होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /English Speaking : UP के इस जिले के सरकारी स्कूलों के बच्चे भी बोलेंगे फर्राटेदार इंग्लिश, जानें खास प्लान

English Speaking : UP के इस जिले के सरकारी स्कूलों के बच्चे भी बोलेंगे फर्राटेदार इंग्लिश, जानें खास प्लान

परिषदीय सरकारी स्कूलों के बच्चों को अंग्रेज़ी सिखाने के लिए टीचरों को ट्रेनिंग दी जा रही है.

परिषदीय सरकारी स्कूलों के बच्चों को अंग्रेज़ी सिखाने के लिए टीचरों को ट्रेनिंग दी जा रही है.

बच्चे अंग्रेज़ी के बारे में बेहतर से बेहतर जानें, समझें और स्थानीय भाषा पर भी बच्चों का रुझान बढ़े. इसी उद्देश्य को लेक ...अधिक पढ़ें

रिपोर्ट – सर्वेश श्रीवास्तव

अयोध्या: देश और प्रदेश की सरकार लगातार शिक्षा व्यवस्था को बेहतर बनाने की कोशिशों में जुटी हुई है. उसी व्यवस्था की एक कड़ी को आगे बढ़ाते हुए प्रदेश की योगी सरकार शिक्षा व्यवस्था को लगातार सुधारने का प्रयास कर रही है. शायद यही वजह है कि अब धर्म नगरी अयोध्या के परिषदीय स्कूल के बच्चे फर्राटेदार अंग्रेजी बोलेंगे और सीखेंगे. कैसे और क्या है खासियत चलिए विस्तार से बताते हैं.

दरअसल शिक्षा विभाग के निपुण भारत मिशन के तहत अयोध्या जनपद के मॉडल स्कूलों में शिक्षकों को अंग्रेजी सिखाई जाएगी. इसके लिए उन्हें बाकायदा प्रशिक्षित किया जाएगा. हालांकि अयोध्या जनपद के 50 मॉडल स्कूलों के लगभग 5,500 शिक्षकों को पहले ही प्रशिक्षित किया जा चुका है. उद्देश्य है प्राइवेट इंग्लिश मीडियम स्कूल की तर्ज पर अब परिषदीय स्कूलों के भी बच्चे अंग्रेजी में बात करें.

क्या है मिशन और तैयारी?

NEWS 18 LOCAL से बात करते हुए जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी संतोष कुमार राय बताते हैं कि प्रशिक्षण के दौरान शिक्षकों को बच्चों से कैसे अंग्रेजी में बात करनी है? कैसे उन्हें प्रेरित करना है? खेल-खेल में मीनिंग को कैसे तैयार करना है? ऐसी अनेक महत्वपूर्ण जानकारियां शिक्षकों को दी जा रही है. जनपद में 1791 सरकारी विद्यालयों में 2 लाख 75 हजार से ज्यादा बच्चे पढ़ाई करते हैं. इंग्लिश मीडियम 50 परिषदीय स्कूल जनपद में है. प्रत्येक ब्लॉक में 5 परिषदीय विद्यालय इंग्लिश मीडियम के हैं. इन सभी विद्यालयों में लगभग 5500 शिक्षक हैं.

NEWS 18 LOCAL से बात करते हुए राय ने बताया परिषदीय विद्यालयों के विद्यार्थियों में गुणवत्तापूर्ण शिक्षा के लिए निरंतर प्रयास किए जा रहे हैं. यही कारण है कि नई शिक्षा नीति के तहत इस कार्यक्रम और लक्ष्य पर काम किया जा रहा है. यही नहीं परिषदीय स्कूलों में विद्यार्थियों को स्थानीय भाषा के लिए भी प्रोत्साहित किया जा रहा है.

Tags: Ayodhya News, UP Government School

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें