प्रेम में असफल हुई तो राम जन्मभूमि थाने में तैनात महिला सिपाही ने अपने प्रेमी पुलिसवाले की कर दी हत्‍या

पुलिस महकमे में ही तैनात दो बहनों ने अपनी बड़ी बहन को साथ लेकर एक पुलिसकर्मी की हत्या की वारदात का ताना-बाना बुन दिया.
पुलिस महकमे में ही तैनात दो बहनों ने अपनी बड़ी बहन को साथ लेकर एक पुलिसकर्मी की हत्या की वारदात का ताना-बाना बुन दिया.

इटावा पुलिस (Etawah Police) ने बताया कि 7 अक्टूबर को सिपाही योगेश चौहान अयोध्या से एक सप्ताह की छुट्टी लेकर अपने घर मथुरा के लिए रवाना हुआ था.

  • Share this:
कृष्णा शुक्ला

अयोध्या. राम जन्मभूमि थाना में आरक्षक के पद पर तैनात योगेश चौहान (Yogesh Chauhan) की हत्या की वारदात से इटावा पुलिस ने पर्दा उठा दिया है. इटावा पुलिस ने इस पूरी वारदात की मुख्य सूत्रधार योगेश चौहान की प्रेमिका मंदाकिनी चौहान (Girlfriend Mandakini Chauhan) निकली हैं. उनकी दो सगी बहनों समेत भाड़े पर हत्या करने वाले दो अपराधियों को भी गिरफ्तार किया गया है. पुलिस की जांच में खुलासा हुआ है कि प्यार में असफल होने पर थाना राम जन्मभूमि में ही तैनात महिला पुलिसकर्मी मंदाकिनी ने अपनी दो बड़ी बहनों के साथ मिलकर इटावा में पहले योगेश की सर कुचल कर हत्या की और उसके बाद उनकी लाश को गड्ढे में फेंक दिया. इस पूरी वारदात में महिला पुलिसकर्मी की बड़ी बहन (जो कि आगरा पुलिस में हेड कांस्टेबल के पद पर तैनात थी) वह भी शामिल रहीं.

जानकारी के मुताबिक, पुलिस महकमे में ही तैनात दो बहनों ने अपनी बड़ी बहन को साथ लेकर एक पुलिसकर्मी की हत्या की वारदात का ताना-बाना बुन दिया. इस जघन्य हत्याकांड से पर्दा उठाते हुए इटावा पुलिस ने बताया कि 7 अक्टूबर को सिपाही योगेश चौहान अयोध्या से एक सप्ताह की छुट्टी लेकर अपने घर मथुरा के लिए रवाना हुए थे. इटावा में ही तीनों बहनों और उनके दो साथियों ने मिलकर किसी भारी वस्तु से योगेश के सर पर चोट मारी और उसके बाद उनके शव को लवेदी थाना क्षेत्र में एक सुनसान जगह पर फेंक दिया. मृतक पुलिसकर्मी की गुमशुदगी की तहरीर अयोध्या के थाना राम जन्मभूमि और मथुरा में भी दर्ज थी.



जुड़ती गईं कड़ि‍यां
कुछ दिन बाद एक अज्ञात शव मिलने और उसकी शिनाख्त होने पर पुलिस ने जांच शुरू की तो एक के बाद एक कड़ियां जुड़ती गईं और हत्याकांड की इस जघन्य वारदात से पर्दा उठ गया. पुलिस ने इस हत्याकांड में शामिल महिला पुलिसकर्मी मंदाकिनी, उसकी बड़ी बहन मीना और उसकी एक अन्य बहन सहित दो अन्य युवकों को भी गिरफ्तार किया है. पुलिस ने वारदात में शामिल कार भी बरामद कर लिया है. पांचों अभियुक्तों को जेल भेजने की कार्रवाई की जा रही है. पुलिस महकमे में हुई इस बड़ी घटना को लेकर अयोध्या पुलिस भी हैरान है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज