• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttar-pradesh
  • »
  • Ayodhya News: मौनी अमावस्या पर 11 हजार दीप जलाकर संत करेंगे 'आंदोलन', जानें वजह

Ayodhya News: मौनी अमावस्या पर 11 हजार दीप जलाकर संत करेंगे 'आंदोलन', जानें वजह

1 फरवरी को 11000 दीपों का दान सरयू तट पर किया जाना है.

1 फरवरी को 11000 दीपों का दान सरयू तट पर किया जाना है.

 पूर्वांचल राज्य, जो प्रस्तावित है, उसका नाम कौशल राज्य घोषित करने और अयोध्या (Ayodhya) को कौशल राज्य की राजधानी बनाए जाने की मांग संतों ने की है. 

  • Share this:

अयोध्या. अयोध्या (Ayodhya) में राम मंदिर निर्माण (Ram Mandir) की शुरुआत होने के साथ ही केंद्र सरकार को प्रस्तावित पूर्वांचल राज्य (Purvanchal State) का नाम कौशल रखने और अयोध्या को राजधानी बनाए जाने की मांग को लेकर मंगलवार को तुलसी उद्यान में संतों की एक अहम बैठक हुई. इसमें अयोध्या के सभी युवा संत शामिल हुए. सभी ने एक सुर में कहा कि भगवान राम की नगरी को राजधानी घोषित किया जाए और पूर्वांचल राज्य को कौशल नाम रखा जाए. इसके लिए संत समाज पूर्वांचल राज्य जन आंदोलन सांस्कृतिक परिषद के माध्यम से सरयू नदी में 11 हजार दीपों का दान करेगा. यह दान मौनी अमावस्या की संध्या पर किया जाएगा.

आपको बता दें कि राम मंदिर निर्माण के साथ अयोध्या में विकास की गति भी तेज हो गई है. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ विकास के लिहाज से विश्व के मानचित्र पर अयोध्या को स्थापित करने की कोशिश कर रहे हैं. संतों ने भी राम मंदिर निर्माण का कार्य शुरू होने के बाद अयोध्या को पूर्वांचल की राजधानी बनाए जाने की मांग की है. साथ ही पूर्वांचल को कौशल राज्य घोषित करने की भी मांग रखी है. संत समाज इसके लिए मौनी अमावस्या यानी 11 फरवरी को शाम को 5:00 बजे राम की पैड़ी पर 11 हजार दीपों का दान करेगा.

संतों का सांस्कृतिक आंदोलन

कार्यक्रम के आयोजक पूर्वांचल राज्य जन आंदोलन के राष्ट्रीय अध्यक्ष अनुज राही ने बताया कि आंदोलन को सांस्कृतिक आंदोलन बनाने की मनसा से एक रूपरेखा तैयार की गई है. पूर्वांचल राज्य जो प्रस्तावित है उसका नाम कौशल राज्य घोषित किया जाए और अयोध्या को कौशल राज्य की राजधानी घोषित की जाए इस को सांस्कृतिक रूप देने के लिए हमने अयोध्या में संत जनों से समर्थन लेना प्रारंभ किया है. अयोध्या के संत समाज ने एकजुट होकर हमारी इस मांग का समर्थन किया है. इस आंदोलन में अपनी भागीदारी का आश्वासन देते हुए संत जनों के बीच में उनके आह्वान पर मौनी अमावस्या के मौके पर 11 हजार दीपक प्रज्ज्वलित करने का कार्यक्रम रखा है.

ये भी पढ़ें: उत्तराखंड में इस बार 70 फीसदी कम हुई बारिश, जानें कौन से फैक्टर बन सकते हैं Avalanche की वजह
राघवेश दास वेदांती ने बताया कि पूर्वांचल राज्य की मांग देश में पिछले सात-आठ वर्षों से चल रही है. उसकी जगह कौन पूर्वांचल राज्य का कौशल होना और अयोध्या हो राजधानी की मांग को लेकर अयोध्या में युवा संतों की बैठक थी.  11 फरवरी पर दीपोत्सव स्थल नागेश्वरनाथ घाट पर 11000 दीपों का दान सरयू की जलधारा में किया जाना है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज