लाइव टीवी
Elec-widget

बाबरी मस्जिद के मुद्दई इकबाल अंसारी ज़मीन लेने के लिए तैयार, बनवाएंगे स्कूल और अस्पताल

News18 Uttar Pradesh
Updated: November 12, 2019, 4:10 PM IST
बाबरी मस्जिद के मुद्दई इकबाल अंसारी ज़मीन लेने के लिए तैयार, बनवाएंगे स्कूल और अस्पताल
बाबरी मस्जिद के पक्षकार इक़बाल अंसारी

इकबाल अंसारी (Iqbal Ansari) ने कहा कि कोर्ट के फैसले के बाद हिंदू-मुस्लिम के बीच पैदा हुई नफरत खत्म हो गई. अब नहीं चाहते कि हिंदुस्तान में अफरा-तफरी का माहौल हो.

  • Share this:
अयोध्या. सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) के फैसले के बाद मस्जिद (Mosque) के लिए दी जाने वाली 5 एकड़ जमीन को लेकर बाबरी मस्जिद (Babri Mosque) के पक्षकार रहे इकबाल अंसारी (Iqbal Ansari) ने बड़ा बयान दिया है. इकबाल अंसारी ने कहा कि अगर सरकार हमें जमीन देती है तो हम वहां स्कूल (School) और हॉस्पिटल (Hospital) बनवाएंगे. इकबाल अंसारी ने कहा कि कोर्ट के फैसले के बाद हिंदू-मुस्लिम के बीच पैदा हुई नफरत खत्म हो गई. अब नहीं चाहते कि हिंदुस्तान में अफरा-तफरी का माहौल हो. बता दें कि मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड और सुन्नी वक्फ बोर्ड ये ज़मीन लेने से इनकार कर चुका है.

न्यूज18 से ख़ास बातचीत में इकबाल अंसारी ने कहा कि कोर्ट का फैसला था हमने सम्मान किया. हमने कहा था कोर्ट जो भी फैसला करेगा उसका सम्मान करेंगे. कोर्ट ने मस्जिद के लिए जमीन दी है. कहां दी है यह नहीं पता है. अगर हमें बुलाया जाएगा तो फिर हम इस पर अपनी कोई रणनीति बताएंगे. उन्होंने कहा कि हिंदू-मुसलमान के बीच में नफरत पैदा थी, वह इस फैसले के साथ खत्म हुई और अब हम नहीं चाहते कि अब आगे कोई नफरत हिंदू-मुस्लिम के बीच हो. कोर्ट ने जो आदेश दिया है उसके मुताबिक हमें जमीन मिलनी चाहिए. पीएम मोदी और सीएम योगी की सरकार है, देश में अमन शांति रही है, वैसे ही आगे भी रहेगी. उन्होंने कहा हमारे यहां मस्जिद और मदरसे की जरूरत है. सरकार हमें जमीन देती है तो हम स्कूल और हॉस्पिटल बनाएंगे.

मदरसा बनाकर दें
इकबाल अंसारी ने कहा, "हम चाहते हैं कि इसमें अब कोई नया मोड़ ना आए. हिंदुस्तान में कोई अफरा-तफरी का माहौल ना हो. हम सरकार से मांग करेंगे कि हमें मदरसा बना कर दे."

जमीन 67 एकड़ अधिग्रहित भूमि से ही चाहिए
इससे पहले इकबाल अंसारी ने मांग की थी मुस्लिमों को दी जाने वाली जमीन सरकार द्वारा अधिकृत 67 एकड़ की जमीन से ही दी जानी चाहिए. बता दें केंद्र सरकार ने 1991 में विवादित स्थल समेत यह 67 एकड़ जमीन अधिग्रहित की थी. अंसारी ने कहा, ‘अगर वे हमें जमीन देना चाहते हैं, तो हमें हमारी सुविधा के मुताबिक दी जानी चाहिए और वह 67 एकड़ अधिग्रहित जमीन में से ही होनी चाहिए. तब हम यह लेंगे. अन्यथा हम इस पेशकश को ठुकरा देंगे, क्योंकि लोग कह रहे हैं चौदह कोस से बाहर जाओ और वहां मस्जिद बनाओ, यह उचित नहीं है."

(इनपुट: निमिष गोस्वामी)
Loading...

ये भी पढ़ें:

इकबाल अंसारी की मांग- अधिग्रहित 67 एकड़ भूमि में से ही दी जाए बाबरी मस्जिद के लिए 5 एकड़ जमीन

सीएम योगी आदित्यनाथ को राम मंदिर ट्रस्ट में शामिल करने की उठी मांग

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अयोध्या से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 12, 2019, 3:37 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com