लाइव टीवी

अयोध्या में राम मंदिर के अलावा और कुछ नहीं चाहिए: BJP नेता विनय कटियार

News18 Uttar Pradesh
Updated: November 5, 2019, 3:27 PM IST
अयोध्या में राम मंदिर के अलावा और कुछ नहीं चाहिए: BJP नेता विनय कटियार
अयोध्या में राममंदिर के अलावा और कुछ नहीं चाहिए (फाइल फोटो)

मुस्लिम संगठनों के फैसले के बाद विकल्प वाले बयान पर विनय कटियार कहते हैं कि उनको पूरी आजादी है, क्योकि ये लोग तो रोज मस्जिदों में मीटिंग करते है. वरिष्ठ भाजपा नेता ने कहा कि आतंकियों को सुरक्षा कौन देता है ये सबको पता है.

  • Share this:
अयोध्या. दशकों पुराने रामजन्मभूमि (Ram Janambhoomi) और बाबरी मस्जिद (Babri Mosque) जमीन विवाद (Property) पर सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) का फैसला इसी माह आने की उम्मीद है. इस कड़ी में राममंदिर पर फैसले से पहले मंगलवार को बीजेपी के वरिष्ठ भाजपा नेता एवं पूर्व राज्यसभा सदस्य विनय कटियार ने कहा कि अयोध्या में राम मंदिर के अलावा और कुछ नहीं चाहिए. वहीं अयोध्या में सुरक्षा इंतज़ाम और धारा 144 पर कटियार ने कहा सुरक्षा के इंतजाम जरूरी है, लेकिन घोर नाकेबंदी का विरोध करता हूं. उन्होंने कहा कि सुरक्षा के नाम पर अयोध्यावासियों को परेशानी ना हो.

आतंकियों को सुरक्षा कौन देता है...

मुस्लिम संगठनों के फैसले के बाद विकल्प वाले बयान पर विनय कटियार कहते हैं कि उनको पूरी आजादी है, क्योकि ये लोग तो रोज मस्जिदों में मीटिंग करते है. वरिष्ठ भाजपा नेता ने कहा कि आतंकियों को सुरक्षा कौन देता है ये सबको पता है. वहीं दिल्ली में सुरक्षा हटाने पर अपने ऊपर हमले की आशंका जाहिर करते हुए कटियार ने कहा ये दुर्भाग्यपूर्ण है. कल को मेरे साथ भी कुछ होता है तो इसका जिम्मेदार कौन होगा. उन्होंने कहा कि सरकारें सिर्फ मरने के बाद मुआवजा देती हैं.

सीएम योगी ने की थी अपील

इससे पहले बीते 26 अक्टूबर को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी साधु-संतों से ऐसी ही अपील कर चुके हैं. अखिल भारतीय अखाड़ा परिषग के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरी ने लखनऊ के सीएम आवास पांच कालीदास मार्ग पर सीएम योगी से मुलाकात की थी. इस दौरान दोनों के बीच अयोध्या विवाद को लेकर सुप्रीम कोर्ट से आने वाले संभावित फैसले पर चर्चा हुई थी. जिसके बाद नाथ संप्रदाय के महंत सीएम योगी आदित्यनाथ ने भी सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने पर साधु-संतों से संयम बरतने की अपील की थी.

40 दिन तक चली सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई

बता दें कि अयोध्या विवाद पर सुप्रीम कोर्ट में 40 दिन से ज्यादा नियमित सुनवाई चली थी जिसमें सभी पक्षों की दलीलें सुनने के बाद चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली पांच जजों की संवैधानित पीठ ने अयोध्या विवाद पर फैसला रिजर्व रख लिया था. रंजन गोगोई चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया पद से इसी साल 17 नवंबर को रिटायर हो रहे हैं. उनके रिटायरमेंट से पहले अयोध्या विवाद पर फैसला आने की उम्मीद है. जिस पर पूरे देश और दुनिया के लोगों की निगाहें लगी हुई हैं.
Loading...

रिपोर्ट- पवन गौर

ये भी पढे़ं:

UPPCL PF घोटाला: सीएम योगी बोले-अबकी बार, भ्रष्टाचार की जड़ पर प्रहार

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अयोध्या से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 5, 2019, 3:26 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...