोई निशान नहीं है.

वेदांती ने कहा यह बात मैंने कोर्ट में बताई है और जजों को, अदालत को पता है कि वहां बाबर का कोई चिन्ह नहीं है. वेदांती का दावा है कि नासा से भी पता चला है कि उसके नीचे शिवजी का मंदिर है. सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर जब खुदाई हुई तो उसके नीचे शिव की मूर्ति डमरू के चिन्ह मिले, देवी-देवताओं के चिन्ह मिले, इस्लाम का कोई प्रतीक नहीं मिला.

कांग्रेस पर किया दोषारोपण
कोर्ट में क्या हुआ, कैसे हुआ इस पर वेदांती बोले कि सोनिया गांधी, राहुल गांधी और कपिल सिब्बल यह नहीं चाहते कि यहां मंदिर बने. वेदांती ने जवाहर लाल नेहरू पर भी आरोप लगाते हुए कहा कि वो भी नहीं चाहते थे कि मंदिर बने. इसीलिए बीते 70 साल में कुछ नहीं हुआ. 2014 में जब नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री बने तब लगा कि मंदिर बनेगा. इससे पहले सिर्फ बीजेपी को छोड़कर कोई पार्टी मंदिर का नाम नहीं लेती थी. कांग्रेस तो अब भी नहीं चाहती कि यहां मंदिर बने. कांग्रेस ने धारा 370 और 35A का भी विरोध किया. वेदांती ने कहा कि जम्मू-कश्मीर पर बीजेपी सरकार के कदम का जितना पाकिस्तान ने विरोध नहीं किया, उससे ज्यादा कांग्रेस ने किया. कांग्रेस चाहती है कि हिंदू-मुस्लिम आपस में लड़ें और हम कुर्सी पर बैठे रहें. लेकिन अब वो समय बीत गया है.

भारत को मिला अंतरराष्ट्रीय समर्थन
Loading...

वेदांती ने कहा कि पीएम मोदी के भाषण का समर्थन ट्रंप ने किया तो पाकिस्तान अलग-थलग पड़ गया. चीन के राष्ट्रपति ने कहा कि हम-भारत और पाकिस्तान के बीच में कोई दखलंदाजी नहीं देंगे. यह भारत की बड़ी विजय है.



वेदांती बोले विवादित ढांचा मैंने तोड़वाया
राम विलास वेदांती का कहना है कि उन्होंने विवादित ढांचा तोड़वाया था. उन्होंने कहा कि जब मैंने विवादित ढांचा तोड़वाया था, तब उसमें देवी-देवताओं के मंदिर से संबंधित चीजें मिली थीं, मूर्तियां मिली थीं. लेकिन सुन्नी वक्फ बोर्ड ने इसे नहीं माना. बोर्ड का दावा था कि ये मूर्तियां बाहर से लाई गई हैं. तब कोर्ट से सुन्नी वक्फ बोर्ड ने अदालत में कहा था कि खुदाई में जो मिलेगा उसे हम मानेंगे और कोर्ट के आदेश पर खुदाई हुई. खुदाई के समय रामलला के पक्षकार, निर्मोही अखाड़ा के पक्षकार, सुन्नी वक्फ बोर्ड के पक्षकार वहां रहते थे, सबके सामने वहां खुदाई होती थी, सब कुछ सब के सामने होता था. तस्वीरें ली जाती थीं. सब कुछ सुन्नी वक्फ बोर्ड ने देखा है लेकिन इतना सब कुछ होने के बाद भी बोर्ड के लोग विरोध कर रहे हैं. कपिल सिब्बल, राजीव धवन अपनी रोटी-रोजी चलाने के लिए कांग्रेस की तरफ से व्यवधान उत्पन्न कर रहे हैं जिससे कि अयोध्या में राम मंदिर ना बने.

कोर्ट में गवाही पर बोले वेदांती
वेदांती ने कहा कि वर्ष 2005 में मैंने कोर्ट में जो गवाही दी थी उसमें वेद, पुराणों और शास्त्रों का उदाहरण दिया था. मुझे विश्वास है कि मंदिर निर्माण का फैसला रामलला के पक्ष में जाएगा. वहीं उन्होंने मुस्लिम पक्षक के पैरोकार वकील राजीव धवन के बारे में कहा कि उन्होंने 130 करोड़ जनता का अपमान किया है. बता दें कि धवन ने सुनवाई के दौरान हिंदूमहासभा के वकील द्वारा प्रस्तुत किया गया रामजन्म भूमि का नक्शा फाड़ दिया था. वेदांती ने कहा कि मैं चाहता हूं कि धवन पर मुकदमा दर्ज हो.

ये भी पढ़ें:

UP उपचुनाव के रण में कूदे अखिलेश यादव, 19 अक्टूबर को रामपुर में करेंगे प्रचार

यूपी उपचुनावों में हार के डर से प्रियंका नहीं कर रहीं प्रचार: साध्वी निरंजन

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अयोध्या से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 17, 2019, 6:31 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...