अयोध्या मामला: CM योगी आदित्यनाथ बोले- पता था, मध्यस्थता से कुछ हल नहीं निकलने वाला

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने मध्यस्थता के लिए टीम गठित की वो विफल रही. हम जानते थे इससे हल नहीं निकलने वाला

News18 Uttar Pradesh
Updated: August 3, 2019, 10:06 PM IST
अयोध्या मामला: CM योगी आदित्यनाथ बोले- पता था, मध्यस्थता से कुछ हल नहीं निकलने वाला
सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने मध्यस्थता के लिए टीम गठित की वो विफल रही. हम जानते थे इससे हल नहीं निकलने वाला
News18 Uttar Pradesh
Updated: August 3, 2019, 10:06 PM IST
अयोध्या विवाद पर सुप्रीम कोर्ट द्वारा बनाया गया मध्यस्थता पैनल रामजन्मभूमि-बाबरी मस्जिद विवाद का हल नहीं निकाल सका. इस पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि उन्हें मालूम था कि यह प्रयास विफल होगा. उन्होंने अयोध्या में संत-महात्माओं की सभा में कहा, ‘हमें मालूम था कि इस मध्यस्थता से कुछ निकलने नहीं जा रहा है. लेकिन यह अच्छा है. अगर प्रयास होते हैं तो अच्छी बात है.’ उन्होंने कहा, ‘महाभारत से भी पहले भी मध्यस्थता (की कोशिश) हुई थी. लेकिन वह कोशिश विफल रही थी.’

बता दें, मुख्यमंत्री परमहंस रामचंद्र दास की 16 वीं पुण्यतिथि के मौके पर एक कार्यक्रम में हिस्सा लेने पहुंचे थे. परमहंस रामचंद्र दास अयोध्या में विवादित स्थान पर राममंदिर के निर्माण के प्रबल पैरोकार थे.

कोर्ट में जनभावनाओं का सम्मान किया जाएगा
श्रद्धांजलि सभा को संबोधित करते हुए सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि परमहंस जी का जीवन समाज के लिए समर्पित रहा है. वहीं राम जन्म भूमि मुक्ति आंदोलन में परमहंस जी ने अग्रणी भूमिका निभाई थी. उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने मध्यस्थता के लिए टीम गठित की वो विफल रही. हम जानते थे इससे हल नहीं निकलने वाला. सीएम ने कहा कि 6 अगस्त से प्रतिदिन सुनवाई होनी है. हमें लगता है कि इस मामले में कोर्ट में जनभावनाओं का सम्मान किया जाएगा. जिस हक से अयोध्या को वंचित किया गया था, वो हक अयोध्या को मिलना चाहिए.

6 अगस्त से रोजाना सुनवाई
बता दें, सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को कहा था कि वह रामजन्मभूमि-बाबरी मस्जिद जमीन विवाद पर फैसला करने के लिए 6 अगस्त से रोजाना सुनवाई करेगा क्योंकि मध्यस्थता से हल तक पहुंचने की कोशिश विफल हो गई है. सुप्रीम कोर्ट ने मार्च में अपने एक पूर्व न्यायाधीश- न्यायमूर्ति एफएमआई खलीफुल्ला की अगुवाई में तीन सदस्यीय समिति बनाई थी.

ये भी पढ़ें--
Loading...

5 किमी में छिपा है उन्नाव रेप पीड़िता के एक्सीडेंट का सच! सामने आया हादसे से पहले का VIDEO

उन्नाव: अस्पताल में भर्ती गैंगरेप पीड़िता को हुआ निमोनिया, हालत खतरे से बाहर नहीं

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अयोध्या से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 3, 2019, 10:01 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...