Home /News /uttar-pradesh /

बाबरी विध्वंस फैसले को लेकर अयोध्या में हाई अलर्ट, अभेद्य दुर्ग में तब्दील रहेगी राम की नगरी

बाबरी विध्वंस फैसले को लेकर अयोध्या में हाई अलर्ट, अभेद्य दुर्ग में तब्दील रहेगी राम की नगरी

अयोध्या के डीआईजी/एसएसपी दीपक कुमार (Photo: News 18)

अयोध्या के डीआईजी/एसएसपी दीपक कुमार (Photo: News 18)

अयोध्या (Ayodhya) के डीआईजी/ एसएसपी दीपक कुमार ने कहा कि 30 सितंबर का दिन ऐतिहासिक होगा. ऐसे में अयोध्या की सुरक्षा व्यवस्था भी महत्वपूर्ण होगी. विशेष सघन चेकिंग अभियान चलाया जाएगा.

अयोध्या. राम की नगरी अयोध्या (Ayodhya) के लिए बुधवार का दिन ऐतिहासिक होगा. कल 30 सितंबर को लखनऊ की सीबीआई की विशेष अदालत (CBI Special Court) विवादित ढांचा गिराए जाने पर अपना फैसला सुनाएगी. बाबरी विध्वंस पर फैसले को लेकर अयोध्या को हाई अलर्ट (High Alert) पर रखा गया है. 30 सितंबर को अयोध्या अभेद्य सुरक्षा व्यवस्था में तब्दील रहेगी. इस दौरान अयोध्या के सभी प्रवेश प्वाइंट्स पर सघन चेकिंग अभियान चलाया जाएगा. टू व्हीलर हो या कार बिना चेकिंग के राम नगरी अयोध्या में प्रवेश नहीं मिलेगा.

सघन चेकिंग के साथ सादे कपड़ों में तैनाती
पीएससी सिविल पुलिस के साथ-साथ सादी वर्दी में भी सुरक्षाकर्मी तैनात रहेंगे. सुरक्षा एजेंसियां व खुफिया एजेंसियों को भी अलर्ट कर दिया गया है. फैसले की संवेदनशीलता को देखते हुए अयोध्या के डीआईजी/ एसएसपी दीपक कुमार ने कहा कि कल का दिन ऐतिहासिक होगा. ऐसे में अयोध्या की सुरक्षा व्यवस्था भी महत्वपूर्ण होगी. 30 सितंबर को अयोध्या में विशेष सघन चेकिंग अभियान चलाया जाएगा. अयोध्या में सादे कपड़ों में भी पुलिस के जवान तैनात रहेंगे. उन्होंने कहा कि कोविड-19 प्रोटोकॉल व  धारा 144 का सख्ती से पालन कराया जाएगा. किसी भी दशा में राम नगरी अयोध्या में भीड़ इकट्ठा नहीं होने दी जाएगी.



ये हैं मुख्य आरोपी
बता दें कोर्ट के आदेश को लेकर सभी की आरोपियों पर नजर टिकी हुई हैं. आरोपियों में मुख्य रूप से लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, कल्याण सिंह, उमा भारती, विनय कटियार, महंत नृत्यगोपालदास, साध्वी ऋतंभरा, रामविलास दास वेदांती, संतोष दुबे, पवन पांडे के नाम प्रमुख हैं. वहीं फैसले के दिन अस्वस्थ चल रहे आरोपी महंत नृत्य गोपालदास कोर्ट में मौजूद नहीं रहेंगे. कल इन सभी पर फैसला सुनाया जाना है, जिसको लेकर अयोध्या में सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी गई है. कोरोना काल को देखते हुए भी जिला प्रशासन कोई भी छूट देने के मूड में नहीं है. कोविड 19 प्रोटोकॉल को देखते हुए व धारा 144 लागू होने के कारण भी जिला प्रशासन अयोध्या में कतई भीड़ इकट्ठा नहीं होने देगा.

Tags: Ayodhya News, Babri Masjid Demolition Case, UP news updates, UP police, Uttarpradesh news

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर