लाइव टीवी

update: झूठी निकली अयोध्या में बच्चियों के अपहरण की कहानी, पुलिस चेकिंग दौरान मिली थीं बस में !

News18 Uttar Pradesh
Updated: January 16, 2020, 4:15 PM IST
update: झूठी निकली अयोध्या में बच्चियों के अपहरण की कहानी, पुलिस चेकिंग दौरान मिली थीं बस में !
अयोध्या में किडनैप करके ले जाई जा रही बच्चियां बरामद (सांकेतिक फोटो)

मासूम बच्चियों को अगवा करने वाला गिरोह अपने मकसद में कामयाब हो जाता लेकिन जांच (Police Checking) के दौरान मासूम बच्चियां पुलिस के हाथ लग गई और गिरोह की साजिश असफल हो गई.

  • Share this:
अयोध्या. समाज में बढ़ते अपराधों को लेकर लोग दहशत में हैं. ऐसे में बुधवार को पुलिस चेकिंग के दौरान पुलिस को बस में 7 व 10 साल की दो बच्चियां मिली जिनकी कहानी के मुताबिक़ पुलिस को लगा कि शहर में सक्रिय बच्चा चोर गिरोह ने साजिश के तहत बच्चियों को टॉफी देकर बहलाया फुसलाया और भरोसे में लेने के बाद बच्चियों को किडनैप (kidnap) का प्रयास किया.

पुलिस को खूब वाहवाही मिली कहा गया 'एक बार फिर मासूम बच्चियों को अगवा करने वाला गिरोह अपने मकसद में कामयाब हो जाता लेकिन जांच (Police Checking) के दौरान मासूम बच्चियां पुलिस के हाथ लग गई और गिरोह की साजिश असफल हो गई'. वहीं बच्चियों के बताए मुताबिक जनपद पुलिस इस वारदात में शामिल गिरोह के लोगों की तलाश में जुट गई. बरामद बच्चियों को उनके परिवार के हवाले किया गया.

ayodhya police, kidnapped
अगवा की गई बच्चियों को पुलिस ने किया बरामद


अगवा बच्ची ने खोली पोल

दरअसल जनपद पुलिस शहर के बॉर्डर से लेकर जिले के बॉर्डर तक जांच तलाशी अभियान में जुटी थी. शहर के इंट्री प्वाइंट सहादतगंज पर कैंट व पूराकलंदर थाने की पुलिस जांच कर रही थी. इसी दौरान पुलिस ने जांच-पड़ताल के लिए लखनऊ की ओर जा रही एक रोडवेज बस को रोका और जांच शुरू की तो बस में एक 10 वर्ष और एक 7 वर्ष की दो बच्चियां मिलीं. पुलिस ने बच्चियों के बारे में रोडवेज बस के चालक और परिचालक से सवाल किया तो उन्होंने इनके बारे में कोई जानकारी होने से इनकार कर दिया. पुलिस ने बरामद दोनों बच्चियों में से बड़ी बच्ची से पूछताछ की तो उसने पूरी कहानी पुलिस के सामने बयां कर दी. मामले का पता चलने पर पुलिस महकमे में हलचल मच गई और जानकारी आला अधिकारियों को दी गई. तत्काल पुलिस को अलर्ट कर दिया गया और बड़ी बच्ची के बताए गए हुलिया के आधार पर गिरोह से जुड़ी महिला, उसके सहयोगी पुरुष और उसको रोडवेज बस तक पहुंचाने वाले बाइक सवार शख्स की तलाश शुरू की गई हालांकि पुलिस को कोई सफलता नहीं मिल पाई क्योंकि ऐसा कुछ था ही नहीं. बच्चियों ने पुलिस को झूठी कहानी सुनाई थी.

टाॅफी देकर करते हैं अपहरण
पुलिस चेकिंग में मिली नगर कोतवाली क्षेत्र के कश्मीरी मोहल्ला निवासी 10 वर्षीय बालिका ने बताया कि 'हम लोग मोहल्ले में खेलने के लिए निकलते थे और मोहल्ले में रहने वाली एक महिला उनको अक्सर टॉफी खिलाया करती थी और रुपये देती थी. टॉफी और रुपये देने के बहाने अपने पास बुलाकर बातचीत करती थी. महिला के साथ एक पुरुष भी था. बच्चियों ने बताया कि उस महिला ने उनकी  मां की तबीयत खराब होने की बात कह कर दोनों को अपने साथ अस्पताल चलने को कहा लेकिन जब उन्होंने कहा कि मां तो घर पर हैं, तब महिला ने कहा कि अभी एक्सीडेंट हुआ है. उसके साथ जाने से इनकार करने पर उनको चाकू दिखाकर डराया गया और दोनों को रिक्शे में बिठा कर चौक ले आये. बच्चियों के मुताबिक वहीं पर एक बाइक सवार अंकल भी मिल गए. रोडवेज पहुंचने के बाद उनको एक बस में बिठा दिया'.बरामद बच्चियों के परिजनों ने पुलिस का आभार जताया. इस पूरे घटनाक्रम पर क्षेत्राधिकारी नगर अरविंद कुमार चौरसिया ने बताया कि सहादतगंज पर चेकिंग के दौरान पूरा कलंदर और कैंट थाना पुलिस की संयुक्त टीम ने एक रोडवेज बस से कश्मीरी मोहल्ला निवासी दो बच्चियों को बरामद किया है. बरामद बच्चियों को उनके परिवार के सुपुर्द करदिया गया है और अपहरण में शामिल लोगों की तलाश की जा रही है. लेकिन जब पुलिस ने CCTV फुटेज खंगाले तो पता चला कि दोनों बच्चियां अकेले ही बस में सवार हुई थीं. मामले के खुलासे के बाद सीओ सिटी अरविंद चौरसिया ने बताया कि दोनों बच्चियों ने लखनऊ घूमने का प्लान बनाया लेकिन चेकिंग के दौरान जब वे पुलिस की पकड़ में आ गई तो इन्होने क्राइम पेट्रोल की कहानी याद करते हुए आधुनिक पुलिस को भी चकमा दे दिया और खूब छकाया.

ये भी पढ़ें- प्रयागराज में CAA-NRC के खिलाफ धरने पर बैठी महिलाओं के समर्थन में पहुंचे रेवती रमण...


33 साल से बदले की आग में जल रहे शख्स ने CAA प्रदर्शन के दौरान मेरठ पुलिस पर बरसाई थीं गोलियां!

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अयोध्या से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 15, 2020, 9:20 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर