होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /

Ayodhya: रामभक्तों के लिए खुशखबरी, काशी की तरह अयोध्या में चलेगा लग्जरी 'क्रूज'

Ayodhya: रामभक्तों के लिए खुशखबरी, काशी की तरह अयोध्या में चलेगा लग्जरी 'क्रूज'

अयोध्या में जल्द क्रूज चलाने की तैयारी में  योगी सरकार.

अयोध्या में जल्द क्रूज चलाने की तैयारी में योगी सरकार.

Ayodhya News: अयोध्या विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष विशाल सिंह ने बताया कि सरयू में क्रूज चलाए जाने की तैयारी हो चुकी है. काशी में क्रूज को संचालित करने वाले विकास मालवीय से बातचीत चल रही है. कोरोना के कारण इस प्रोजेक्ट में थोड़ा विलंब हुआ है. लेकिन अब क्रूज को बनाने के लिए ऑर्डर भी दिया जा चुका है. इसमें विशेष बात यह है कि क्रूज का निर्माण भी अयोध्या में ही किया जाएगा. इसके लिए विकास मालवीय की तरफ से जो आवश्यक भूमि की डिमांड की गई थी, वह भी आवंटित की जा रही है.

अधिक पढ़ें ...

हाइलाइट्स

सरयू में क्रूज चलाने की तैयारी में योगी सरकार
पूर्णतः प्रदूषण रहित होगा क्रूज

अयोध्या: अयोध्या में राम मंदिर निर्माण का कार्य तेजी से चालू है. हाल ही में 5 अगस्त को राम मंदिर की भूमि पूजन को हुए दो साल हो गए हैं. 5 अगस्त 2020 को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने राम मंदिर का भूमि पूजन किया था. मंदिर निर्माण के साथ, अयोध्या के लगातार विकास का कार्य भी चालू है. अयोध्या में अब वाराणसी की तर्ज पर क्रूज चलाये जाने का निर्णय भी लिया गया है. भगवान राम की नगरी अयोध्या के सरयू नदी में रामायण क्रूज उतारने की तैयारी है. अयोध्या आने वाले पर्यटकों को नयाघाट से गुप्तार घाट तक क्रूज के सफर का आनंद मिल सकेगा.

रामायण प्रसंगों को दर्शाया जाएगा
अयोध्या में क्रूज चलाए जाने की तैयारी शुरू कर दी गई है. क्रूज में रामायण की प्रसंगों पर आधारित चल चित्रों (फिल्मों) को दर्शाया जाएगा. सरयू में चलने वाली इस क्रूज को प्रदूषण रहित बनाया जाएगा. इसके लिए सोलर का इस्तेमाल होगा. अयोध्या में क्रूज चलाए जाने को लेकर काशी, अलकनंदा क्रूज के निदेशक विकास मालवीय ने अपनी टीम के साथ सरयू घाट का निरीक्षण किया. उन्होंने सरयू तट पर क्रूज निर्माण कराए जाने की तैयारी शुरू कर दी है.

सीएम योगी का ड्रीम प्रोजेक्ट है, अयोध्या का विकास
बताया गया कि सरयू नदी में गुप्तार घाट और रामघाट यानी कि बैकुंठ धाम के पास क्रूज का स्टेशन बनाया जाएगा. बैकुंठ धाम के पास ही क्रूज निर्माण कराए जाने की भी तैयारी की जा रही है. इसके लिए विकास मालवीय ने अपनी टीम के साथ गुप्तार घाट, नया घाट और बैकुंठ धाम के पास के तटीय स्थल का जायजा लिया है. आपको बता दें कि सीएम योगी का अयोध्या को विकसित करने का ड्रीम प्रोजेक्ट है. विकास की इसी कड़ी में क्रूज की एक और सौगात जुड़ गई है. मुख्यमंत्री, अयोध्या को त्रेतायुग की अयोध्या बनाना चाहते हैं. राम की नगरी के विकास की लगभग सभी योजनाएं पूरी होने वाली हैं. रामायण क्रूज श्रद्धालुओं को अयोध्या के नया घाट से गुप्तार घाट तक लगभग 13 किलोमीटर लंबा सफर कराएगा. यह श्रद्धालुओं के लिए आकर्षण का केंद्र होगा.

प्रदूषण रहित होगा रामायण क्रूज
अयोध्या विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष विशाल सिंह ने बताया कि सरयू में क्रूज चलाए जाने की तैयारी हो चुकी है. काशी में क्रूज को संचालित करने वाले विकास मालवीय से बातचीत चल रही है. कोरोना के कारण इस प्रोजेक्ट में थोड़ा विलंब हुआ है. लेकिन अब क्रूज को बनाने के लिए ऑर्डर भी दिया जा चुका है. इसमें विशेष बात यह है कि क्रूज का निर्माण भी अयोध्या में ही किया जाएगा. इसके लिए विकास मालवीय की तरफ से जो आवश्यक भूमि की डिमांड की गई थी, वह भी आवंटित की जा रही है. उन्होंने बताया कि यह क्रूज सोलर पावर से संचालित होगा. इसमें किसी प्रकार का डीजल या अन्य प्रदूषण करने वाले किसी भी यंत्र का प्रयोग नहीं होगा. यह क्रूज रामायण क्रूज के नाम से चलाया जाएगा.

Tags: Ayodhya News, Ayodhya ram mandir, Chief Minister Yogi Adityanath, CM Yogi, Uttarpradesh news

अगली ख़बर