लाइव टीवी

श्रीराम की अयोध्या में लोग यमराज का नाम लेकर सरयू में लगा रहे डुबकी, जानें वजह

KB Shukla | News18 Uttar Pradesh
Updated: October 29, 2019, 3:27 PM IST
श्रीराम की अयोध्या में लोग यमराज का नाम लेकर सरयू में लगा रहे डुबकी, जानें वजह
अयोध्या में आज यमराज का ध्यान कर लोग सरयू में डुबकी लगा रहे हैं.

अयोध्या (Ayodhya) में काल देवता माने जाने वाले यमराज (Yamraj) की पूजा दीपावली के तीसरे दिन यम द्वितीया को सरयू (Saryu) घाट के यमथरा घाट पर होती है. यहां पर भारी संख्या में श्रद्धालु पहुंचकर महाराज यमराज की तपोस्थली पर पूजा अर्चन कर खुद को भयमुक्त करने की कामना करते हैं.

  • Share this:
अयोध्या. भगवान राम की नगरी अयोध्या (Ayodhya) में वैसे तो प्रभु की पूजा रोज होती है लेकिन साल में एक दिन यहां यमराज (Yamraj) की भी पूजा होती है. वर्षों से दीपावली के तीसरे दिन यमराज की यहां पूजा होती है. काल देवता माने जाने वाले यमराज की पूजा दीपावली के तीसरे दिन यम द्वितीया को सरयू घाट के यमथरा घाट पर होती है. यहां भारी संख्या में श्रद्धालु पहुंचकर महाराज यमराज की तपोस्थली पर पूजा-अर्चना कर खुद को भयमुक्त करने की कामना करते हैं. साथ ही वो सुख समृद्धि की भी कामना करते हैं.

सरयू तट पर है यमराज की तपोस्थली

अयोध्या में प्राचीन मान्यताओं को संजोए हुए सरयू तट पर स्थित यमराज की तपोस्थली माने जाने वाले यमथरा घाट पर कार्तिक शुक्ल पक्ष द्वितीया के अवसर पर परंपरागत ढंग से यम द्वितीया का मेला लगता है और यहां महाराज यमराज की पूजा होती है. सुबह से ही श्रद्धालु सरयू में स्नान कर दीर्घायु होने की कामना लेकर यमराज की पूजा अर्चना करते हैं. विशेषकर यम द्वितीया को बहनें व्रत रखकर अपने भाई के कल्याण और दीर्घायु होने की कामना लेकर यमथरा घाट पर स्नान और यमराज की पूजा-अर्चना करतीं है.

ayodhya yamraj
अयोध्या में यमराज की तपोस्थली में लोग पूजा अर्चना कर रहे हैं.


मान्यता है यमराज की  पूजा से भय नहीं लगता

प्राचीन मान्यताओं के अनुसार यमराज ने इस तपोस्थली को अयोध्या माता से प्राप्त किया था. मान्यता है कि यमराज महाराज की पूजा-अर्चना करने वालों को यमराज से भय नहीं लगता और इन्हीं कामनाओं को लेकर यमथरा घाट पर महाराज यमराज की पूजा-अर्चना होती है. दूर-दराज से अयोध्या के यंत्र घाट पर पहुंचकर श्रद्धालु अपने सुख-समृद्धि की कामना करते हैं. इसके साथ ही श्रद्धालु मां सरयू में आस्था की डुबकी लगाकर मन वांछित मनोकामना पूर्ति के लिए पूजन-अर्चन करते हैं. यमथरा घाट रामनगरी अयोध्या और गुप्तार घाट के बीच स्थित है, जहां श्मशान घाट भी है. वैसे तो यमराज से लोग डरते हैं लेकिन साल में एक बार उनकी पूजा-अर्चना कर भयमुक्त होने का आशीर्वाद भी लेते हैं.

ये भी पढ़ें:
Loading...

पुलिस हिरासत में अधेड़ व्यापारी की मौत! परिजनों ने लगाए गंभीर आरोप

यूपी उपचुनाव में प्रदर्शन से उत्साहित सपा ने साधा 2022 पर निशाना

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अयोध्या से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 29, 2019, 2:42 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...