अयोध्या: पाकिस्तान में हिंदुओं की हत्या पर भड़के तपस्वी छावनी के महंत, PM इमरान खान का जलाया पोस्टर

पाकिस्तान में हिंदुओं की हत्या पर भड़के तपस्वी छावनी के महंत

पाकिस्तान में हिंदुओं की हत्या पर भड़के तपस्वी छावनी के महंत

संत परमहंस दास ने कहा कि हम भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) से यह मांग करते हैं पाकिस्तान में रह रहे हिंदुओं को भारत लाया जाए और यहां की नागरिकता दी जाए.

  • Share this:
अयोध्या. तपस्वी छावनी के महंत परमहंस दास (Mahant Paramhans Das) ने रविवार को पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान का पोस्टर जलाकर विरोध दर्ज कराया. महंत ने देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मांग करते हुए अपील कि पाकिस्तान में रह रहे हिंदुओं को सुरक्षित रखने के लिए भारत लाया जाए. दरअसल पाकिस्तान में हिंदुओं के साथ हो रहे अत्याचार के बीच आज दो हिंदू महिलाओं पर हमला हुआ था. तपस्वी छावनी के महंत परमहंस दास ने पाकिस्तान प्रधानमंत्री इमरान खान का पोस्टर जलाया और पाकिस्तान के विरोध में नारे लगाए.

तपस्वी छावनी के महंत परमहंस दास ने बताया कि पाकिस्तान में निरंतर अल्पसंख्यक लोगों के साथ अत्याचार किया जा रहा है. पाकिस्तान में हिंदुओं पर अत्याचार उनकी हत्या की जा रही है. पाकिस्तान 95% हिन्दुओ को मार दिए गए हैं जो कुछ भी बचे है धार्मिक प्रताड़ना के शिकार हैं. ताजा मामला पाकिस्तान में अल्पसंख्यक महिलाओं पर जानलेवा हमला किया गया. उन्होंने बताया कि निरंतर पाकिस्तान में हत्याएं की जा रही हैं. जिस को लेकर आज तक पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ने कोई दखल नहीं दिया.

गोरखपुर: पूर्व प्रधान व भाजपा नेता बृजेश सिंह की हत्या का खुलासा, पंजाब के शूटरों ने दिया था वारदात को अंजाम

इसके विरोध में इमरान खान का पुतला जलाया गया है. संत परमहंस दास ने कहा कि हम भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से यह मांग करते हैं पाकिस्तान में रह रहे हिंदुओं को भारत लाया जाए और यहां की नागरिकता दी जाए. भारत देश के विरोधी मुस्लिमों को पाकिस्तान और बांग्लादेश भेज दिया जाए क्योंकि जब देश का विभाजन हुआ था तो उस समय पाकिस्तान और बांग्लादेश मुस्लिम लोगों के लिए आरक्षित किया गया था. इसलिए भारत को हिंदू राष्ट्र घोषित किया जाए.
राम मंदिर को लेकर भी कर चुके हैं आमरण अनशन

बताते चलें कि पूर्व में भी तपस्वी छावनी के महंत परमहंस दास राम जन्मभूमि के लिए कई दिनों तक आमरण अनशन किया था और उसके बाद चर्चा में आए. परमहंस दास अपने क्रियाकलापों को लेकर हमेशा चर्चा में रहते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज