लाइव टीवी
Elec-widget

अयोध्या: अभद्र टिप्पणी मामले में तपस्वी छावनी से निष्कासित किए गए महंत परमहंस दास

News18 Uttar Pradesh
Updated: November 16, 2019, 1:46 PM IST
अयोध्या: अभद्र टिप्पणी मामले में तपस्वी छावनी से निष्कासित किए गए महंत परमहंस दास
महंत सर्वेश्वर दास ने महंत परमहंस दास को तपस्वी छावनी से निष्कासित कर दिया है.

मामले में कड़ा रुख अख्तियार करते हुए तपस्वी छावनी (Tapaswi Chawani) के महंत और परमहंस दास के गुरु महंत सर्वेश्वर दास (Mahant Sarveshwar Das) ने कहा कि महंत परमहंस दास का आचरण ठीक नहीं है. पूज्य संत-महंतों पर अशोभनीय टिप्पणी करना संतों का आचरण नहीं है.

  • Share this:
अयोध्या. सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) से अयोध्या केस (Ayodhya Case) के फैसले के बाद राम मंदिर ट्रस्ट (Ram Mandir Trust) को लेकर साधु-संतों में ही फूट सामने आ गई है. इसी मामले को लेकर राम मंदिर निर्माण के लिए अनशन करने वाले संत परमहंस दास (Saint Paramhans Das) और रामजन्म भूमि न्यास के वरिष्ठ सदस्य रामविलास दास वेदांती का ऑडियो वायरल हुआ. इसके बाद बवाल मच गया. उधर मामले में कड़ा रुख अख्तियार करते हुए तपस्वी छावनी (Tapaswi Chawani) के महंत और परमहंस दास के गुरु महंत सर्वेश्वर दास (Mahant Sarveshwar Das) ने महंत परमहंस दास को निष्कासित कर दिया है. उन्होंने कहा कि महंत परमहंस दास का आचरण ठीक नहीं है. पूज्य संत-महंतों पर अशोभनीय टिप्पणी करना संतों का आचरण नहीं है.

जुबानी जंग जारी
बता दें ऑडियो वायरल होने के बाद छोटी छावनी के 2 दर्जन से अधिक संतों ने तपस्वी छावनी पहुंच कर जमकर हंगामा काटा. इसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस फोर्स ने महंत परमहंस दास को जिले से बाहर भेज दिया. साथ ही तपस्वी छावनी और हिंदू धाम की सुरक्षा बढ़ा दी. इसके बाद अयोध्या के संतों में जुबानी जंग तेज हो गई.

हंगामे के बाद न्यास के वरिष्ठ सदस्य राम विलास दास वेदांती ने अपना एक वीडियो जारी किया, जिसमें उन्होंने महंत परमहंस दास पर आरोप लगाते हुए कहा कि वायरल आडियो में उनकी आवाज नहीं है. ऑडियो से उनका कोई लेना-देना नहीं है. उन्होंने कहा इस तरह का ऑडियो वायरल करके महंत परमहंस दास उन्हें बदनाम करने का षड्यंत्र रच रहे हैं. उनका कहना है कि मैंने कभी भी पूज्य नृत्य गोपाल दास के लिए ऐसे शब्दों का प्रयोग नहीं किया. वहीं दूसरी तरफ विश्व हिंदू परिषद ने इस तरह के अशोभनीय शब्दों का प्रयोग करने को दुर्भाग्यपूर्ण बताया.

सुरक्षा बढ़ाई गई
तपस्वी छावनी के महंत परमहंस के इस बयान कि राम जन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष नृत्य गोपाल दास धन और पद की चाह में राम जन्म भूमि न्यास को ही बनाए रखना चाहते हैं और राम मंदिर निर्माण का पैसा इस्तेमाल करते हैं. इसके बाद नृत्य गोपाल दास के शिष्य और समर्थकों ने महंत परमहंस के घर पर हमला कर दिया और उन्हें जबरन घर से बाहर निकालने की कोशिश की. लेकिन बड़ी संख्या में पहुंची फोर्स ने किसी तरह परमहंस दास को बाहर निकाला और अपने साथ सुरक्षित स्थान पर ले गई. यही नहीं राम विलास वेदांती के भी इस तरह के बयान को लेकर नृत्य गोपाल दास समर्थकों में नाराजगी है इसीलिए रामविलास दास वेदांती के घर की सुरक्षा बढ़ा दी गई है.

फोर्स ने किसी तरह परमहंस को सुरक्षित निकाला
Loading...

इसी बीच जिले से बाहर भेजे गए परमहंस दास ने भी एक वीडियो जारी किया है. इस वीडियो में उन्होंने राम जन्म भूमि न्यास के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास पर आरोप लगाए हैं. उन्होंने तपस्वी छावनी पर कब्जा करने की कोशिश सहित कई मंदिरों पर अवैध रूप से कब्जा करने का भी आरोप लगाया.

रिपोर्ट: निमिष गोस्वामी

ये भी पढ़ें:

अयोध्या में मस्जिद के लिए इस हिंदू व्यक्ति ने दिया 5 एकड़ जमीन दान देने का ऑफर

राम मंदिर निर्माण ट्रस्ट को लेकर साधु-संतों में फूट, बढ़ाई गई सुरक्षा!

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अयोध्या से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 16, 2019, 1:46 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...