लाइव टीवी

वायरल स्टिंग ऑपरेशन के बाद बाबरी मस्जिद के पैरोकार हाजी महबूब के खिलाफ देशद्रोह की तहरीर

News18 Uttar Pradesh
Updated: October 3, 2019, 2:15 PM IST
वायरल स्टिंग ऑपरेशन के बाद बाबरी मस्जिद के पैरोकार हाजी महबूब के खिलाफ देशद्रोह की तहरीर
परमहंस दास ने दी है तहरीर

इस तहरीर में महंत परमहंस दास ने पूर्व में हुए एक निजी चैनल के स्टिंग के वायरल वीडियो के आधार पर राष्ट्रद्रोह का मुकदमा पंजीकृत करने की गुहार लगाई है.

  • Share this:
अयोध्या. बाबरी मस्जिद (Babri Mosque) और राम मंदिर (Ram Temple) प्रॉपर्टी विवाद (Property Dispute) की सुनवाई रोजाना सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) में जारी है. 18 अक्टूबर तक बहस खत्म करने की डेडलाइन भी तय हो चुकी है और नवंबर तक फैसला आने की उम्मीद भी जगी है. लेकिन इसी बीच बाबरी मस्जिद के पैरोकार हाजी महबूब (Litigant Hazi Mehboob) के ऊपर राम मंदिर समर्थक तपस्वी छावनी के महंत परमहंस दास (Paramhans Das) ने गंभीर आरोप लगाते हुए कोतवाली अयोध्या में तहरीर दी है. इस तहरीर में उन्होंने पूर्व में हुए एक निजी चैनल के स्टिंग के वायरल वीडियो के आधार पर राष्ट्रद्रोह का मुकदमा पंजीकृत करने की गुहार लगाई है. कहा जा रहा है कि चैनल के स्टिंग ऑपरेशन में हाजी महबूब कथित तौर पर 6 दिसंबर 1992 को कारसेवकों पर बम फेंकने की बात स्वीकार करते नजर आ रहे हैं. इस वीडियो में हाजी महबूब ये भी कहते नजर आ रहे हैं कि अगर सुप्रीम कोर्ट का जजमेंट भी हिन्दुओं के पक्ष में आया तो वे अयोध्या में एक ईंट भी नहीं रखने देंगे.  इस वीडियो के आधार पर राम मंदिर समर्थक परमहंस दास ने तहरीर दी है.

मुकदमा दर्ज नहीं हुआ तो जाऊंगा कोर्ट

परमहंस दास ने कहा कि उस वीडियो में कई बातें कहते हाजी महबूब नजर आए हैं. परमहंस दास ने उनके ऊपर हमला बोलते हुए कहा कि हाजी महबूब ने न्यायपालिका पर भी प्रश्नचिन्ह उठाया. उन्होंने कहा कि वीडियो में हाजी महबूब 1992 में कारसेवकों पर बम से हमला करने की बात स्वीकार की है. इस वीडियो के आधार पर उनके ऊपर कार्यवाई के लिए मैंने तहरीर दी है. यदि कोतवाली में मुकदमा दर्ज नहीं होता तो फिर वह कोर्ट के माध्यम से हाजी महबूब के ऊपर मुकदमा दर्ज कराएंगे. दरअसल, यह वीडियो एक निजी चैनल ने 6 माह पूर्व चलाया था. इस कथित स्टिंग वीडियो में हाजी महबूब बाबरी विध्वंस के समय कई अहम बात कहते नजर आए हैं.

हाजी महबूब ने आरोपों को नकारा

पुलिस ने भी इस बात को स्वीकारा है कि उन्हें परमहंस दास की तरफ से तहरीर मिली है. पुलिस अब मामले में जांच की बात कह रही है. उधर बाबरी मस्जिद के पैरोकार पक्षकार हाजी महबूब का कहना है कि 27 वर्ष पूर्व की घटना है. उन्होंने अपने ऊपर लगे आरोपों को सिरे से नकारते हुए कहा कि संत परमहंस अपने आपको मीडिया में हाईलाइट करने के लिए यह कार्य कर रहे हैं. यदि 1992 में बम चला होता तो हजारों लोगों की मौतें होती। एक सिंगल कैजुअल्टी नहीं हुई. यह बात गलत है.

(रिपोर्ट: निमिष गोस्वामी)

ये भी पढ़ें-
Loading...

कांग्रेस विधायक अदिति समेत सपा-बसपा के विधायकों के बीजेपी में जाने की अटकलें

परेश रावल ने मांगी माफी तो डॉ कफील खान ने दिया ये जवाब

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अयोध्या से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 3, 2019, 2:15 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...