होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /Ramayan से जुड़े कुछ रहस्य जिनसे आज तक दुनिया है अनजान, पढ़िए यह खास रिपोर्ट

Ramayan से जुड़े कुछ रहस्य जिनसे आज तक दुनिया है अनजान, पढ़िए यह खास रिपोर्ट

Ayodhya News: आचार्य सत्येंद्र दास बताते हैं कि त्रेता युग में भगवान विष्णु ने प्रभु श्रीराम के अवतार में धरती पर जन्म ...अधिक पढ़ें

रिपोर्ट- सर्वेश श्रीवास्तव

अयोध्या: हिंदू धर्म की पवित्र धार्मिक ग्रंथ रामायण सभी के जीवन में प्रेरणा का स्त्रोत मानी जाती है. मानव जाति के जीवन और मनुष्य के कर्मों का विशेष प्रकार से रामायण में विवरण मिलता है. वैसे तो रामायण में प्रभु श्रीराम और माता सीता के जन्म एवं जीवन यात्रा का वर्णन है, जिसे पूरी दुनिया परिचित है. इस महाकाव्य से जुड़े कुछ ऐसे भी रहस्य हैं, जिनके बारे में लोगों को जानकारी नहीं है. वैसे ये तो सभी को पता है कि प्रभु श्रीराम चार भाई थे, लेकिन बहुत कम लोगों को पता है कि उनकी एक बहन भी थी. ठीक ऐसे ही बहुत कम लोगों को पता है कि भगवान श्रीराम के अलावा उनके तीनों भाई किसके अवतार हैं?

गौरतलब है कि रामायण का हिन्दू धर्म में एक विशिष्ठ स्थान है. जिसकी रचना महर्षि वाल्मीकि द्वारा की गई थी. NEWS 18 LOCAL से खास बात करते हुए राम जन्मभूमि के मुख्य पुजारी आचार्य सत्येंद्र दास बताते हैं कि 24 अक्षर का गायत्री मंत्र है और 24000 श्लोक में वाल्मीकि रामायण है. वाल्मीकि रामायण के 1000 श्लोक के बाद पड़ने वाले पहले अक्षर से गायत्री मंत्र बना है. ठीक ऐसी ही चलिए आपको बताते हैं कि प्रभु श्रीराम जी के तीनों भाई किसके अवतार हैं.

जानिए किसके आवतार थे प्रभु ‘श्रीराम’ के भाई
आचार्य सत्येंद्र दास बताते हैं कि त्रेता युग में भगवान विष्णु ने प्रभु श्रीराम के अवतार में धरती पर जन्म लिए थे. जबकि श्रीराम के छोटे भाई के रूप में भगवान शेषनाग ने लक्ष्मण के रूप में अवतार लिया था. वहीं भरत और शत्रुघ्न भगवान राम के ही अंश थे. ऐसे में जब भगवान श्रीराम धरती पर सत्य की स्थापना उसकी जीत स्थापित कर स्वर्ग जाने लगे अपने मूल स्वरूप में विलीन होने लगे तब भरत और शत्रुघ्न भी भगवान राम के शरीर में समा गए थे. वहीं प्रभु श्रीराम जी की बहन शांता के लिए कहा जाता है कि, राजा दशरथ के एक मित्र थे.

जिनकी कोई संतान नहीं थी. तब राजा दशरथ ने अपनी बेटी शांता को उन्हें समर्पित कर दिया था. महर्षि श्रृंगी ऋषि के साथ शांता का विवाह हुआ था.

Tags: Ayodhya News, Ayodhya Ram Temple, Dussehra Festival, Lord rama, Ramayan

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें