होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /AYODHYA: कब निकलेगी ‘दिग्विजय रथयात्रा’, क्या है उद्देश्य, कितने मील तय करेगी? जानें सभी फैक्ट्स

AYODHYA: कब निकलेगी ‘दिग्विजय रथयात्रा’, क्या है उद्देश्य, कितने मील तय करेगी? जानें सभी फैक्ट्स

जैसे अश्वमेघ यज्ञ का घोड़ा पूरे देश में दौड़ा था, उसी तर्ज पर राम मंदिर का एक विशेष रथ भारत भ्रमण पर निकलने की तैयारी में ...अधिक पढ़ें

    रिपोर्ट – सर्वेश श्रीवास्तव

    अयोध्या. राम नगरी अयोध्या में विजयादशमी के मौके पर जहां पूरे देश भर में रावण वध और भगवान श्री राम की विजय का जश्न मनाया जाएगा, वहीं अयोध्या में चल रहे भगवान श्रीराम के भव्य मंदिर निर्माण का संदेश लेकर साधु संतों के नेतृत्व में दिग्विजय यात्रा रवाना होगी. यह यात्रा लगभग 15,000 किलोमीटर की दूरी तय करेगी. इस दौरान श्रद्धालु राम मंदिर मॉडल के दर्शन कर सकेंगे. इस यात्रा का मकसद भी यही है कि देश भर के लोग मंदिर मॉडल का दर्शन कर सकें.

    इस यात्रा से जुड़े लोगों का कहना है कि जिस तरह त्रेता युग में जब भगवान राम के राज्याभिषेक पर अश्वमेघ यज्ञ हुआ था, उसी तरह यह दिग्विजय रथ यात्रा निकाली जा रही है. News18 Local से बात करते हुए रथयात्रा के संयोजक शांतानंद महर्षि ने बताया कि राम मंदिर मॉडल पर तैयार किए गए रामराज्य रथ की शुरूआत अयोध्या से की जाएगी. यह रथ गोरखपुर, नेपाल स्थित जनकपुर, जम्मू कश्मीर से लेकर कन्याकुमारी और पश्चिम बंगाल तक की 15000 किलोमीटर की यात्रा तय करेगा.

    दो महीने तक चलेगी रथ यात्रा

    महर्षि के मुताबिक दिग्विजय रथ यात्रा में अयोध्या के साधु संत भी शामिल होंगे. राम मंदिर मॉडल की तर्ज़ पर दक्षिण भारत में तैयार किया गया रामराज्य रथ अयोध्या पहुंच चुका है. राम जन्मभूमि परिसर में भगवान श्री रामलला की अखंड ज्योति जलाए जाने के बाद यह यात्रा 5 अक्टूबर को शुरू होगी. 2 माह तक यह यात्रा भारत भ्रमण के बाद 3 दिसंबर को फिर अयोध्या पहुंचेगी, यहीं यात्रा का समापन किया जाएगा.

    महर्षि ने यह भी बताया कि रामराज्य रथ की यात्रा का मकसद है कि साधु-संतों के साथ ही देश-विदेश के करोड़ों भक्तों का साथ और आशीर्वाद मिल सके. उनके मुताबिक विश्व हिंदू परिषद समेत देशभर के हिंदू संगठनों का भी सहयोग इस यात्रा में मिल रहा है.

    Tags: Ayodhya News, Ayodhya ram mandir, Ratha yatra

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें