पांच साल बाद आज अयोध्या जाएंगे PM मोदी, रैली को करेंगे सम्बोधित

फाइल फोटो

माया बाजार राम जन्मभूमि से 25 किलोमीटर दूर है. ऐसे में पीएम मोदी की यह रैली बीजेपी के लिए काफी अहम है.

  • Share this:
    प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पीएम बनने के बाद पहली बार अयोध्‍या जाएंगे. पीएम मोदी बुधवार को अयोध्या जिले के माया बाजार में रैली को संबोधित करेंगे. वे सुबह दस बजे रैली करेंगे. मालूम हो कि माया बाजार राम जन्मभूमि से 25 किलोमीटर दूर है. ऐसे में पीएम मोदी की यह रैली बीजेपी के लिए काफी अहम है. दरअसल, फ़ैज़ाबाद लोकसभा सीट पर 6 मई को ही मतदान है. वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव में भी मोदी ने फैजाबाद में एक रैली की थी.

    मालूम हो कि पीएम मोदी ने मंगलवार को बिहार के मुजफ्फरपुर में एक रैली को एड्रेस किया था. तब उन्होंने कहा था कि हमने देश को लाल बत्ती की संस्कृति से बाहर निकाला है और गांव-गांव को एलईडी बल्ब की दूधिया बत्ती से रोशन कर दिया. हम सबकी लाल बत्ती चली गई, लेकिन गरीब का घर बिजली से रोशन हो गया है. हमने गांव-गांव में गरीब बहनों के घर में इज्जत घर यानि शौचालय देने का काम किया है. हमने उन गरीब बहनों तक मुफ्त गैस कनेक्शन पहुंचाने का काम किया है जो गरीब मां और बहनें पूरी उम्र धुएं में जीने को मजबूर थी. पीएम कहा कि हमने उस गरीब को पक्का घर देने का बीड़ा उठाया है, जिसने सपने में भी कभी अपने घर के बारे में नहीं सोचा था.

    बता दें कि इससे पहले पिछले महीने 25 अप्रैल की शाम को पीएम मोदी ने बनारस में रोड शो किया था, तब सड़कों पर जनसैलाब उमड़ गया था. प्रधानमंत्री मोदी को देखने के लिए लोग घर की छतों पर चढ़ गए थे. इस रोड शो ने यह साबित कर दिया था कि उनके पास अभी भी जनता का पूरा सपोर्ट है. लाखों की भीड़ सड़क पर उमड़ गई थी.

    पीएम मोदी ने बनारस में एक खुली गाड़ी पर सवार होकर रोड शो किया था. उनके पीछे एक ट्रक चल रहा था, जिस पर सीएम योगी आदित्यनाथ के साथ-साथ बीजेपी और अन्‍य नेता सवार थे. मोदी दोनों तरफ लोगों का अभिवादन स्‍वीकार कर रहे थे. वहीं, रोड शो में जश्‍न का माहौल था. लोग ढोल नगाड़ों के साथ मोदी -मोदी के नारे लगा रहे थे. आज काशी मोदीमय हो गई. लोग हर हर मोदी, घर घर मोदी के नारे लगा रहे थे. बीच में भारत माता की जय और वंदे मातरम के नारे भी लग रहे थे.

    ये भी पढ़ें- 

    ANALYSIS: बिहार की सियासत में कुशवाहा खुद को क्यों मानते हैं लालू-नीतीश का उत्तराधिकारी?

    BDO के पद से इस्‍तीफा देकर किया था नॉमिनेशन, अब रद्द हो गया नामांकन