• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttar-pradesh
  • »
  • बाबरी विध्वंस की 27वीं बरसी पर पुलिस प्रशासन मुस्तैद, छावनी में तब्दील हुई अयोध्या

बाबरी विध्वंस की 27वीं बरसी पर पुलिस प्रशासन मुस्तैद, छावनी में तब्दील हुई अयोध्या

अयोध्या में बाबरी विध्वंस की बरसी को लेकर सुरक्षा चाक चौबंद

अयोध्या में बाबरी विध्वंस की बरसी को लेकर सुरक्षा चाक चौबंद

अयोध्या (Ayodhya) में राम जन्मभूमि (Ram Janambhoomi) मामले पर फैसला आने के बाद बाबरी विध्वंस (Babri Demolition) की 27वीं बरसी शुक्रवार को है.

  • Share this:
अयोध्या. अयोध्या (Ayodhya) में राम जन्मभूमि (Ram Janambhoomi) मामले पर फैसला आने के बाद बाबरी विध्वंस (Babri Demolition) की 27वीं बरसी शुक्रवार को है. जिसको लेकर प्रशासन अलर्ट (Alert) पर है. प्रशासन ने सुरक्षा की दृष्टि से शहर की सड़कों पर रूट मार्च किया. साथ ही राम जन्मभूमि (Ram Janambhoomi) जाने वाले सभी मार्गों पर बैरिकेडिंग लगा दी गई है. 9 नवंबर को अयोध्या विवाद पर फैसला आने के समय प्रशासन ने जो सुरक्षा के इंतजाम किए थे वही सुरक्षा के इंतजाम 6 दिसंबर को भी लेकर किए जा रहे हैं. शुक्रवार होने की वजह से बड़ी संख्या में मुस्लिम समाज जुमे की नमाज अदा करेंगे. ऐसे में प्रशासन के लिए अग्नि परीक्षा का दिन है. मुस्लिम समाज मस्जिदों में यौमे गम मनाने की भी बात कर रहा है.

विहिप नहीं मनाएगा शौर्य दिवस
विवादित ढांचे की 27वीं बरसी है. 1992 के बाद से ही मुस्लिम समाज यौमे गम मनाता है. हिंदू समाज शौर्य दिवस मनाया था. इस बार के कार्यक्रम को विश्व हिंदू परिषद ने शौर्य दिवस के कार्यक्रम को स्थगित करते हुए अमन और चैन की बात की है. बाबरी पक्षकार हाजी महबूब का कहना है कि उस दिन शहीद हुई मस्जिद और मुस्लिम भाइयों के लिए हम यौमे गम मनाते हैं. इस बार का यौमे गम मस्जिदों में मनाएंगे. पूर्व में यह कार्यक्रम हाजी महबूब अपने घरों में मनाते थे.

पुलिस ने किया रूट मार्च
अयोध्या की सड़कों पर पुलिस ने रुट मार्च कर के सुरक्षा का मैसेज देने की कोशिश की है. बड़ी संख्या में सुरक्षाबल अयोध्या की सीमा में तैनात हैं. राम जन्मभूमि जाने वाले मार्गों को बैरिकेड कर दिया गया है. अयोध्या में सभी प्रवेश द्वारों पर बड़ी संख्या में सुरक्षाबल सघन चेकिंग अभियान चला रहे हैं. आने जाने वालों वाहनों को चेक किया जा रहा है. साथ ही उनका आधार कार्ड और निवास प्रमाण का जायजा लिया जा रहा है. सुरक्षा व्यवस्था की कमान वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक स्वयं अपने हाथ में लिए हुए हैं.

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आशीष तिवारी का कहना है कि अयोध्या की सुरक्षा व्यवस्था में 5 अपर पुलिस अधीक्षक 10 क्षेत्राधिकारी 35 स्पेक्टर 140 सब इस्पेक्टर और 350 सिविल पुलिस, 100 महिला पुलिस, 39 कंपनियां पीएसी व एटीएस कमांडो को तैनात किया गया है. जनजीवन सामान्य रखा जाएगा. पूरे अयोध्या क्षेत्र को चार जोन और 10 सेक्टर और 14 सब सेक्टर में बांटा गया है. साथ ही इस बात का भी ध्यान रखा जाएगा कि आम जनजीवन को कम-से-कम असुविधा हो. एसएसपी का कहना है कि यौमे गम और शौर्य दिवस के कार्यक्रम को लेकर दोनों पक्षों से वार्ता की गई है और दोनों पक्षों ने सहयोग करने की बात कही है.

ये भी पढ़ें:

अयोध्या विवाद: राम मंदिर निर्माण के खिलाफ 6 दिसंबर को AIMPLB दाखिल करेगा रिव्यू पिटीशन

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज