लाइव टीवी

पोंजी कंपनियों के जाल में राम नगरी, निवेशकों का करोड़ों रुपया डूबा
Ayodhya News in Hindi

KB Shukla | News18 Uttar Pradesh
Updated: February 25, 2020, 4:58 PM IST
पोंजी कंपनियों के जाल में राम नगरी, निवेशकों का करोड़ों रुपया डूबा
पोंजी कंपनियों ने करोड़ों रुपये का फ्रॉड किया.

भगवान राम की नगरी अयोध्या (Ayodhya) पोंजी कंपनियों के जाल में उलझकर रह गई है. जिले में फैली पोंजी कंपनियों (Ponzi Companies) के माध्यम से लोगों को कम समय में मालामाल बनाने का सब्जबाग दिखाकर करोड़ों रुपये का फ्रॉड हुआ है. जबकि इसमें से एक शिकायत 30 करोड़ रुपये की है.

  • Share this:
अयोध्या. मर्यादा पुरषोत्तम भगवान राम की नगरी अयोध्या (Ayodhya) पोंजी कंपनियों के जाल में उलझकर रह गई है. रामनगरी ही नहीं बल्कि आसपास के जनपदों के हजारों लोगों को ठगों ने ख्वाब दिखा करोड़ों रुपये का वारा न्यारा कर दिया. यही वजह है कि अब राम की नगरी ठगों की बस्ती साबित हो रही है. जनपद के कोने कोने में फैली पोंजी कंपनियों (Ponzi Companies) के माध्यम से लोगों को कम समय में मालामाल बनाने का सब्जबाग दिखाकर एक-दो, दस-बीस नहीं बल्कि हजारों को ठगा है. अयोध्या जनपद में एक-दो नहीं बल्कि जिले के कुमारगंज, महराजगंज और नगर कोतवाली में कुल 11 रिपोर्ट दर्ज हो चुकी हैं. इनमें से महराजगंज थाने में दर्ज एक शिकायत 30 करोड़ रुपये के ठगी की है.

ऐसे चलता था ठगी का धंधा
जनपद के कुमारगंज थाना क्षेत्र की अनी बुलियन तथा उसकी सिस्टर कंसर्न करीब छह से अधिक कंपनियों ने भोली भाली जनता को मालामाल करने का ख्वाब दिखाया. इसके बाद चुने हुए लोगों के माध्यम से उनके रिश्तेदारों से लेकर परिचितों की जेब ढीली कर दी. निवेशकों की रकम वापसी बंद हुई तो एक-एक कर ठगे गए लोग मैदान में आ गए. पुलिस में एक-एक कर 11 रिपोर्ट ही नहीं दर्ज कराई गईं बल्कि कार्रवाई के लिए धरना प्रदर्शन भी किया गया. महराजगंज थाने में खंडासा थाना क्षेत्र स्थित बिसाही अमानीगंज निवासी अनिल कुमार मिश्रा की ओर से दर्ज कराई गई रिपोर्ट में कहा गया है कि लगभग 10 वर्षों से परिचित अजीत और उनकी पत्नी निहारिका ने उनकी बेरोजगारी और आर्थिक परेशानी का फायदा उठाकर मालामाल होने का सब्जबाग दिखाया और अन्य लोगों से मुलाकात कराई.

इन लोगों ने बताया कि हम लोग अनी बुलियन एंड इंडस्ट्रीज लिमिटेड, अनी सिक्योरिटीज प्राइवेट लिमिटेड, अनी रजत इंफ्रा प्राइवेट लिमिटेड, अनी मार्केटिंग एस प्राइवेट लिमिटेड, अनी मिशन सोसाइटी, आई विजन इंडिया क्रेडिट कोऑपरेटिव सोसाइटी लिमिटेड आदि कंपनियों का संचालन करते हैं. एकमुश्त रकम जमा करने वाले निवेशकों को 40 फीसदी प्रतिमाह ब्याज दिया जाता है और कमीशन के रूप में 10 फीसदी रकम वेतन के रूप में दी जाती है. इन लोगों ने उसको बिसाही अमानीगंज शाखा में सीनियर ब्रांच मैनेजर के रूप में तैनात कर दिया. उसने कंपनी का प्रचार-प्रसार किया और लोगों को जोड़ना शुरू किया तो निवेश करने वालों की तादाद हजार-दो हजार से बढ़कर दस-12 हजार तक पहुंच गई.



दिल्‍ली में है मुख्‍यालय
कंपनी के निदेशक अजीत कुमार गुप्ता की ओर से निवेश की गई रकम आई विजन इंडिया क्रेडिट कोआपरेटिव सोसाइटी लिमिटेड कार्यालय 303-304 थर्ड फ्लोर जी-19 तिवारी कांप्लेक्स लक्ष्मी नगर दिल्ली के नाम से डिपॉजिट कराई गई और बांड के प्रमाण पत्र निवेशकों को उपलब्ध कराया गया. उसने निवेशकों का कुल लगभग 30 करोड रुपए इन्वेस्ट कराया. इधर 6-7 माह से निवेशकों को भुगतान देना बंद कर दिया गया. इन पोंजी कंपनियों की ओर से अन्य लोगों को माध्यम बनाकर भी तमाम रकम हड़पी गई जो करोड़ों में है. इस मामले में महाराजगंज थाना पुलिस ने गबन, धोखाधड़ी, कूट रचना और धमकी की धारा में कंपनी के निदेशक अजीत कुमार गुप्ता निवासी विराट खंड 2/41 गोमती नगर, लखनऊ हाल पता कुमारगंज अयोध्या उसकी पत्नी निहारिका सिंह, सहयोगियो अंजनी कौशल निवासी रामनगर मंडी थाना कुमारगंज, संतोष गुप्ता निवासी बाबा बाजार मवई व धर्मेंद्र कौशल निवासी बाबा बाजार थाना मवई के खिलाफ नामजद मुकदमा पंजीकृत किया है. ठगी का शिकार हुए लोगों की तादाद काफी लंबी है.

 

अयोध्‍या के आसपास दिखा कंपनियों का असर
इन पोंजी कंपनियों का दायरा जनपद ही नहीं आसपास के कई जनपदों तक फैला हुआ बताया जाता है. ऐसा ही मामला शहर क्षेत्र में भी प्रकाश में आया था, जिसमें निवेशकों की ओर से मां मीडिया हाउस तथा उससे संबंधित कंपनियों के खिलाफ एक-एक कर तीन मुकदमे दर्ज कराए जा चुके हैं. 43 लाख से ज्यादा की जालसाजी के इन मुकदमों में पुलिस अभी केवल निदेशक कन्धारी बाजार निवासी राहुल मिश्र समेत 4 लोगो को ही गिरफ्तार कर पाई है. खास बात यह है कि निवेश की गई रकम वापस मांगने आई सहादतगंज निवासी विजय लक्ष्मी राय और उनके परिजनों के खिलाफ मारपीट ,धमकी और लूट का मुकदमा भी दर्ज करवा दिया. एसएसपी आशीष तिवारी का कहना है कि पोंजी कंपनियों के मामले में कुमारगंज पुलिस ने सात और महाराजगंज पुलिस ने एक मुकदमा दर्ज किया है. पुलिस अनी बुलियन के निदेशक समेत तीन को गिरफ्तार कर चुकी है. इनसे जुड़े तीन मामलों में चार्जशीट अदालत को भेजी जा चुकी है. जबकि नगर कोतवाली ने मां मीडिया के खिलाफ तीन मामले दर्ज किए हैं और उसके निदेशक राहुल मिश्रा को गिरफ्तार कर चुकी है.

 

ये भी पढ़ें-

UP Board Exam: व्हॉट्सएप पर आउट हुआ हाईस्कूल गणित का पेपर, 3 गिरफ्तार

 

मथुरा में बहन ने सगे भाई पर लगाया रेप का आरोप, केस दर्ज

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अयोध्या से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 25, 2020, 4:48 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर