Home /News /uttar-pradesh /

gyanvapi masjid shivling congress leader pramod krishnan bayan pratyaksh ko praman ki jarurat nahin nodelsp

ज्ञानवापी में शिवलिंग पर बोले कांग्रेस नेता प्रमोद कृष्णम- 'प्रत्यक्ष को प्रमाण की जरूरत नहीं, ताज भी हिंदुओं को सौंपे सरकार'

अयोध्या में कांग्रेस नेता प्रमोद कृष्णम ने रामलला के दर्शन के बाद मीडिया से बात की.

अयोध्या में कांग्रेस नेता प्रमोद कृष्णम ने रामलला के दर्शन के बाद मीडिया से बात की.

Varanasi Gyanvapi Masjid dispute: अयोध्या में कांग्रेस नेता प्रमोद कृष्णम ने रामलला के दर्शन के बाद मीडिया से बात की. उन्होंने ज्ञानवापी मामले पर कहा कि प्रत्यक्ष को प्रमाण की जरूरत नहीं है. ये आस्था का मामला है और सभी को न्यायालय के फैसले का सम्मान करना चाहिए. इसके साथ प्रमोद कृष्णम ने केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि वह ताजमहल और कुतुबमीनार भी हिंदुओं को सौंप दे, क्योंकि ये भारत सरकार के ही अधिकार क्षेत्र में है.

अधिक पढ़ें ...

अयोध्या. अयोध्या में कांग्रेस नेता प्रमोद कृष्णम ने रामलला के दरबार पहुंचकर दर्शन पूजन किया और राम झरोखे से ही भगवान राम लला के मंदिर निर्माण की प्रक्रिया से भी रूबरू हुए. कांग्रेस नेता ने मीडिया से बात करते हुए ज्ञानवापी मामले पर कहा कि प्रत्यक्ष को प्रमाण की जरूरत नहीं है. जो सामने आ गया उसको किसी प्रमाण की जरूरत नहीं है. आचार्य प्रमोद कृष्णम के साथ हरियाणा के राज्यसभा सांसद दीपेंद्र हुड्डा भी मौजूद थे. उन्होंने कहा कि साक्ष्य सामने आया है इसलिए कोर्ट फास्ट ट्रैक में इस मामले पर निर्णय सुनाए.

आचार्य प्रमोद कृष्णम ने ताजमहल के सवाल पर भी सरकार को ही टारगेट करने की कोशिश की. उन्होंने कहा कि भारत सरकार को चाहिए कि ताजमहल और कुतुब मीनार हिंदुओं को सौंप दे. राज ठाकरे के विरोध के मामले पर बोलते हुए कहा कि ब्रज भूषण शरण सिंह और राज ठाकरे दोनों एक ही थाली के चट्टे बट्टे हैं. वहीं, ओवैसी को उन्होंने राज ठाकरे का सौतेला भाई बताते हुए कहा कि ना तो इनका कोई धर्म है और ना ही कोई मजहब. ना ही कोई राशि. यह केवल राजनीति चमकाने के लिए बयानबाजी करते हैं.

ज्ञानवापी पर बोले- न्यायालय का सम्मान करना हमारा कर्तव्य
ज्ञानवापी मामले पर कांग्रेस नेता आचार्य प्रमोद कृष्णम ने कहा कि यह बहुत ही चमत्कारी विषय है और हमारी आस्था से जुड़ा हुआ है. मामला कोर्ट के अधीन है. न्यायालय के किसी भी फैसले का सम्मान करना हमारा कर्तव्य है. उन्‍होंने कहा कि हम न्यायालय के फैसले का स्वागत करते हैं. पहले भी किया है और अब भी करेंगे. आचार्य प्रमोदकृष्णम ने कहा कि ज्ञानवापी का मामला हमारी आस्था से जुड़ा हुआ है. भारत की जन भावना से जुड़ा हुआ विषय है, लेकिन यह मामला न्यायालय में विचाराधीन है. शिवलिंग को अब तक क्यों छुपाया गया, किसने छुपाया, यह बाद का विषय है.

ताजमहल कुतुबमीनार हिंदुओं को सौंप दे सरकार: प्रमोद कृष्णन

ताजमहल प्रकरण पर बोलते हुए आचार्य प्रमोद कृष्णम ने कहा कि न्यायालय ने ताजमहल पर बंद तालों को खुलवाने से मना कर दिया है. कुतुब मीनार और ताजमहल भारत सरकार के अधीन है. भारत सरकार को चाहिए कि ताजमहल और कुतुब मीनार भारत सरकार हिंदुओं को सौंप दे. यह विषय भारत सरकार का है. हम राष्ट्र और देश के साथ हैं.

राज और ओवैसी सौतेले भाई
ओवैसी को भी आड़े हाथों लेते हुए कांग्रेस नेता आचार्य प्रमोद कृष्णम ने कहा कि राज ठाकरे और एआईएमआईएम के प्रमुख ओवैसी को किसी आस्था, श्रद्धा, संस्कार और राष्ट्र से कोई मतलब नहीं है. राज ठाकरे और ओवैसी सौतेले भाई जैसे हैं.

Tags: Acharya Pramod Krishnan, Ayodhya News, Gyanvapi Masjid Survey, UP news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर