लाइव टीवी

भागवत के बयान पर बोले अयोध्या के संत- राम का चरित्र आदर्श, पाठ्यक्रम में करें शामिल

News18 Uttar Pradesh
Updated: May 27, 2019, 2:54 PM IST
भागवत के बयान पर बोले अयोध्या के संत- राम का चरित्र आदर्श, पाठ्यक्रम में करें शामिल
file photo

आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत के बयान पर अयोध्या के संतों ने प्रतिक्रिया दी है. राम जन्म भूमि के पुजारी आचार्य सत्येंद्र दास ने कहा है कि मंदिर तो राम की इच्छा से ही बनेगा.

  • Share this:
आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत के बयान पर अयोध्या के संतों ने प्रतिक्रिया दी है. राम जन्मभूमि के पुजारी आचार्य सत्येंद्र दास ने कहा है कि मंदिर तो राम की इच्छा से ही बनेगा. सत्येंद्र दास ने कहा- संतों की मांग है कि देश विश्वगुरु बने. उन्होंने जोर दिया कि हमारा देश सदियों से सहिष्णुता व आध्यात्मिक शक्ति से परिपूर्ण रहा है.

दरअसल संघ प्रमुख मोहन भागवत ने बीजेपी की प्रचंड जीत के बाद बयान दिया है कि राम का काम करना है और राम का काम होकर रहेगा. संघ प्रमुख ने यह भी कहा कि हमें इसकी निगरानी करनी होगी. हालांकि उनके बयान स्पष्ट रूप से अयोध्या में मंदिर का जिक्र नहीं था लेकिन माना जा रहा है कि वो राम मंदिर के मसले पर ही बोल रहे थे.

वहीं मोहन भागवत के इस बयान पर तपस्वी छावनी के महंत परमहंस दास का कहना है कि संघ प्रमुख का बयान दूरदर्शी है. उन्होंने कहा कि राम कार्य सबसे पहले होना चाहिए और राम मंदिर सबसे पहले बनना चाहिए. परमहंस दास ने यह भी कहा कि राम का चरित्र आदर्श है और इसे पाठ्यक्रम में शामिल किया जाना चाहिए. राम मंदिर की उपेक्षा अब सहन नहीं की जाएगी. हमारे आराध्य टेंट में है, हम सबको इस पर दुख है.

वहीं बाबरी मस्जिद के मुद्दई इकबाल अंसारी कहते हैं कि मोहन भागवत की बात देश को भड़काने वाली है. मामला सुप्रीम कोर्ट में है. क्या कोर्ट फैसला नहीं माना जाएगा? बातचीत के लिए पैनल बनाया गया है. बातचीत पूरी भी नहीं है और मोहन भागवत की तरफ से बयान आ गया. यह समाज को भड़काने वाली बात है. इकबाल अंसारी ने कहा कि हम देश के वफादार हैं और हम चाहते हैं कि देश तरक्की करे.

ये भी पढ़ें:

नवंबर 2020 तक NDA को मिल जाएगा राज्यसभा में पूर्ण बहुमत

कांग्रेस में इस्तीफे की झड़ी, अब झारखंड अध्यक्ष ने छोड़ा पद
Loading...

Analysis: आखिर किसने लिखी बीजेपी की अब तक की सबसे बड़ी जीत की इबारत

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अयोध्या से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 27, 2019, 1:17 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...