होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /Taste of Ayodhya: रामनगरी में 'ठाकुर दही बड़ा' के लाखों है दीवाने, श्रद्धालुओं की लगती है लाइन

Taste of Ayodhya: रामनगरी में 'ठाकुर दही बड़ा' के लाखों है दीवाने, श्रद्धालुओं की लगती है लाइन

Ayodhya News: काशीराम तिवारी बताते हैं कि 7 सालों से मैं यहां आ रहा हूं और ठाकुर दही बड़े का स्वाद ले रहा हूं. बहुत अच् ...अधिक पढ़ें

रिपोर्ट: सर्वेश श्रीवास्तव

अयोध्या: भगवान राम की नगरी अयोध्या मठ मंदिरों की नगरी तो है ही. इसके साथ ही साथ स्वाद की भी नगरी है. यहां आने वाले हजारों-लाखों श्रद्धालु दर्शन-पूजन के बाद सफर की थकान मिटाने के लिए एक तरफ जहां सरयू किनारे आराम करते हैं. तो दूसरी तरफ स्वाद का जायका भी लेते हैं. ऐसे ही जायके के बारे में आज हम आपको बताएंगे जिसकी बादशाहत कई वर्षों से कायम है. हम बात कर रहे है राम चकरे की. जिसको दही बड़ा के नाम से भी जाना जाता है.

राम नगरी के प्रवेश द्वार पर ही स्थित ठाकुर दही बड़े की दुकान है. जहां एक बार दही बड़े खाने के बाद आप भी उस दही बड़े यानी राम चकरे के दीवाने हो जाएंगे. राम चकरे के स्वाद को लेकर हर कोई राम चकरे का मुरीद है. राम चकरे की बादशाहत 10 वर्षों से राम नगरी में कायम है और इस दरमियान स्वाद के शौकीन प्रतिदिन राम चकरे का स्वाद लेते हैं. औषधियों गुणों से परिपूर्ण कीमती पौष्टिक पंचमेवा से निर्मित राम चकरा को बनाने में शुद्धता और सात्विकता का विशेष ध्यान रखा जाता है.

सबकी पसंद है राम चकरे
मंदिर और मूर्तियों के शहर में हर चीज बेहद खास होती है. राम चकरे को भी संत महंत श्रद्धालु और ग्रस्त सबकी पसंद है. ऐसे में मठ मंदिरों में राम चकरा जाएगा तो जाहिर सी बात है. भगवान के सामने उसको अर्पित किया जाएगा. लिहाजा निर्माण में ही संपूर्ण रुप से शुद्धता को प्राथमिकता दी जाती है. साफ सफाई के साथ कारीगर को भी निर्माण कार्य में हाइजीन के ध्यान रखने का निर्देश दिया जाता है.

शुद्धता का रखा जाता है विशेष ध्यान
दुकानदार बजरंगबली सिंह बताते हैं कि हमारी दही बड़े की दुकान है. ठाकुर दही बड़े के नाम से है. अयोध्या के प्रवेश द्वार पर विगत 10 वर्षों से यह दुकान संचालित है. खास तौर पर इस बात का विशेष ध्यान दिया जाता है कि खाने वाले को किसी प्रकार कोई नुकसान ना हो. सुबह से कई कारीगर काम करते हैं और शाम तक दही और बड़ा बनकर तैयार हो जाता है.

तो ऐसे होता है तैयार
दुकानदार बजरंगबली सिंह बताते हैं कि दही को घर पर जमाया जाता है और उड़द के दाल को भिगोकर उसको पीसा जाता है. उसके बाद बरा बनाया जाता है. जिसमें पौष्टिक आहार वाले मेले का प्रयोग किया जाता है. किसमिस, चिरौंजी, जीरा ,नमक इत्यादि से तैयार किया जाता है. इसके अलावा शुद्ध दही घर पर जमाई जाती है. इसके साथ गुड और इमली की चटनी बनाई जाती है. लगभग 500 पीस दही बरा 1 दिन में बिक जाता है. एक पीस दही बड़ा की कीमत मात्र ₹25 है.

7 सालों से इनके दही बड़ा का हूं मुरीद

काशीराम तिवारी बताते हैं कि 7 सालों से मैं यहां आ रहा हूं और ठाकुर दही बड़े का स्वाद ले रहा हूं. बहुत अच्छा लगता है. खाने पर इनके दही बड़े में मसाले भी सही है. चटनी भी सही है दही भी सही है और बड़ा भी सही है.

जानिए कहा स्थित है दुकान

नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करके आप आसानी से दुकान पर पहुंच सकते हैं.

Tags: Ayodhya News, Ayodhya Ram Temple, Food business, Street Food, UP news

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें