Home /News /uttar-pradesh /

Ayodhya News: संतों और प्रसाद विक्रेताओं के बीच जमकर विवाद, सड़क पर फेंके लड्डू

Ayodhya News: संतों और प्रसाद विक्रेताओं के बीच जमकर विवाद, सड़क पर फेंके लड्डू

हनुमानगढ़ी में संत और प्रसाद विक्रेताओं के बीच विवाद.

हनुमानगढ़ी में संत और प्रसाद विक्रेताओं के बीच विवाद.

UP news: अयोध्या के हनुमानगढ़ी  (Hanumangarhi) में संतों और प्रसाद विक्रेताओं के बीच जमकर विवाद हुआ. साधुओं ने आरोप लगाया कि खराब क्वालिटी का चढ़ावा बेचा जा रहा था.

अयोध्या. यूपी के अयोध्या (Ayodhya)  में बुधवार को हनुमानगढ़ी (Hanumangarhi) के साधु और संत और प्रसाद विक्रेता आमने-सामने हो गए. हनुमानगढ़ी के प्रसाद विक्रेताओं पर घटिया किस्म के लड्डू निर्माण का आरोप लगाने के बाद कुछ साधु संतों ने लड्डू के थाल को सड़कों पर फेंक दिया और प्रसाद विक्रेताओं से अभद्रता की. इसके बाद आक्रोशित प्रसाद विक्रेताओं ने अयोध्या की सभी प्रमुख दुकानें बंद करा दी. बताया जाता है कि विवाद के दौरान मौके पर पुलिस भी मौजूद थी. पुलिस के सामने ही संत लड्डू को सड़क पर फेंक रहे थे. इसके बाद विवाद बढ़ा. दरअसल, लॉकडाउन (Lockdown) से ही प्रशासन ने हनुमानगढ़ी मंदिर पर प्रसाद और फूल चढ़ाने पर प्रतिबंध लगा दिया था. कल गद्दी नशीन के द्वारा प्रसाद फिर चढ़ाए जाने को लेकर मंदिर में पुजारियों को निर्देशित किया गया था.  इस पर पुजारियों ने प्रसाद की गुणवत्ता पर प्रश्नचिन्ह उठाते हुए प्रसाद चढ़ाने पर रोक बरकरार रखी. इसके बाद आज सुबह मंदिर का मुख्य फाटक बंद करा दिया गया जिससे श्रद्धालुओं को दर्शन पूजन नहीं मिला. सूचना पर पहुंची जिला प्रशासन के मनाने के बाद मंदिर का पट खोला गया और प्रसाद चढ़ाए जाना शुरू हुआ.



इसी बीच संतों का एक गुट प्रसाद विक्रेताओं पर गुणवत्ता को लेकर आरोप लगाते हुए रखे हुए प्रशाद को सड़कों पर फेंकने लगा. इसके बाद प्रशासन ने बड़ी मुश्किल से संतों को मनाया. तब तक व्यापारी भी आक्रोशित हो गए थे. व्यापारियों ने अयोध्या के सभी प्रमुख दुकानों को बंद करना शुरू कर दिया. मौके पर पहुंचे जिला प्रशासन के लोग व्यापारी और साधु-संतों में सामंजस्य स्थापित करने का प्रयास करते रहे. पुलिस ने लाउडस्पीकर के जरिए दुकानों को फिर से खोलने की अपील भी की.

महंत गौरी शंकर दास ने दिया बड़ा बयान

राष्ट्रीय महासचिव निर्वाणी अनी अखाड़ा के महंत गौरी शंकर दास ने बताया कि मंदिर में किसी तरीके का कोई विवाद नहीं था. हनुमानगढ़ी में पंचायती व्यवस्था आज भी लागू है और उस पंचायती बातों की वजह से ही ताला बंद किया गया था. कोरोना काल में लड्डू नहीं चढ़ाया जा रहा था. इस पर आपस में विचार विमर्श किया गया. आपस में बात होने के पश्चात प्रसाद चढ़ाए जाने पर सहमति बनी है. लेकिन प्रसाद विक्रेता निम्न क्वॉलिटी के खराब प्रसाद की बिक्री कर रहे हैं.
वहीं व्यापारियों ने आरोप लगाते हुए कहा कि अयोध्या के कुछ तथाकथित साधु-संतों द्वारा जिला प्रशासन की मौजूदगी में हनुमानगढ़ी पर बैठक हो रही थी. जब से हनुमानगढ़ी संचालित है तब से हनुमान जी को लगने वाला भोग लड्डू के रूप में चढ़ाया जाता है. वर्चस्व को लेकर यह पूरा मामला हुआ है. कुछ अयोध्या के संत यह चाहते हैं कि हनुमानगढ़ी पर लड्डू का भोग न लगे बल्कि नगद रुपए चढ़ाया जाए.

Tags: Hanuman mandir, Viral Photo

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर