Assembly Banner 2021

Ayodhya News: राम मंदिर निर्माण के लिए देशभर से इकट्ठा हुए 2500 करोड़ रुपये से ज्यादा, पूर्वोत्तर ने भी खोला पिटारा

राम मंदिर निर्माण के लिए उम्मीद से ज्यादा धन संग्रह हुआ.

राम मंदिर निर्माण के लिए उम्मीद से ज्यादा धन संग्रह हुआ.

अभी तक भारत के सभी जिलों की ऑडिट रिपोर्ट और बैंक डिटेल सामने नहीं आई है. जब यह डिटेल सामने आ जाएगी तब यह साफ हो सकेगा कि कुल कितनी राशि जमा हुई.

  • Share this:
अयोध्या. अयोध्या (Ayodhya) में राम मंदिर निर्माण (Ram mandir) के लिए 15 जनवरी से शुरू किए गए निधि समर्पण अभियान (nidhi samarpan abhiyan) में उम्मीद से ज्यादा धन एकत्रित हुआ है. श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय (Champat Ray) के अनुसार, निधि समर्पण से आई राशि 2500 करोड़ रुपये को पार कर जाएगी. हालांकि अभी तक भारत के सभी जिलों की ऑडिट रिपोर्ट और बैंक डिटेल सामने नहीं आई है. जब यह डिटेल सामने आ जाएगी तब यह साफ हो सकेगा कि भारत भर में चलाए गए निधि समर्पण अभियान में कुल कितनी धनराशि राम मंदिर निर्माण के लिए प्राप्त हुई है.

कुछ राज्यों से मिली राशि का ब्यौरा

निधि समर्पण अभियान के तहत किस प्रदेश से कितनी धनराशि एकत्रित हुई है इसका ब्यौरा भी आना शुरू हो गया है. ट्रस्ट के अनुसार पूर्वोत्तर के राज्यों में अरुणाचल प्रदेश से 4.5 करोड़, मणिपुर से 2 करोड़, मिजोरम से 21 लाख, नागालैंड से 28 लाख, मेघालय से 85 लाख, दक्षिण के राज्यों में तमिलनाडु से 85 करोड़ और केरल से 13 करोड़ की समर्पण निधि जमा हो चुकी है.



4 लाख गांवों में किया गया संपर्क
इस अभियान के लिए 4 लाख गांव के 10 करोड़ परिवारों से संपर्क किया गया. 1 लाख 75 हजार टोलियों में लगभग 9 लाख लोगों ने समर्पण निधि जुटाने में लगे. संपूर्ण अभियान में पारदर्शिता बनाए रखने के लिए 49 नियंत्रण केंद्र बनाए गए. वही दिल्ली स्थित मुख्य केंद्र में दो चार्टर्ड अकाउंटेंट के नेतृत्व में एकाउंट्स की निगरानी के लिए 23 योग्य कार्यकर्ताओं के द्वारा संपूर्ण भारत से संपर्क साधा गया. हैदराबाद की धनुषा इन्फोटेक कंपनी द्वारा बनाए गए ऐप ने कार्यकर्ताओं, बैंकों और ट्रस्ट के बीच संपर्क बनाने का काम किया.

विदेशों में रहने वाले भारतीय भी कर सकेंगे निधि समर्पण

ट्रस्ट के सचिव चंपत राय ने विदेशों में रहने वाले भारतीयों से कहा है कि वह निधि समर्पण अभियान के जरिए राम मंदिर निर्माण में अपना योगदान देने के लिए थोड़ा इंतजार करें. कानूनी औपचारिकता पूरी होने के बाद विदेशों में भी निधि समर्पण कार्यक्रम चलाया जाएगा. इसी के साथ उन्होंने यह भी बताया कि राम मंदिर के लिए नींव खुदाई और मलबा हटाने का काम लगभग 65% पूरा हो चुका है. अप्रैल से नींव भराई का काम शुरू किया जाएगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज