'बड़ा दिल दिखाएं मुसलमान, राम मंदिर के लिए बाबरी मस्जिद का छोड़ दें दावा’

गोसाईगंज के हिंदुओं ने कब्रिस्तान के लिए जमीन दान की है. इसके बाद अब स्थानीय मुस्लिमों का कहना है कि मुस्लिम भी बड़ा दिल दिखाएं और राम मंदिर के लिए बाबरी मस्जिद का दावा छोड़ दें.

News18 Uttar Pradesh
Updated: June 27, 2019, 7:33 AM IST
'बड़ा दिल दिखाएं मुसलमान, राम मंदिर के लिए बाबरी मस्जिद का छोड़ दें दावा’
बाबरी मस्जिद
News18 Uttar Pradesh
Updated: June 27, 2019, 7:33 AM IST
उत्तर प्रदेश के अयोध्या में हिंदुओं की ओर से मुस्लिमों को कब्रिस्तान के लिए जमीन दान करने का मामला सामने आया है. इसके बाद स्थानीय मुस्लिमों ने भी कहा कि मुस्लिम भी बड़ा दिल दिखाएं और राम मंदिर के लिए बाबरी मस्जिद का दावा छोड़ दें. गोसाईगंज के स्थानीय मुस्लिमों का कहना है कि इस कदम से समाज में अच्छा संदेश जाएगा. स्थानीय मुसलमानों ने कहा कि अयोध्या में राम मंदिर बनना चाहिए, लेकिन यह स्वेच्छा और सहयोग से बने.

वहीं, स्थानीय मुस्लिमों ने आरोप लगाया कि राजनीतिक पार्टियां इस मामले का समाधान नहीं होने देना चाहती हैं. मंदिर समर्थक बबलू खान ने कहा कि जैसे बड़े भाई ने छोटे भाई को कब्रिस्तान की जमीन दी है, वैसे ही छोटा भाई भी बड़ा दिल दिखाएं और बाबरी मस्जिद पर अपना दावा छोड़ दें. मुसलमान इसे मान-सम्मान का मामला न बनाए. राम मंदिर करोड़ों हिंदू भाइयों की आस्था का गवाह है.

विवादित जमीन को हिंदुओं ने कब्रिस्तान के लिए मुस्लिमों को दान कर दिया है.


बबलू खान ने आगे कहा कि मुस्लिम भाइयों से अपील है वे आगे बढ़ें और राम मंदिर के निर्माण में अपना हाथ बढ़ाएं. गौरतलब है कि अयोध्या के गोसाईगंज इलाके के गांव बेलवारी खान गांव में हिंदुओं ने कब्रिस्तान के लिए अपनी जमीनें मुस्लिमों के लिए दान कर दी है.

दशकों से था जमीन का विवाद

गौरतलब है कि गोसाईंगंज विधानसभा क्षेत्र अंतर्गत बेलारीखान गांव में बीजेपी विधायक इंद्रप्रताप तिवारी की पहल पर यहां दोनों समुदायों के बीच दशकों से दुश्मनी की वजह बनी एक जमीन को कब्रिस्तान के लिए मुस्लिमों को दे दिया गया. 20 जून को स्थानीय संत सूर्य कुमार झींकन महाराज और अन्य आठ लोगों ने 1.25 विसवा जमीन की रजिस्ट्री कब्रिस्तान कमेटी के पक्ष में कराकर इस दुश्मनी को हमेशा के लिए खत्म कर दिया है.

ये भी पढ़ें: तो अब मुसलमानों को बीजेपी का खौफ दिखाकर नहीं ले सकते वोट!
First published: June 27, 2019, 4:50 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...