Analysis: 'अयोध्या' को ये संदेश देना चाहते हैं PM मोदी?

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

राजनीतिक विश्लेषक रतन मणि लाल ने कहा कि पीएम मोदी की अंबेडकर नगर रैली से बीजेपी को अयोध्या और आसपास की सीटों पर सियासी फायदा मिल सकता है.

  • Share this:
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मोदी बुधवार को अयोध्या और अंबेडकर नगर के बीच फैजाबाद (अयोध्या) के गोसाईंगंज के माया बाजार इलाके में चुनावी जनसभा को संबोधित करेंगे. पीएम मोदी यह जनसभा अयोध्या से करीब 25 किमी दूरी पर होगी. बताया जा रहा है कि रैली में 5 लाख से ज्यादा कार्यकर्ताओं का जमावड़ा रहेगा. लेकिन, पीएम मोदी के अयोध्या दौरे के सियासी मायने भी निकाले जा रहे हैं. जानकार मानते हैं, इस दौरे के जरिये मोदी संकेत देना चाहते हैं कि बीजेपी के लिए राम मंदिर निर्माण का मुद्दा खत्म नहीं हुआ है.

अयोध्या और आसपास की सीटों पर मिल सकता है फायदा 

लखनऊ के वरिष्ठ पत्रकार और राजनीतिक विश्लेषक रतन मणि लाल कहते हैं कि अंबेडकर नगर व टांडा का इलाका अयोध्या से सटा हुआ है. इन दोनों इलाकों के रहने वाले लोगों ने राम मंदिर आंदोलन में अहम भूमिका निभाई थी. आंदोलन में कई लोगों की मौत हुई थी. इनमें कई लोग अंबेडकर नगर और आसपास के इलाकों के रहने वाले थे. रतन मणि लाल कहते हैं कि पीएम मोदी की अंबेडकर नगर रैली से बीजेपी को अयोध्या और आसपास की सीटों पर सियासी फायदा मिल सकता है. फैजाबाद लोकसभा क्षेत्र से सटी अंबेडकर नगर, सुल्तानपुर, आजमगढ़, बस्ती, जौनपुर और प्रतापगढ़ सीटाें पर छठे चरण में वोटिंग होनी हैं. ऐसे में इन सीटों पर मोदी का अयोध्या कार्ड चल सकता है.

योगी सरकार अयोध्या में करा चुकी है कई बड़े आयोजन 

राजनीतिक विश्लेषक के मुताबिक इससे पहले योगी सरकार ने अयोध्या में कई बड़े आयोजन कराकर राजनीतिक और सामाजिक संदेश दिए हैं. पिछले दो साल से योगी सरकार अयोध्या में दीपावली के मौके पर भव्य दीपोत्सव का आयोजन कर रही है. रतन मणि लाल कहते हैं कि बीते दिनों फैजाबाद का नाम बदलकर अयोध्या किया गया. अयोध्या में भगवान राम की बड़ी प्रतिमा लगाने को भी मंजूरी दी जा चुकी है. रामायण म्यूजियम बनाया जा रहा है. फिलहाल अयोध्या विवाद का मामला सुप्रीम कोर्ट में है. वहीं, राम मंदिर निर्माण की मांग साधु-संत मोदी-योगी सरकार से कर रहे हैं.

बीजेपी के लिए अहम मानी जा रही है आयोध्या सीट

आपको बता दें कि अयोध्या लोकसभा सीट से बीजेपी के लल्लू सिंह सांसद हैं. पार्टी ने उन्हें फिर मैदान में उतारा है. वहीं, कांग्रेस से पूर्व प्रदेश अध्यक्ष निर्मल खत्री और सपा से आनंद सेन यादव चुनाव मैदान में हैं. खत्री 2009 में यहां से चुनाव जीत चुके हैं. वहीं, आनंद सेन पूर्व सांसद मित्रसेन यादव के बेटे हैं. अयोध्या सीट बीजेपी के लिए काफी महत्वपूर्ण मानी जा रही है. अभी स्पष्ट नहीं है कि मोदी दर्शन के लिए राम जन्मभूमि और हनुमान गढ़ी जाएंगे या नहीं. हालांकि, एसपीजी की टीम ने अयोध्या में डेरा डाल लिया है.

ये भी पढ़ें:

अयोध्या आकर भी ‘रामलला’ से दूर रहेंगे पीएम नरेंद्र मोदी!

आजम खान के खिलाफ EC सख्त, आचार संहिता उल्लंघन में 48 घंटे का लगाया बैन

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी WhatsApp अपडेट्स