होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /अयोध्या: म्युजियम, रामायण भवन और फैसिलिटी सेंटर का निर्माण करेगा विकास प्राधिकरण, जानें पूरी योजना

अयोध्या: म्युजियम, रामायण भवन और फैसिलिटी सेंटर का निर्माण करेगा विकास प्राधिकरण, जानें पूरी योजना

राम जन्मभूमि परिसर में मंदिर निर्माण का कार्य चल रहा है तो वहीं राम जन्मभूमि परिसर के विकास की योजना को लेकर मंथन शुरू कर दिया है.

राम जन्मभूमि परिसर में मंदिर निर्माण का कार्य चल रहा है तो वहीं राम जन्मभूमि परिसर के विकास की योजना को लेकर मंथन शुरू कर दिया है.

Ayodhya Ram Mandir: राम जन्मभूमि परिसर में बनाए जाने वाले म्यूजियम, रामायण भवन और फैसिलिटी सेंटर को राम जन्मभूमि परिसर ...अधिक पढ़ें

अयोध्या. राम जन्मभूमि परिसर में मंदिर निर्माण का कार्य चल रहा है तो वहीं राम जन्मभूमि परिसर के विकास की योजना को लेकर मंथन शुरू कर दिया है. ट्रस्ट के मुताबिक, परिसर के विकास में सुरक्षा से कोई समझौता नहीं किया जाएगा. हालांकि योजना को लेकर पूर्व में निर्माण समिति की बैठक में प्रशासनिक अधिकारियों के साथ की गई थी. मंदिर निर्माण योजना को अब परिसर के बाहर समाहित करने की तैयारी है. अयोध्या विकास प्राधिकरण (ADA) ने ट्रस्ट की योजना पर प्रस्ताव तैयार कर रहा है, जो 21 जुलाई को होने जा रही मंदिर निर्माण समिति की बैठक में पेश किया जाएगा.

भवन निर्माण समिति और ट्रस्ट के पदाधिकारियों की तथा अयोध्या के अधिकारियों की यह योजना है कि कोई भी योजना परिसर के अंदर और परिसर के बाहर ना हो सके, डुप्लीकेसी से बचा जाए और श्रद्धालुओं की सुविधा और सुरक्षा को भी ध्यान रखा जाए जिसको लेकर बैठक में मंथन हो चुका है.

निर्माण कार्य में सुरक्षा से कोई समझौता नहीं
श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के सदस्य डॉ अनिल मिश्रा ने बताया कि परिसर के विकास को लेकर मानचित्र तैयार किया जा रहा है. यह मानचित्र तब तक तैयार नहीं माना जा सकता है, जब तक अयोध्या विकास प्राधिकरण में पेश न किया जा सके अभी उसमे नई चीजें जुड़ती रहती है, लेकिन जरूर माना है कि परिसर की सुरक्षा से किसी प्रकार की कोई समझौता नहीं किया जाएगा. भगवान श्री रामलला का मंदिर शताब्दियों के बाद लोगों को मिल रहा है. इसलिए सुरक्षा से कोई समझौता न करते हुए भक्तों की ईच्छाओं का ध्यान रखते हुए पूरा करने का कार्य किया जाएगा.

आपके शहर से (अयोध्या)

अयोध्या
अयोध्या

डुप्लीकेसी से बचने के लिए खास तैयारी
विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष  विशाल सिंह ने बताया कि बीते दिनों भवन निर्माण समिति के चेयरमैन नृपेंद्र मिश्रा के नेतृत्व में बैठक हुई थी, जिसमें यह तय किया गया था ऐसी कौन सी व्यवस्थाएं हैं जो अन्य विभागों के द्वारा शहर में डवलप की जा रही हैं जिन की आवश्यकता पर्यटकों को पड़ेगी ऐसी कौन सी सुविधाएं हैं जो शहर में सरकारी विभागों के द्वारा किया जा रहा है. अगर कोई कमी रह जाए तो उसका विकास राम जन्मभूमि परिसर में किया जाए, ताकि डुप्लीकेसी ना हो जो सुविधाएं बनाई जाए. उनका पूर्ण रूप से इस्तेमाल किया जाए यह बैठक एक बार की जा चुकी है.

निर्माण समिति की बैठक में तय होगी निर्माण
विशाल सिंह ने बताया कि हमारी जितनी भी परियोजनाएं हैं राम मंदिर ट्रस्ट की निर्माण समिति से उस को अवगत कराया गया है. आगामी बैठक 20 जुलाई से शुरू होगी उस दरमियान भवन निर्माण समिति के चेयरमैन नृपेंद्र मिश्रा और ट्रस्ट के सदस्यों के साथ पुनः चर्चा की जाएगी. सभी स्थानों का स्थलीय निरीक्षण भी कराया जाए. उस पर जो निर्णय होगा, जो चीजें ऐसी हैं. राम जन्मभूमि परिसर में नहीं बनाई जानी है.

ऑडिटोरियम म्यूजियम, टूरिस्ट फेस्टिवेशन सेंटर, ऑडियो विजुअल गाइड सिस्टम, रामायण कालीन प्रसंग, जिनसे जनता को परिचित कराना है. कन्वेंशन सेंटर इन सभी चीजों को बाहर विकसित करेंगे. सरकार की परियोजना से ताकि की राम जन्मभूमि परिसर के अंदर इनको विकसित करने की आवश्यकता ना पड़े.

Tags: Ayodhya Big News, Ram Mandir ayodhya, Ram Mandir Nirman

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें