लाइव टीवी

अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए नहीं जुटाया जा रहा है चंदा: विहिप

News18 Uttar Pradesh
Updated: November 17, 2019, 7:15 PM IST
अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए नहीं जुटाया जा रहा है चंदा: विहिप
विहिप के एक अधिकारी ने बताया कि संगठन या श्रीराम जन्मभूमि न्यास द्वारा अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के मकसद से धन संग्रह का कोई आह्वान नहीं किया गया है. (राम मंदिर का प्रतीकात्मक चित्र)

विहिप (VHP) ने रविवार को स्पष्ट किया कि संगठन द्वारा राम मंदिर (Ram Mandir) निर्माण के मकसद से कोई धन एकत्र नहीं किया जा रहा है.

  • Share this:
नई दिल्ली. विश्व हिंदू परिषद् (Vishnu Hindu Parishad) ने उच्चतम न्यायालय (Supreme Court) के फैसले से अयोध्या (Ayodhya) में राम मंदिर निर्माण का रास्ता साफ होने के बाद इस कार्य के लिए चंदा जुटाने की कवायद शुरु करने से इंकार कर दिया.

विहिप के प्रवक्ता विनोद बंसल (VHP spokesperson Vinod Bansal) ने बताया कि संगठन के अंतरराष्ट्रीय महामंत्री मिलिंद परांडे (VHP International General Secretary Milind Parande) ने इस बाबत एक स्पष्टीकरण जारी कर कहा है कि विहिप या श्रीराम जन्मभूमि न्यास द्वारा अयोध्या में मंदिर निर्माण के मकसद से धन संग्रह का कोई आह्वान नहीं किया गया है. बयान के अनुसार, ‘विहिप या श्रीराम जन्मभूमि न्यास ने 1989 के बाद से आज तक श्रीराम जन्मभूमि पर मंदिर निर्माण के लिए सार्वजनिक रूप से ना तो कोई धन संग्रह किया है और ना ही इसके लिए अभी तक कोई आह्वान किया गया है.’

मंदिर निर्माण के लिए गैरकानूनी तौर पर चंदा जुटाने की कोशिशों के शिकार न बनें लोग
विनोद बंसल ने कहा कि उच्चतम न्यायालय के फैसले के बाद विभिन्न संगठनों द्वारा मंदिर निर्माण के नाम पर चंदा जुटाने की विभिन्न स्रोतों से जानकारी मिलने के बाद विहिप ने इस बारे में किसी भी तरह के भ्रम को दूर करने के लिए स्पष्टीकरण जारी किया है, जिससे लोग मंदिर निर्माण के नाम पर गैरकानूनी तौर पर चंदा जुटाने की कोशिशों के शिकार न बनें.


हिंदू पक्षकारों को दिया था विवादित 2.77 एकड़ भूमि के स्वामित्व का अधिकार
उल्लेखनीय है कि उच्चतम न्यायालय ने गत नौ नवंबर को अयोध्या मामले में फैसला सुनाते हुए राम जन्मभूमि के नाम पर विवादित 2.77 एकड़ भूमि के स्वामित्व का अधिकार हिंदू पक्षकारों को दिया था. शीर्ष अदालत ने राम मंदिर के निर्माण के वास्ते एक न्यास बनाकर मुस्लिम पक्षकारों को मस्जिद बनाने के लिए अयोध्या में वैकल्पिक स्थल पर पांच एकड़ जमीन देने का फैसला सुनाया था.ये भी पढ़ें - 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अयोध्या से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 17, 2019, 6:01 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर