Home /News /uttar-pradesh /

bjp mp brij bhushan sharan singh iqbal ansari opposeing raj thackeray ayodhya visit nodark

राज ठाकरे का बढ़ रहा विरोध, MP बृजभूषण शरण सिंह के बाद अंसारी बोले-पहले मांगें माफी, फिर अयोध्‍या में एंट्री

भाजपा सांसद बृजभूषण शरण सिंह के बाद इकबाल अंसारी भी राज ठाकरे के अयोध्या दौरे के विरोध में कूद गए हैं.

भाजपा सांसद बृजभूषण शरण सिंह के बाद इकबाल अंसारी भी राज ठाकरे के अयोध्या दौरे के विरोध में कूद गए हैं.

Raj Thackeray: महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के चीफ राज ठाकरे के अयोध्या दौरे को लेकर विरोध बढ़ता जा रहा है. अयोध्‍या के साधु संतों और कैसरगंज के बाहुबली भाजपा सांसद बृजभूषण शरण सिंह के बाद बाबरी पक्ष के पक्षकार रहे इकबाल अंसारी भी मनसे प्रमुख के अयोध्या दौरे के विरोध में कूद गए हैं. अंसारी ने कहा कि राज ठाकरे पहले यूपी के लोगों से माफी मांगें, तभी अयोध्‍या में एंट्री होगी.

अधिक पढ़ें ...

अयोध्या. महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के चीफ राज ठाकरे के 5 जून को होने वाले अयोध्या दौरे को लेकर विरोध बढ़ता जा रहा है. अयोध्या के साधु संत और कैसरगंज के बाहुबली भाजपा सांसद बृजभूषण शरण सिंह का कहना है कि राज ठाकरे पहले उत्तर भारतीयों से माफी मांगे और फिर अयोध्‍या आएं. इस बीच बाबरी पक्ष के पक्षकार रहे इकबाल अंसारी भी मनसे प्रमुख के अयोध्या दौरे के विरोध में कूद गए हैं. उन्‍होंने कहा कि यूपी के लोगों के साथ महाराष्ट्र में बीते दिनों दुर्व्यवहार और अपमानजनक शब्दों का प्रयोग किया गया था. अगर उत्तर प्रदेश की धर्म नगरी अयोध्या में मनसे प्रमुख आना चाहते हैं तो पहले उन्हें माफी मांगनी पड़ेगी.

इसके साथ इकबाल अंसारी ने कहा कि कैसरगंज के सांसद बृजभूषण शरण सिंह हमारे बड़े भाई हैं और उनकी मांग एकदम जायज है. हम उनके साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़े हैं और अयोध्या में राज ठाकरे को प्रवेश नहीं करने देंगे. इसके साथ उन्‍होंने कहा कि हम राज ठाकरे का विरोध कर रहे संत समाज के साथ खड़े हैं.

इकबाल अंसारी ने कही ये बात

न्यूज़ 18 से बात करते हुए इकबाल अंसारी ने कहा कि यह धर्म नगरी है और यहां का संत समाज राज ठाकरे के आगमन को लेकर नाराज है. इसके साथ उन्‍होंने सांसद बृजभूषण शरण सिंह का समर्थन करते हुए कहा कि बड़े भाई बृजभूषण सिंह भी उनके अयोध्या दौरे से नाराज हैं. ऐसे में राज ठाकरे अपना दौरा कैंसिल करें. इकबाल अंसारी ने तर्क दिया कि अयोध्या धर्म की नगरी है, यह राजनीति का अखाड़ा नहीं है. अगर राज ठाकरे यहां मठ मंदिर और सरयू के दर्शन करना चाहते हैं, तो आम जनमानस की तरह आएं. साथ ही कहा कि अगर संत समाज उनका विरोध कर रहा है तो हम भी संत समाज के साथ हैं. इकबाल अंसारी ने कहा कि महाराष्ट्र में उत्तर भारतीयों के साथ बदसलूकी को लेकर संत समाज नाराज है. पहले राज ठाकरे उत्तर भारतीयों से माफी मांगे तभी उनको अयोध्या में प्रवेश करने दिया जाएगा.

चाचा और भतीजे के दौरे को लेकर हो रही सियासत

बता दें कि शिवसेना नेता और महाराष्‍ट्र के कैबिनेट मंत्री आदित्य ठाकरे और मनसे प्रमुख राज ठाकरे का अयोध्या दौरान जून में प्रस्तावित है. दोनों नेताओं के दौरे को लेकर अयोध्या में दोनों ही पार्टियों की तरफ से पोस्टर से सवाल जवाब किए जा रहे हैं. मनसे प्रमुख के आगमन को लेकर अयोध्या की सड़कों पर लगाए गए पोस्‍टरों में लिखा है, ‘राजतिलक की करो तैयारी आ रहे हैं भगवाधारी’, तो दूसरी तरफ शिवसेना ने लिखा, ‘असली आ रहे हैं नकली से सावधान.’ वहीं, ठाकरे परिवार का आपसी मनमुटाव अब राम नगरी की सड़कों पर पोस्‍टरों के माध्‍यम से देखने को मिल रहा है.

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर