लाइव टीवी

Ayodhya Verdict: अयोध्या में राम मंदिर और मस्जिद दोनों बनेंगे, सुप्रीम कोर्ट के फैसले की 10 बड़ी बातें

News18 Uttar Pradesh
Updated: November 9, 2019, 4:06 PM IST
Ayodhya Verdict: अयोध्या में राम मंदिर और मस्जिद दोनों बनेंगे, सुप्रीम कोर्ट के फैसले की 10 बड़ी बातें
अयोध्या जमीन विवाद पर सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला

सीजेआई रंजन गोगोई (CJI Ranjan Gogoi) ने फैसले में कहा कि मंदिर निर्माण के लिए ट्रस्ट बनाया जाए. साथ ही केंद्र सरकार तीन महीने में इसकी योजना बनाए. साथ ही उन्होंने सुन्नी वक्फ बोर्ड को पांच एकड़ जमीन देने का भी फैसला सुनाया. सीजेआई ने कहा कि ये पांच एकड़ जमीन या तो अधिग्रहित जमीन से दी जाए या फिर अयोध्या में ही कहीं भी दी जाए

  • Share this:
अयोध्या. दशकों पुराने अयोध्या मामले (Ayodhya case) में शनिवार को सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) के आए फैसले में विवादित जमीन रामलला विराजमान (Ramlala Virajman) को दे दी गई है. चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया रंजन गोगोई (CJI Ranjan Gogoi) ने कहा कि मंदिर निर्माण के लिए ट्रस्ट बनाया जाए. साथ ही केंद्र सरकार तीन महीने में इसकी योजना बनाए. साथ ही उन्होंने सुन्नी वक्फ बोर्ड को पांच एकड़ जमीन देने का भी फैसला सुनाया. सीजेआई ने कहा कि ये पांच एकड़ जमीन या तो अधिग्रहित जमीन से दी जाए या फिर अयोध्या में ही कहीं भी दी जाए. सुप्रीम कोर्ट के इस आदेश के बाद अब अयोध्या में राम मंदिर और मस्जिद दोनों बनेगी. वहीं 2.77 एकड़ विवादित जमीन पर सरकार का अधिकार रहेगा.

1. मंदिर के लिए केंद्र बनाएं ट्रस्ट
शनिवार को सुप्रीम कोर्ट में फैसला पढ़ते हुए चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने केंद्र सरकार को राम मंदिर बनाने के लिए तीन महीने में ट्रस्ट बनाने का निर्देश दिया. अदालत ने कहा कि 2.77 एकड़ जमीन केंद्र सरकार के अधीन ही रहेगी.

2. सुन्नी वक्फ बोर्ड दावा साबित करने में विफल

चीफ जस्टिस ने कहा कि सुन्नी वक्फ बोर्ड अयोध्या विवाद में अपना दावा रखने में विफल हुआ. मुस्लिम पक्ष ऐसे सबूत पेश करने में विफल रहा है कि जिससे यह साबित हो सके कि विवादित जमीन पर सिर्फ उसका ही अधिकार है. कोर्ट ने फैसले में कहा कि सुन्नी वक्फ बोर्ड को अलग जमीन दी जाए. सुप्रीम कोर्ट ने निर्देश दिया कि मुस्लिमों को नई मस्जिद बनाने के लिए वैकल्पिक जमीन दी जाए.

3. मुस्लिम अंदर नमाज पढ़ते थे और हिंदू बाहरी परिसर में पूजा करते थे
चीफ जस्टिस ने कहा कि यह स्पष्ट है कि मुस्लिम अंदर नमाज पढ़ा करते थे और हिंदू बाहरी परिसर में पूजा किया करते थे. हालांकि हिंदुओं ने गर्भगृह पर भी अपना दावा कर दिया. जबकि मुस्लिमों ने मस्जिद को छोड़ा नहीं था.
Loading...

4. रामजन्मभूमि कोई व्यक्ति नहीं
सुप्रीम कोर्ट ने यह भी कहा कि रामजन्मभूमि कोई व्यक्ति नहीं है, जो कानून के दायरे में आता हो. अदालत ने कहा कि आस्था के आधार पर फैसले नहीं लिए जा सकते हैं. ये विवाद सुलझाने के लिए सांकेतिक जरूर हो सकते हैं.

5. निर्मोही अखाड़े का दावा खारिज
सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि निर्मोही अखाड़ा न तो सेवादार है और न ही भगवान रामलला के श्रद्धालु है. चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली पीठ ने कहा कि 'लिमिटेशन' की वजह से अखाड़े का दावा खारिज हुआ.

6. ASI रिपोर्ट के मुताबिक मस्जिद के नीचे गैर-इस्लामी ढांचा
सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि इस मामले में एएसआई के रिपोर्ट को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता. एएसआई रिपोर्ट के मुताबिक बाबरी मस्जिद खाली जमीन पर नहीं बनी थी. एएसआई ने अपनी रिपोर्ट में मस्जिद के नीचे गैर इस्लामी ढांचे की बात कही.

7. धर्म व्यक्तिगत आस्था का विषय
सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि हिंदू इसे भगवान राम की जन्मभूमि मानते हैं. उनकी अपनी धार्मिक भावनाएं हैं. मुस्लिम इसे मस्जिद कहते हैं. हिंदुओं का मानना है कि भगवान राम केंद्रीय गुंबद के नीचे जन्मे थे. यह व्यक्तिगत आस्था की बात है.

8. शिया वक्फ बोर्ड का दावा खारिज
चीफ जस्टिस गोगोई ने फैसला सुनाते हुए कहा कि हम शिया वक्फ बोर्ड की विशेष याचिका को खारिज करते हैं. शिया वक्फ बोर्ड ने 1946 में फैजाबाद कोर्ट के फैसले को चुनौती दी थी.

9. मस्जिद गिराना कानून का उल्लंघन
बाबरी मस्जिद विध्वंस पर सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि मस्जिद को गिराना कानून का उल्लंघन है. अदालत ने सरकार को निर्देश दिए हैं कि तीन महीने के भीतर मंदिर बनाने के लिए ट्रस्ट बनाया जाए और मुस्लिम पक्ष को अलग से पांच एकड़ जमीन दी जाए. इस जमीन पर नई मस्जिद बनाई जाएगी.

10. हिंदुओं की आस्था को देखते हुए विवादित जमीन रामलला को 
अंत में चीफ जस्टिस ने कहा कि हिंदुओं की आस्था और उनका यह विश्वास की मस्जिद से पहले वहां मंदिर था. लिहाजा राम जन्मस्थान वही जगह है जहां मस्जिद थी. यह आस्था और विश्वास दस्तावेजों और मौखिक रूप से साबित हुआ.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अयोध्या से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 9, 2019, 1:37 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...