लाइव टीवी
Elec-widget

अयोध्या: महंत कमल नयन दास ने लगाया उपेक्षा का आरोप, बोले- CM योगी से करेंगे शिकायत

News18 Uttar Pradesh
Updated: November 29, 2019, 10:41 AM IST
अयोध्या: महंत कमल नयन दास ने लगाया उपेक्षा का आरोप, बोले- CM योगी से करेंगे शिकायत
महंत कमल नयन दास ने लगाया उपेक्षा का आरोप

महंत कमल नयन दास ने कहा कि राम मंदिर के हक में फैसला आने के बाद इस बार रामायण मेला को दिव्यता एवं भव्यता प्रदान करने की बात सामने आ रही थी. लेकिन रामायण मेला कार्यक्रम जो जारी किया गया है उसमें स्थानीय कलाकारों को ही स्थान दिया गया है.

  • Share this:
अयोध्या. अयोध्या (Ayodhya) राम जन्म भूमि न्यास के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास के उत्तराधिकारी महंत व रामायण मेला समिति के सदस्य महंत कमल नयन दास ने शुक्रवार को संस्कृति विभाग पर उपेक्षा का आरोप लगाया है. महंत कमल नयन दास का कहना है कि इस वर्ष अयोध्या फैसला आने के बाद हम सभी उत्साहित हैं ऐसा अनुमान था कि रामायण मेले को भव्यता प्रदान की जाएगी. लेकिन जिस तरीके से रामायण मेले का कार्यक्रम जारी किया गया है. उससे तो यही लग रहा है कि रामायण मेला के साथ मजाक किया जा रहा है.

बता दें कि रामायण मेले का शुभारंभ 30 नवंबर से होगा. चार दिवसीय रामायण मेले का समापन 3 दिसंबर को होना सुनिश्चित है. महंत कमल नयन दास ने कहा कि राम मंदिर के हक में फैसला आने के बाद इस बार रामायण मेला को दिव्यता एवं भव्यता प्रदान करने की बात सामने आ रही थी. लेकिन रामायण मेला कार्यक्रम जो जारी किया गया है उसमें स्थानीय कलाकारों को ही स्थान दिया गया है.

कमल नयन दास ने बताया कि बाहर के कलाकार नहीं शामिल किए गए हैं. जिससे रामायण मेला के कार्यक्रमों को भव्यता प्रदान करना संभव नहीं दिख रहा है. वहीं संस्कृति विभाग ने रामायण मेले के साथ मजाक करने का काम किया है. उन्होंने कहा कि इसकी शिकायत मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जब मिलेंगे तो उनसे जरूर की जाएगी.

ये भी पढ़ें:

विरोध के बाद आज पहली बार BHU में नजर आएंगे संस्कृत प्रोफेसर फिरोज खान, इंटरव्यू में होंगे शामिल

डिफेंस एक्सपो: लखनऊ में गोमती के किनारे से 64000 पेड़ हटाने की तैयारी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अयोध्या से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 29, 2019, 10:41 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...