जानिए क्यों इकबाल अंसारी के घर पहुंचे महंत परमहंस दास और पढ़ी हनुमान चालीसा

राम मंदिर मस्जिद के विवाद के जल्द समाधान के लिए बाबरी पक्षकार इकबाल अंसारी के घर में तपस्वी छावनी के महंत परमहंस दास ने हनुमान चालीसा का पाठ किया तो वहीं इकबाल अंसारी ने भी कुरान की आयतें पढ़ीं.

News18 Uttar Pradesh
Updated: July 30, 2019, 10:18 PM IST
जानिए क्यों इकबाल अंसारी के घर पहुंचे महंत परमहंस दास और पढ़ी हनुमान चालीसा
इकबाल अंसारी और परमहंस दास
News18 Uttar Pradesh
Updated: July 30, 2019, 10:18 PM IST
अयोध्या विवाद के जल्द समाधान के लिए बाबरी पक्षकार इकबाल अंसारी के घर में तपस्वी छावनी के महंत परमहंस दास ने हनुमान चालीसा का पाठ किया तो वहीं इकबाल अंसारी ने भी कुरान की आयतें पढ़ीं. इकबाल अंसारी ने कहा कि हमारा मजहब हर मजहब का सम्मान करता है, चाहे वह हनुमान चालीसा हो और चाहे कुरान पाक की आयतें. वो बोले कुरान जो भी सिखाता है हम उसी रास्ते पर चलते हैं रामायण जो सिखाता है, उसी पर हिंदू समाज चलता है. हमारा समाज दोनों से मिलकर चल रहा है हिंदू हो या मुसलमान रामायण हो या कुरान.

साथ होंगे हिंदू-मुसलमान तो तरक्की करेगा देश
इकबाल अंसारी ने कहा कि हिंदू मुसलमान जब मिलकर रहेगा तो देश तरक्की करेगा. हम समाज के प्रेमी हैं हम चाहते हैं कि हिंदू और मुसलमान दोनों मिल कर रहें. दोनों की केवल जुबान बदली हुई है, धर्म नहीं बदला है, हिंदू भगवान को बुलाएगा और हम अल्लाह को बुलाएंगे. दोनों समाज एक ही रास्ते पर चल रहा है और चलता रहेगा. इस मामले का पटाक्षेप होना चाहिए.

इकबाल अंसारी के मुताबिक 70 वर्षों से इस मामले को लटका कर रखा गया है. पूरा देश चाह रहा है कि कोर्ट फैसला करे सबूतों के आधार पर फैसला करें. जो कोर्ट फैसला करेगा उसको भी मानेंगे और जो पैनल फैसला करेगा उसको भी मानेंगे.

गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट ने बीते मार्च महीने में इस केस को लेकर मध्यस्थता पैनल का गठन किया था. सुप्रीम कोर्ट का कहना था कि केस में बातचीत के आधार पर फैसले का प्रयास किया जा सकता था. मध्यस्थता पैनल जल्द ही बातचीत को लेकर अपनी रिपोर्ट सुप्रीम कोर्ट को सौंप सकता है.

(निमिष गोस्वामी की रिपोर्ट)
ये भी पढ़ें:
Loading...

उन्नाव गैंगरेप: सीबीआई जांच शुरू होने तक एक्सीडेंट मामले की जांच करेगी SIT

मुख्तार अंसारी के प्रतिनिधि सहित 2 को लखनऊ में सरेआम मारी गई गोली

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अयोध्या से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 30, 2019, 10:07 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...