Home /News /uttar-pradesh /

chaturmas 2022 start form 10 july everything you need to know nodark

Chaturmas: 10 जुलाई से शुरू हो रहा है चातुर्मास, इन 4 राशियों पर रहेगी भगवान विष्णु की विशेष कृपा

Chaturmas 2022: चातुर्मास की शुरुआत आषाढ़ माह की शुक्ल पक्ष की एकादशी यानी 10 जुलाई से हो रही है, जो कार्तिक माह के शुक्ल पक्ष की एकादशी तक रहेगा. ज्योतिषाचार्य पंडित कल्कि राम के मुताबिक, इस बार के चातुर्मास में 4 राशियों पर भगवान विष्णु की विशेष कृपा रहेगी.

अधिक पढ़ें ...

रिपोर्ट-सर्वेश श्रीवास्तव

अयोध्या. चातुर्मास (Chaturmas) की शुरुआत आषाढ़ माह की शुक्ल पक्ष की एकादशी यानी 10 जुलाई से हो रही है, जो कार्तिक माह के शुक्ल पक्ष की एकादशी तक रहेगा. धार्मिक मान्यता है कि जगतपति भगवान विष्णु 4 महीनों तक क्षीरसागर में शयन करते हैं, जिसकी वजह से आगामी इन 4 महीनों तक कोई भी मांगलिक कार्य जैसे मुंडन संस्कार, विवाह, तिलक, यज्ञोपवीत आदि नहीं होते हैं. ज्योतिषाचार्य के मुताबिक, 10 जुलाई से चातुर्मास आषाढ़ माह की शुक्ल पक्ष के एकादशी को लग रहा है. यह चार माह अत्यंत पवित्र माने जाते हैं.

इसके अलावा इस बार के चातुर्मास में 4 राशियों पर भगवान विष्णु की विशेष कृपा रहेगी. चातुर्मास में सावन का माह भी आता है. बड़े-बड़े संत मुनि ऋषि इस चतुर्मास में कठिन तपस्या भी करते हैं

जानिए इन 4 राशियों पर रहेगी भगवान विष्णु की कृपा
वृश्चिक राशि (Scorpio)- ज्योतिष के अनुसार वृश्चिक राशि वालों पर चातुर्मास में भगवान विष्णु की विशेष कृपा रहेगी जो किसी वरदान से कम नहीं साबित होगी. व्यापार और नौकरी करने वालों को सफलता मिलेगी. व्यापार में अचानक आर्थिक लाभ प्राप्त होगा और परिवार में खुशी का माहौल बना रहेगा.

मेष राशि (Aries)- मेष राशि के जातकों के लिए चातुर्मास बहुत शुभ रहने वाला है. इस समय मेष राशि वालों को अपने सभी कार्यों में अपार सफलता मिलेगी. इस माह भगवान विष्णु की आराधना से भाग्य के दरवाजे खुल जाएंगे.

धनुराशि (Sagittarius)- धनुराशि वालों के लिए चातुर्मास बेहद खास रहने वाला है. इस दौरान अटके हुए सभी कार्य मंगलमय के साथ पूर्ण होंगे. हालांकि नौकरी पेशा लोगों को तरक्की के लिए इंतजार करना पड़ सकता है.

मीन राशि (Pisces)- ज्योतिष के अनुसार मीन राशि के जातकों पर चातुर्मास अच्छा प्रभाव डालेगा. कारोबार में धन लाभ का योग बन रहा है. परिवार में मनमुटाव भी हो सकता है, इसलिए भगवान विष्णु की पूजा अर्चना जरूर करें.

जानिए क्या होता है चातुर्मास
ज्योतिषाचार्य पंडित कल्कि राम बताते हैं कि आषाढ़ माह, श्रावण, भादो और कार्तिक माह तक भगवान विष्णु क्षीरसागर में शयन करते हैं. इन 4 महीनों में सृष्टि की देखभाल भगवान शंकर करते हैं. चतुर माशा का अर्थ होता है चार माह. तमाम ग्रह गोचर की दृष्ट बदलती रहती है, इसलिए इन 4 महीनों में पवित्र कार्य नहीं होते हैं.

Tags: Ayodhya News, Chaturmas

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर