लाइव टीवी

अयोध्या पर फैसले को लेकर लोगों के मन में आशंकाएं, DM ने किया आश्वस्त, कहा- निश्चिंत रहें

News18 Uttar Pradesh
Updated: November 7, 2019, 11:53 AM IST
अयोध्या पर फैसले को लेकर लोगों के मन में आशंकाएं, DM ने किया आश्वस्त, कहा- निश्चिंत रहें
अयोध्या में जमीन विवाद पर फैसले से पहले माहौल में असहज शांति है. (Photo: Qazi Faraz Ahmad)

अयोध्या (Ayodhya) जिला प्रशासन की तरफ से सभी अयोध्यावासियों को आश्वस्त किया गया है कि परेशान या घबराने की जरूरत नहीं है.

  • Share this:
अयोध्या. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के अयोध्या में रामजन्मभूमि-बाबरी मस्जिद भूमि विवाद (Ayodhya Dispute) पर सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) के फैसले से पहले असहज शांति का माहौल है. लोगों के मन में इसको लेकर तरह-तरह की आशंकाएं हैं. उन्हें यह फिक्र सता रही है कि फैसले को लेकर सुरक्षा व्यवस्था और तमाम संगठनों की तैयारी के चलते उनकी आम जिंदगी न प्रभावित न हो जाए. किसी को फैसले के बाद माहौल खराब होने का डर है और वो अपने परिवर की सुरक्षा में लगा है, वहीं किसी को इस दौरान घर में होने वाली शादियों की फिक्र है. कुछ लोगों ने खाने-पीने और घर की जरूरत का अन्य सामान जमा करना शुरू कर दिया है. उधर जिला प्रशासन की तरफ से सभी अयोध्यावासियों को आश्वस्त किया गया है कि उन्हें परेशान या घबराने की जरूरत नहीं है.

किसी को भी कोई शंका है तो प्रशासन से करे संपर्क

जिलाधिकारी (डीएम) अनुज झा ने कहा कि कुछ लोगों द्वारा आशंकाएं व्यक्त की जा रही हैं कि शादियां नहीं हो पाएंगीं या दूसरे जो कार्यक्रम हैं, वो नहीं आयोजित हो पाएंगे. उनकी आशंकाओं का समाधान हमने किया है, हम सभी को आश्वस्त करते हैं कि लोगों को कोई व्यक्तिगत कार्यक्रमों में कोई अड़चन आने नहीं दी जाएगी. अगर किसी को कोई समस्या या शंका है, तो वो इसे लेकर प्रशासन से संपर्क कर सकता है.

Ayodhya DM
डीएम अनुज झा ने कहा कि कुछ लोगों द्वारा आशंकाएं व्यक्त की जा रही है कि शादियां नहीं हो पाएंगीं या दूसरे जो कार्यक्रम हैं, नहीं आयोजित हो पाएंगे. उनकी आशंकाओं का समाधान हमने किया है


फैसले को लेकर हमारी तैयारी पूरी

डीएम ने कहा कि अयोध्या में धारा 144 लागू है. प्रशासन ने आने वाली कार्तिक पूर्णिमा स्नान, मेला के अलावा श्रद्धालुओं का आवागमन, स्कूल, अस्पताल आदि के संचालन को सुचारू रखने की तैयारी कर ली है. उन्होंने कहा कि अयोध्या में जीवन सामान्य है और प्रशासन की पूरी कोशिश है कि स्थिति सामान्य ही रहे. किसी भी स्थिति में बिना लोगों को परेशान किए या अफरा-तफरी के निपटने की व्यवस्था की गई है.



उधर अयोध्या में ही मिठाई की दुकान चलाने वाले एक व्यापारी कहते हैं कि अर्से से हम यहां दुकान चला रहे हैं. हमें भारी सुरक्षा व्यवस्था की आदत हो चुकी है लेकिन कहीं न कहीं इस फैसले को लेकर आशंका है. वो कहते हैं कि इतना तो तय है कि अगर कोई भी गड़बड़ी हुई तो वो कोई बाहरी ही करेगा, अयोध्यावासियों को इससे कोई लेना-देना नहीं है.

1992 में लुटी थी दुकान, परिवार को बाहर भेजा था

अयोध्या में ही खड़ाऊ बेचने वाले मोहम्मद इस्माइल कहते हैं कि वो बस शांति चाहते हैं. उन्हें फैसले से कोई मतलब नहीं है. इस्माइल कहते हैं कि वर्ष 1992 में उनकी दुकान लूट ली गई थी, स्थिति ये हो गई थी कि कर्फ्यू के कारण उनके परिवार को कई दिन तक भूखे रहना पड़ा था. ऐसे समय पड़ोसियों ने उनकी सहायता की थी. वो कहते हैं कि इस बार हमने कोर्ट के फैसले के बाद किसी भी आशंका को देखते हुए अपने परिवार के सदस्यों को अयोध्या के बाहर रिश्तेदारों के घर भेज दिया है. वो कहते हैं कि वो भी स्थिति पर नजर रखे हुए हैं और अगर कुछ माहौल बिगड़ता है तो वो भी यहां से निकल जाएंगे. वहीं दुराही कुआं इलाके में रहने वाले एक मुस्लिम परिवार ने बताया कि 1992 के बाद स्थिति काफी बदल चुकी है. उन्हें प्रशासन की सुरक्षा व्यवस्था पर पूरा भरोसा है. वो कहते हैं कि हम कहां जाएंगे? यही हमारा घर है.

(इनपुट: काजी फराज अहमद)

ये भी पढ़ें:

अयोध्या फैसले से पहले अम्बेडकरनगर में बनाई गई आठ अस्थाई जेल

नमामि गंगे प्रोजेक्ट में देरी के जिम्मेदार अफसरों-ठेकेदार पर दर्ज हो FIR: CM

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अयोध्या से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 7, 2019, 11:25 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...